दरोगा आत्महत्या केस: निर्मल का मार्मिक खत, सरकार! आपके सहारे बच्चों को छोड़कर जा रहा हूं, लोन माफ न किया तो वो अनाथ हो जाएंगे…

लखनऊ में विधान भवन के गेट नंबर-7 के सामने गुरुवार को पार्किंग में ड्यूटी दे रहे दरोगा निर्मल कुमार चौबे (53) ने खुद को गोली से उड़ा दिया। उन्होंने सर्विस पिस्तौल से सीने में बाएं तरफ गोली मार ली। गोली पार हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने सिविल अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस के मुताबिक, दरोगा की जेब से एक सुसाइड नोट मिला। इसमें बीमारी से परेशान होकर खुदकुशी की बात लिखी थी।

1987 में सिपाही के पद पर भर्ती हुए निर्मल चौधरी को दो पदोन्नति मिली। पहली पदोन्नति में हेड कांस्टेबल हुए और दूसरी में दरोगा के पद पर तैनात हुए। बंथरा थाने में उनकी तैनाती 2019 में हुई थी। प्रभारी निरीक्षक जितेंद्र सिंह के मुताबिक, चिनहट से बंथरा दूर होने के कारण अक्सर उनकी ड्यूटी सचिवालय पर लगती थी, ताकि वह आसानी से ड्यूटी कर घर चले जाएं। उनकी बीमारी के बारे में सभी को जानकारी थी।

सहूलियत के लिए ही सचिवालय के पास ड्यूटी पर भेजा जाता था। हालांकि, सूत्रों के मुताबिक, सचिवालय की लगातार ड्यूटी लगने से निर्मल नाराज थे। वह थाने में रहकर काम करना चाहते थे। इसे लेकर उनकी बहस भी हो चुकी थी।

खंगाला गया सीसीटीवी फुटेज
पुलिस कमिश्नर के मुताबिक, गोली की आवाज सुनने के बाद पुलिसकर्मियों ने घायल दरोगा को अस्पताल पहुंचाया। वहीं, अधिकारियों ने आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालनी शुरू कर दी। फुटेज में दरोगा पार्किंग में अकेले खड़े दिखे। उन्होंने अचानक खुद को गोली मार ली। इस दौरान वहां आसपास कोई नहीं था।

सर्विस पिस्तौल-कारतूस बरामद
प्रभारी नगंज श्याम बाबू शुक्ला के मुताबिक वारदात स्थल से दरोगा की सर्विस पिस्तौल व कारतूस मिला है। पुलिस ने पड़ताल शुरू कर दी है। निर्मल के परिवार में पिता की मौत हो चुकी है। बुजुर्ग मां विद्या देवी, तीन छोटे भाई प्रदीप कुमार, अतुल कुमार, अनिल कुमार, पत्नी निरूपमा, बेटा विकास चौबे, सर्वेश चौबे व विकास की बहू अर्चना हैं।

काफी समय से परेशान थे पापा
निर्मल के खुदकुशी की सूचना पर चिनहट के रामा डिग्री कॉलेज के पास रहने वाला परिवार सिविल अस्पताल पहुंचा। वहां पत्नी निरूपमा बेसुध हो गई। बेटे विकास व सर्वेश ने मां को संभाला। विकास ने बताया कि पापा काफी समय से परेशान थे। उनका इलाज भी चल रहा था।  थाना प्रभारी निरीक्षक बंथरा जितेंद्र सिंह ने बताया कि तबीयत खराब होने से निर्मल ने मेडिकल लीव भी लिया था।

 

यह भी देखे:-

नर्सों के चार हजार पद खाली, मरीजों की देखभाल प्रभावित, अस्पतालों में सृजित पदों के अनुपात में नर्सों...
एबीवीपी के प्रांतीय अधिवेशन में ग्रेटर नोएडा से जुड़े कार्यकर्ताओं को मिला अहम जिम्मेवारी
इंडिया एक्सपो मार्ट एंड सेंटर सर्वश्रेष्ठ MICE स्थल और राकेश कुमार वर्ष 2018 के सर्वश्रेष्ठ MICE पर...
West Bengal Assembly Elections: 21 मार्च को गृहमंत्री अमित शाह जारी करेंगे BJP का घोषणापत्र
सख्त होगी निगरानी: ओटीटी प्लेटफॉर्म, डिजिटल समाचार प्रकाशकों के लिए नए नियम
श्रीराम मित्र मंडल नोएडा रामलीला मंचन : राम वन गमन देख दर्शकों के छलके आंसू
अखिल भारतीय वीर गुर्जर महासभा के राष्ट्रीय सम्मेलन में पंहुचे सैकड़ो कार्यकर्ता
यमुनाएक्सप्रेस वे प्राधिकरण की बोर्ड बैठक, जानिए क्या है खास
मानवाधिकार व कानूनी सहायता पर आयोजित विश्व सम्मलेन में शामिल हुए गलगोटिया वि.वि. के छात्र
Metroman E Sreedharan: जल्द आएंगे राजनीति मे मेट्रो मैन ई श्रीधरन, जानें- इनके बारे में
काशी की बेटियों ने बनाया ग्लेशियर अलर्ट सिस्टम, जानें क्या है पूरी ख़बर
क्वाड देशों की पहली बैठक आज: हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग पर पीएम मोदी करेंगे चर्चा
पहाड़ी राज्यों में बर्फबारी तो मैदानी इलाकों में बारिश, दिल्ली एनसीआर मे बढ़ेगी ठंड
कांशीराम जयंती पर बोलीं मायावती: यूपी में अपने बलबूते लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, नहीं करेंगे गठबंधन
गलगोटिया कॉलेज में इंजीनियरिंग गणित पर E QUIZ का आयोजन
असम: राहुल गांधी ने आरएसएस पर साधा निशाना, बोले- मैं नरेंद्र मोदी नहीं, मैं झूठ नहीं बोलता