एस्ट्राजेनेका वैक्सीन का WHO ने किया समर्थन, इस्तेमाल को लेकर डर की खबरों को किया खारिज

कोरोना वायरस की वैक्सीन एस्ट्राजेनेका के इस्तेमाल को लेकर डर की खबरों के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे प्रभावी करार दिया है। यही नहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि इसके इस्तेमाल को बंद करने का कोई कारण नहीं है। दरअसल ऐसी खबरें मिली थीं कि इसका इस्तेमाल करने से डोज लेने वाले लोगों के शरीर में खून के थक्के जम रहे हैं। इसके बाद कई यूरोपीय देशों ने इसके इस्तेमाल को रोक दिया है। लेकिन अब विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस दवा को लेकर भरोसा दिया है। WHO की प्रवक्ता मार्ग्रेट हैरिस ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हमें इसका इस्तेमाल रोकने की जरूरत नहीं है। हमें इसकी डोज लेना जारी रखना चाहिए।

हैरिस ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन की सलाहकार समिति की ओर से वैक्सीन के सेफ्टी डाटा का अध्ययन किया जा रहा है। अब वैक्सीन और ब्लड क्लॉटिंग के बीच कोई संबंध हमें नहीं मिला है। वैक्सीन लेने वाले कुछ लोगों के शरीर में खून के थक्के जमने की रिपोर्ट्स के बाद डेनमार्क, नॉर्वे, आइसलैंड, इटली और रोमानिया जैसे यूरोपीय शहरों ने इस वैक्सीन का इस्तेमाल करना बंद कर दिया है। मार्ग्रेट हैरिस ने इस संबंध में मीडिया से बात करते हुए कहा कि एस्ट्राजेनेका अन्य वैक्सीन की तरह ही एक अच्छी दवा है। यही नहीं उन्होंने वैक्सीन के चलते मौतें होने को भी खारिज किया है।

मार्ग्रेट ने कहा, ‘हमने मौतें के डेटा का विश्लेषण किया है। वैक्सीन के चलते मौतों की बात सामने नहीं आई है। हमें निश्चित तौर पर एस्ट्राजेनेका का इस्तेमाल जारी रखना चाहिए।’ हालांकि उन्होंने कहा कि यदि इस दवा को लेकर कोई अन्य सुरक्षा चिंताएं हैं तो निश्चित तौर पर उसकी जांच  की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि किसी भी वैक्सीन को मंजूरी देने से पहले हम सेफ्टी के तमाम मानकों की जांच करते हैं। यदि सेफ्टी से जुड़ी कोई भी चिंता है तो हमें उसका ध्यान रखना चाहिए।

यह भी देखे:-

मार्च में रिकॉर्ड GST संग्रह ने बदली तस्वीर, बदलते हालात में 9.3 फीसद पर रुक सकता है घाटे का आंकड़ा
नदी विज्ञानी ने पीएम-सीएम को भेजा पत्र: काशी में अब नहीं रहा गंगा का अर्धचंद्राकार स्वरूप, भुगतने हो...
सीबीएसई सहोदया कॉम्प्लेक्स के तत्वावधान में अंतरराष्ट्रीय हिंदी वेबिनार का आयोजन
Monsoon Update Today: दिल्‍ली, राजस्‍थान, उत्‍तर प्रदेश समेत कई राज्‍यों में आज बारिश की संभावना, आज...
यूपी: तेजी से बढ़ रहा मौतों का आंकड़ा, श्मशान घाटों पर अव्यवस्था का आलम, पढ़िए पूरी रिपोर्ट
मोदी कैबिनेट में शामिल की जा सकती हैं इलाहाबाद की सांसद रीता जोशी, मिल सकता है यह मंत्रालय
एक क्लिक में जानें क्या है आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन , कैसे मिलेगा इसका फायदा
किसानों ने किया सालारपुर बिजलीघर पर धरना प्रदर्शन किया
नेफोमा ने पीएम मोदी को सौंपा ज्ञापन, होम बायर्स की समस्या का समाधान करने की मांग
यूपी : सचिवालय में 13 कोरोना पॉजिटिव मिलने से हड़कंप, शिक्षा निदेशालय में भी 14 पॉजिटिव
पाँच बच्चों की माँ ने प्रेमी के साथ मिलकर अपने दूसरे पति की हत्या की, आरोपी महिला, प्रेमी समेत चार ल...
स्वर्गीय चौधरी वेद राम सिंह नागर की पुण्यतिथि पर होगा कवि सम्मेलन का आयोजन
लखनऊ: ब्लैक फंगस के 27 नए मरीज, कुल संख्या 100 के पार
Bihar Politics: PM नरेंद्र मोदी ने मेरी लोकप्रियता को देखते बंद कराया टिकटाक- तेज प्रताप
सेल्स मैनेजेर की कातिल बीवी गिरफ्तार
कोरोना अपडेट: जानिए गौतमबुद्ध नगर का क्या है हाल