अगर आप करते है हवाई यात्रा तो ये ख़बर आपके लिए है, मास्क सम्बन्धी नए नियम

अगर आप हवाई यात्रा करते हैं तो यह खबर आपके लिए महत्वपूर्ण है। हवाई यात्रा के दौरान अगर आपने ठीक से मास्क नहीं पहना तो आपके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। दिल्ली हाईकोर्ट ने यह फरमान सुनाया। हाईकोर्ट ने हवाई यात्रियों द्वारा मास्क ठीक से न पहनने को लेकर स्वत: संज्ञान लिया। हाईकोर्ट ने नियम के सख्त अनुपालन के लिए घरेलू एयरलाइंस और डीजीसीए को दिशानिर्देश जारी किए। इसमें उल्लंघन करने वालों के लिए दंडात्मक कार्रवाई और विमान की समय-समय पर जांच शामिल है।

न्यायमूर्ति सी हरि शंकर की पीठ ने देखा कि यात्रियों ने हवाई अड्डे से उड़ान तक जाने के दौरान ठीक से मास्क नहीं पहन रखा था। इस स्थिति का स्वत: संज्ञान लिया और तत्काल दिशानिर्देश जारी किए। हाईकोर्ट ने कहा कि वह एक खतरनाक स्थिति के कारण आदेश पारित करने के लिए विवश हैं, जिसे न्यायाधीश ने गत 5 मार्च को कोलकाता से नई दिल्ली के लिए एयर इंडिया की उड़ान के दौरान खुद देखा था। उन्होंने कहा कि सभी यात्रियों ने मास्क लगा रखे थे, लेकिन कई ने मास्क ठुड्डी के नीचे पहन रखा था। यह व्यवहार न केवल हवाई अड्डे से विमान में जाने के दौरान, बल्कि फ्लाइट के भीतर भी देखा गया। यात्रियों को बार-बार टोके जाने पर कहीं जाकर उन्होंने मास्क ठीक से पहना।

न्यायमूर्ति ने कहा कि चालक दल के सदस्यों से पूछने पर बताया कि यात्रियों को मास्क पहनने के निर्देश हैं, लेकिन यदि कोई पालन नहीं करता तो वे असहाय हैं। पीठ ने कहा कि ऐसी स्थिति तब है जब देश में कोविड-19 के मामले बढ़ रहे हैं। न्यायाधीश ने कहा कि किसी उड़ान में यात्री बंद वातानुकूलित वातावरण में होते हैं। यात्रियों में से अगर कोई एक भी संक्रमित हो तो भी अन्य यात्रियों पर खतरनाक प्रभाव हो सकता है।

अदालत ने क्या निर्देश दिए
पीठ के दिशानिर्देशों में चालक दल के सदस्यों द्वारा विमान की आवधिक जांच करना शामिल है, ताकि सुनिश्चित हो सके कि यात्री प्रोटोकॉल का पालन कर रहे हैं। यदि याद दिलाए जाने के बावजूद वह प्रोटोकॉल का पालन करने से इंकार करते हैं तो यात्री के खिलाफ डीजीसीए या स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार कार्रवाई की जानी चाहिए। इसमें उसे या तो स्थायी या एक निर्धारित अवधि के लिए नो-फ्लाई व्यवस्था में डालना शामिल है।

वेबसाइट पर प्रोटोकॉल प्रदर्शित हो
हाईकोर्ट ने डीजीसीए को अपनी वेबसाइट पर यात्रियों और विमान के चालक दल के सदस्यों द्वारा दिशानिर्देशों और प्रोटोकॉल का पालन करने के निर्देशों को तुरंत और प्रमुखता से प्रदर्शित करने के लिए कहा। पीठ ने कहा कि मामले को एक जनहित याचिका के रूप में पंजीकृत किया जाना चाहिए और 17 मार्च को जनहित याचिका की सुनवाई करने वाली एक उपयुक्त पीठ के समक्ष सूचीबद्ध किया जाना चाहिए। पीठ ने डीजीसीए और एयर इंडिया को दिशानिर्देशों के अनुपालन के संबंध में पीठ के समक्ष अपनी रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है।

यह भी देखे:-

गांधी एक भरोसा,तो शास्त्री एक विश्वास भारत माता के दो लाल: चेतन वशिष्ठ
आईजीसी 2018 शिविर : एनसीसी कैडेटों को एकता और अनुशासन की दी गई सीख
सिविल जज ऋतु नागर को करप्शन फ्री इंडिया संगठन ने किया सम्मानित
LIVE UP Panchayat Election 2nd Phase Polling: 20 जिलों में वोटिंग शुरू, मैदान में 3,54999 प्रत्याशी
रविशंकर का बड़ा आरोप, कहा- विदेशी वैक्सीन को मंजूरी दिलाने के लिए राहुल गांधी कर रहे फुल टाइम लॉबिंग
योगी बोले, आने वाले दिनों में सोना उगलेगी बुंदेलखंड की धरती
ED ने माल्या, मोदी, चोकसी की संपत्ति जब्त ,संपत्ति बैंकों और केंद्र सरकार को ट्रांसफर
हरिद्वार: 11 संतों की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव, पतंजलि में 10 दिन के अंदर 73 लोग हुए संक्रमित 
जनपद गौतम बुद्ध नगर में संचालित शेल्टर होम बाल गृहो में शिविर लगाकर बच्चों को किया जागरूक।
प्रदर्शनकारियों को मानवीय मूल्यों से नही देखे भारत सरकार -राजा राजेन्द्र सिंह।
PPF व अन्य पोस्ट ऑफिस योजनाओं से निकासी पर कटेगा 5 फीसद तक TDS, जानिए क्या हैं नए नियम
करणी सेना अध्यक्ष सूरजपाल सिंह 'अम्मू' के बेटे की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, फ्लैट के अंदर फंदे प...
कोरोना का कहर: इस साल पहली बार एक दिन में 276 मौतें, नए केस 47 हजार के पार
महंगाई, पंचायत व ब्लॉक प्रमुख विवाद को लेकर सपाइयों ने किया प्रदर्शन, धारा 144 के उलंघन में इन नेताओ...
राहुल गांधी का ट्विटर पर बड़ा कदम, इन 50 लोगों को किया अनफॉलो, क्या है तैयारी?
जेवर कांड: गैंग रेप की एक पीड़िता की हालत  बिगड़ी