इलेक्ट्रानिक कचरे से धातु निकाल रहे 8-9 साल के मासूम बच्चे- NCPCR की ताजा रिपोर्ट

नई दिल्ली, । दिल्ली के सीलमपुर और मुस्तफाबाद तथा उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में पुराने इलेक्ट्रॉनिक सामानों के ढेर वाले स्थानों पर इलेक्ट्रॉनिक कचरे को तोड़ने और अलग करने के लिए बच्चों का इस्तेमाल किया जा रहा है। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने अपनी एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी।

आयोग ने इसके लिए गंभीर सजा का प्रावधान करने का सुझाव भी दिया है। आयोग की ओर से कहा गया कि मुस्तफाबाद कबाड़ी बाजार में पुराने टीवी से तार निकालने के लिए आठ और नौ साल के बच्चों से प्रतिदिन 12-12 घंटे काम कराया जा रहा है। रिपोर्ट के अनुसार, एक बच्चे को ट्यूबलाइट, लैपटॉप और मोबाइल आदि से तांबा, लोहा, प्लैटिनम, सोना और अन्य चीजें निकालते हुए देखा गया। इसी प्रकार एक बच्चा बैटरियों से लिथियम निकालता पाया गया। रिपोर्ट में कहा गया कि यह बच्चे एसिड से मदरबोर्ड साफ करते हैं ताकि प्लेटिनम और अन्य धातुओं को अलग किया जा सके। उसे जलाया भी जाता है ताकि छिपी हुई धातु निकाली जा सके।

रिपोर्ट में कहा गया कि बच्चों को उनके काम के लिए एक दिन के दो सौ रुपये दिए जाते हैं। रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली-एनसीआर के ज्यादातर पुराने हो चुके मोबाइल फोन और लैपटॉप मुरादाबाद भेजे जाते हैं और उनके मदरबोर्ड, बैटरियां तथा स्क्रीन वहां अलग किए जाते हैं। आयोग की रिपोर्ट के अनुसार, 12 से 14 साल की उम्र के बच्चे मोबाइल तोड़ने का काम करते हैं। इसके लिए उन्हें प्रतिमाह आठ हजार से दस हजार रुपये दिए जाते हैं।

आयोग ने सुझाव दिया कि बच्चों से इस प्रकार का काम लेने वालों को सजा देनी चाहिए। आयोग ने ई-कचरा (प्रबंधन) नियमावली 2015 के क्रियान्वयन की समीक्षा के लिए तीसरे पक्ष द्वारा निगरानी तंत्र विकसित करने का भी सुझाव दिया। इन मामलों का स्वत: संज्ञान लेते हुए एनसीपीसीआर ने संबंधित एसडीएम, उप श्रमायुक्त बाल कल्याण समितियों और चाइल्ड लाइन को पत्र लिखकर इन बच्चों को इस धंधे से मुक्त कराने को कहा है।

 

यह भी देखे:-

स्पोर्ट्स इंडिया इंटरनेशनल एक्सपो में दूसरे दिन बॉडीबिल्डिंग चैंपियनशिप का आयोजन
ग्रेनो न्यूज़ की तरफ़ से महा-शिवरात्रि के पावन पर्व पर आप सभी जनपद वासियों को हार्दिक शुभकामनाएं।
12 दिसंबर को राष्ट्रीय लोक अदालत का होगा आयोजन 
गले में मेडल डालकर फुटपाथ पर रात-दिन गुजार रहा हाकी खिलाड़ी तालिब, PDA ने किश्त नहीं जमा करने पर किय...
अंतिम यात्रा : अलीगढ़ से अतरौली लाई गई पूर्व CM कल्याण सिंह की पार्थिव देह
कोरोना : क्‍यों आई थी भारत में आखिर महामारी की दूसरी लहर ? जानें
जीवमात्र की निःस्वार्थ सेवा ही परमेश्वर की सच्ची सेवा है ...
ICC टेस्ट रैंकिंग : रिषभ पंत व रवींद्र जडेजा को हुआ नुकसान तो विराट कोहली अपने स्थान पर मौजूद
काशी की बेटियों ने बनाया ग्लेशियर अलर्ट सिस्टम, जानें क्या है पूरी ख़बर
दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर अगले महीने से लगेगा टोल, एनएचएआई ने मंत्रालय को भेजा प्रस्ताव 
राहुल गांधी पयर्टन के लिए लखीमपुर जाना चाहते हैं- सिद्धार्थनाथ सिंह
नॉएडा विधायक पंकज सिंह 'नोवरा अवार्ड' से सम्मानित
बांग्लादेश पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, शेख हसीना ने की आगवानी, कोरोना काल शुरू होने के बाद पहल...
पौधा सौंप कर दी गजेंद्र चौधरी को अध्यक्ष बनने की बधाई
Kisan Andolan: जब झज्जर में मंच पर छात्रा ने राकेश टिकैत से पूछा सवाल, '26 जनवरी की हिंसा का जिम्मेद...
सीएम योगी ने वनटांगियों के साथ मनाई दिवाली, बोले-...इसी को कहते हैं रामराज्‍य