योगी बोले, आने वाले दिनों में सोना उगलेगी बुंदेलखंड की धरती

महोबा । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बुंदेलखंड की धरती आने वाले दिनों में सोना उगलेगी। इस दिशा में अर्जुन सहायक परियोजना की बड़ी भूमिका होगी। बुंदेलखंड को जिस विकास की आस थी, उसे वह हक मिलना ही चाहिए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार को महोबा जनपद में अर्जुन सहायक परियोजना के लहचूरा बांध का स्थलीय निरीक्षण करने के बाद वहां उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2600 करोड़ रुपये की लागत वाली अर्जुन सहायक परियोजना से महोबा, हमीरपुर और बांदा जिले के किसानों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन आएगा। एक-दो माह में इस परियोजना को पूर्ण कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों इसका लोकार्पण कराया जाएगा।

 उन्होंने कहा कि धसान नदी पर बनी इस परियोजना से महोबा, बांदा और हमीरपुर के 168 गांवों के 1़5 लाख किसानों को सिंचाई की सुविधा मिलेगी। चार लाख लोगों को शुद्घ पेयजल मिलना सुनिश्चित होगा। 15,000 हेक्टेयर क्षेत्रफल में सिंचाई की सुविधा मिलेगी।

योगी ने कहा कि नदी भारत की संस्कृति व परंपरा एवं जल के पवित्र स्रोत का आधार रही है। हर नदी को मां का संबोधन देकर गंगा मैया की तरह हमने पूजा है। देशकाल व परिस्थिति के अनुरूप एक-एक बूंद जल का नियोजन होना चाहिए था, लेकिन आजादी के बाद तत्कालीन सरकारों ने इसे लेकर कोई प्रयास नहीं किया। कुछ योजना बनी भी तो धन की कमी आड़े आ गई।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि महोबा से मेरा विशेष लगाव है। यह वीरभूमि है, आस्था की भूमि है। यहां की कई विशेषताएं हमें आध्यात्मिक और ऐतिहासिक परंपराओं से जोड़ती हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रेरणा से प्रदेश सरकार यहां तेजी से विकास कार्य कर रही है।

उन्होंने कहा कि पूर्व की सरकारों ने यहां के 168 गांव को सिंचाई की सुविधा से तथा चार लाख लोगों को पेयजल की सुविधा से वंचित कर रखा था। यहां की योजनाएं कई सालों से लंबित पड़ी थीं। अब हम इस क्षेत्र के समग्र विकास को लेकर कई स्तर पर कार्य कर रहे हैं। बुंदेलखंड को एक्सप्रेसवे, डिदेंस कॉरिडोर और जल जीवन मिशन जैसी परियोजनाएं नई ऊंचाई पर ले जाएंगी।

अर्जुन सहायक परियोजना से चार लाख लोगों को शुद्घ पेयजल की सुविधा मिलने की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि शुद्घ पेयजल से आधी बीमारियां अपने आप दूर हो जाएंगी। बुंदेलखंड में हम जल जीवन मिशन के तहत हर घर नल से जल पहुंचा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक कर स्थानीय नौजवानों को प्लंबिंग की ट्रेनिंग देने की कार्ययोजना बनाएं। इससे यहां के नौजवानों को जल जीवन मिशन के तहत गांव-गांव रोजगार मिल जाएगा। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों को इस बात के लिए भी प्रेरित किया कि वे संस्थाओं के सीएसआर फंड के जरिए स्कूलों का कायाकल्प कराएं।

यह भी देखे:-

पंचायत चुनाव: घर आ जा ‘परदेसी’, तेरा ‘प्रधान’ बुलाए रे, वोटरों को बुलाने के लिए सहूलियतों की लगी झड़...
Diwali 2021: खुद की तस्वीर का WhatsApp Sticker बनाकर देना चाहते हैं दिवाली की शुभकामनाएं
स्कूली बच्चों और शिक्षकों ने लगाए पौधे
माड़-भात' खाकर खेतों में काम करने वाली चंचला बनी पहलवान, दुनिया के दिग्गजों को देंगी पटखनी
दिल्ली के स्कूलों में 20 अप्रैल से ग्रीष्मावकाश, ऑनलाइन कक्षाएं भी रद्द
माता रानी कुष्मांडा माता का आवाहन करते हुए संकट मोचन महायज्ञ श्री बालाजी महाराज को समर्पित किया गया
श्री राम मित्र मंडल रामलीला : श्री राम के चरण स्पर्श से अहिल्या का हुआ उद्धार
Drone Seen In Samba: सांबा में तीन जगहों पर पाकिस्तानी ड्रोन ने सुरक्षा में सेंघ लगाई
कोरोना के चलते छोटा होगा संसद का मानूसन सत्र? सितंबर तक स्थगित करने पर भी विचार
जून के पहले हफ्ते से लाकडाउन से राहत, स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी सावधानी से निर्णय लेने की सलाह
खतरा: कोरोना के नए हॉट स्पॉट होंगे चीन और दक्षिण पूर्व एशिया, नए शोध में दावा
UNSC की बैठक : पीएम नरेंद्र मोदी ने समुद्री सुरक्षा पर दिए पांच मंत्र, जानें उनके बारे में
सियासी हलचल: क्या भाजपा लड़ेगी बिना चेहरे के यूपी मे विधानसभा चुनाव?
विंध्यधाम: अयोध्या, काशी और मथुरा की तर्ज पर होगा विंध्यक्षेत्र का विकास, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
अपना जनहित समिति ने जरूरतमंद बच्चों में गर्म कपड़ों का वितरण किया
Video : बंगाल में प्रधानमंत्री मोदी ने बताया ममता बनर्जी की बौखलाहट का सबसे बड़ा कारण, जानें क्‍या क...