इलेक्ट्रानिक कचरे से धातु निकाल रहे 8-9 साल के मासूम बच्चे- NCPCR की ताजा रिपोर्ट

नई दिल्ली, । दिल्ली के सीलमपुर और मुस्तफाबाद तथा उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में पुराने इलेक्ट्रॉनिक सामानों के ढेर वाले स्थानों पर इलेक्ट्रॉनिक कचरे को तोड़ने और अलग करने के लिए बच्चों का इस्तेमाल किया जा रहा है। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने अपनी एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी।

आयोग ने इसके लिए गंभीर सजा का प्रावधान करने का सुझाव भी दिया है। आयोग की ओर से कहा गया कि मुस्तफाबाद कबाड़ी बाजार में पुराने टीवी से तार निकालने के लिए आठ और नौ साल के बच्चों से प्रतिदिन 12-12 घंटे काम कराया जा रहा है। रिपोर्ट के अनुसार, एक बच्चे को ट्यूबलाइट, लैपटॉप और मोबाइल आदि से तांबा, लोहा, प्लैटिनम, सोना और अन्य चीजें निकालते हुए देखा गया। इसी प्रकार एक बच्चा बैटरियों से लिथियम निकालता पाया गया। रिपोर्ट में कहा गया कि यह बच्चे एसिड से मदरबोर्ड साफ करते हैं ताकि प्लेटिनम और अन्य धातुओं को अलग किया जा सके। उसे जलाया भी जाता है ताकि छिपी हुई धातु निकाली जा सके।

रिपोर्ट में कहा गया कि बच्चों को उनके काम के लिए एक दिन के दो सौ रुपये दिए जाते हैं। रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली-एनसीआर के ज्यादातर पुराने हो चुके मोबाइल फोन और लैपटॉप मुरादाबाद भेजे जाते हैं और उनके मदरबोर्ड, बैटरियां तथा स्क्रीन वहां अलग किए जाते हैं। आयोग की रिपोर्ट के अनुसार, 12 से 14 साल की उम्र के बच्चे मोबाइल तोड़ने का काम करते हैं। इसके लिए उन्हें प्रतिमाह आठ हजार से दस हजार रुपये दिए जाते हैं।

आयोग ने सुझाव दिया कि बच्चों से इस प्रकार का काम लेने वालों को सजा देनी चाहिए। आयोग ने ई-कचरा (प्रबंधन) नियमावली 2015 के क्रियान्वयन की समीक्षा के लिए तीसरे पक्ष द्वारा निगरानी तंत्र विकसित करने का भी सुझाव दिया। इन मामलों का स्वत: संज्ञान लेते हुए एनसीपीसीआर ने संबंधित एसडीएम, उप श्रमायुक्त बाल कल्याण समितियों और चाइल्ड लाइन को पत्र लिखकर इन बच्चों को इस धंधे से मुक्त कराने को कहा है।

 

यह भी देखे:-

ग्रेनो वेस्ट के निवासियों को दिवाली पर मिलेगा ओपन जिम का तोहफा
ग्रेटर नोएडा : शाहबेरी में इमारत गिरने के मामले में दो अन्य गिरफ्तार
Jitiya Vrat 2021 Muhurat: जितिया व्रत का क्या है पूजा मुहूर्त? जानें तिथि और समय
वाराणसीः कैंट स्टेशन पर प्लेटफार्म टिकट की बिक्री बंद, मुख्य प्रवेश द्वार को छोड़कर सभी रास्तों को क...
अपने ही राज्यों में अपने बने कांग्रेस का सिरदर्द, राहुल-सोनिया दे पाएंगे दवा?
तेजी से ओडिशा की ओर बढ़ रहा यास, 185 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से चलेगी हवा
UP ELECTION 2022: जातीय सियासी रंग गुर्जर बनाम ठाकुर में उलझता जेवर, निर्णायक हुए जाटव, जाट ,मुस्लिम...
दिल्ली एनसीआर मे लौट आया प्रदूषण, ग्रेटर नोएडा और गाज़ियाबाद की हवा बेहद खराब
डेयरी संचालक ने ठेकेदार से मांगी दस लाख रंगदारी, पहुंचा जेल
दिल्ली में कोरोना बेकाबू: केजरीवाल बोले- रद्द हों सीबीएसई की परीक्षाएं, 24 घंटे में रिकॉर्ड 13500 सं...
जल्द तलाशना होगा आर्थिक मोर्चे पर सफलता पाने का मंत्र
हवाई सफर में कोरोना गाइंडलाइस न मानने वालों को उतार दिया जाएगा: DGCA की चेतावनी
ओबीसी आरक्षण पर दांव: लोकसभा से पास हुआ संविधान संशोधन बिल, विपक्ष का भी मिला समर्थन
AIMIM की लोगों ने ली सदस्यता, जल्द होगा कार्यकारिणी का विस्तार   
कौन हैं खान सर, जिसे यूपी-बिहार के युवा करते हैं पसंद; इनदिनों अपने नाम को लेकर हो रहे ट्रोल
16 साल की TikToker सिया कक्कड़ ने की ख़ुदकुशी, फैन्स सदमे में, आत्महत्या ने खड़े किए कई सवाल