टूलकिट मामला : दिल्ली पुलिस सख्त, अब निकिता जैकब और शांतनु के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी

तीन कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के प्रदर्शन से जुड़ी ‘टूलकिट’ सोशल मीडिया पर साझा करने के मामले में निकिता जैकब और शांतनु के खिलाफ भी गैर जमानती वारंट जारी हो चुका है। पुलिस दोनों की तलाश कर रही है और लोकेशन मिलते ही इन्हें गिरफ्तार करेगी। इससे पहले रविवार को दिल्ली पुलिस ने बंगलुरु से दिशा रवि को भी इस मामले में गिरफ्तार किया था।
दिल्ली पुलिस की साइबर क्राइम यूनिट टूलकिट मामले में जल्द ही और गिरफ्तारियां होने के संकेत पहले ही दिए थे। इसमें शांतनु और निकिता का नाम सामने आ रहा था। पुलिस इन दोनों की भूमिका की जांच कर रही थी।
टूलकिल की जांच में ये बात सामने आई है कि दिशा समेत कई लोगों ने खालिस्तान को दोबारा खड़ा करने और भारत सरकार के बदनाम करने के लिए एक साजिश रची। दिल्ली पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने किसान हिंसा को लेकर एक साजिश के तहत अंजाम देने के संकेत दिए थे। उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच की जा रही है और जल्द ही इसमें खुलासा किया जाएगा।

Non-bailable warrants issued against Nikita Jacob and Shantanu. The two are involved in the toolkit matter: Delhi Police

— ANI (@ANI) February 15, 2021

भारत सरकार को बदनाम करने के लिए सब एक साजिश के तहत आए साथ
दिल्ली पुलिस अधिकारियों के अनुसार भारत सरकार को बदनाम करने के लिए सब लोग एक साजिश के तहत जुड़े। इसके लिए ये लोग खालिस्तान समर्थक पोएटिक जस्टिस फाउंडेशन से जड़े।

किसान आंदोलन के मद्देनजर टूलकिट अभियान सोची समझी साजिश के तहत चलाया गया था। इससे पहले दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को गूगल और अन्य सोशल मीडिया कंपनियों से ‘टूलकिट’ बनाने वालों से जुड़े ईमेल आईडी, डोमेन यूआरएल और कुछ सोशल मीडिया अकाउंट की जानकारी देने को कहा था।

 

टूलकिट में किसी अभियान को ट्रेंड कराने के दिशानिर्देश होते हैं
टूल किट में ट्विटर के जरिये किसी अभियान को ट्रेंड कराने से संबंधित दिशानिर्देश और सामग्री होती है। चार फरवरी को जब मामला दर्ज किया गया था तो दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था कि शुरुआती जांच से पता चला है कि दस्तावेज के तार खालिस्तान-समर्थक समूह ‘पोएटिक जस्टिस फाउंडेशन’ से जुड़े हैं। बता दें कि स्वीडन की 18 साल की क्लाइमेट एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने भारत में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर समर्थन दिखाते हुए ट्वीट किया था। आरोप है कि उन्होंने एक टूलकिट भी ट्वीट किया था, जिसमें भारत में अस्थिरता फैलाने को लेकर साजिश का प्लान था।

यह भी देखे:-

आयकर विभाग की कार्यवाही, बसपा सुप्रीमो के भाई-भाभी की 400 करोड़ की संपत्ति जब्त
यूपी: सुभासपा की नई रणनीति; क्या राजभर के इस कदम का समर्थन करेंगे अखिलेश?
किसान एकता मंच के पदाधिकारी पहुंचे गाजीपुर बॉर्डर राकेश टिकैत का किया समर्थन
रितु महेश्वरी को नोयडा DM की अतिरिक्त जिम्मेदारी
DU Admission 2021: शुरू हुई दिल्ली विश्वविद्यालय में यूजी दाखिले की प्रक्रिया, देखें दिशा-निर्देश
रसोई गैस : दिल्लीवालों को मिलेगा अब महँगा घरेलू गैस सिलेंडर ,आज से बढ़ जाएंगे के दाम, जानें क्या होग...
पीएम मोदी ने 75 हजार परिवारों को सौंपी घर की डिजिटल चाभी, बोले-हमने 3 करोड़ गरीबों को बना दिया लखपति
COVID-19 India News : 13 हजार से नीचे पहुंचे कोरोना के नए केस, दो दिन बाद मौतों की संख्या में भी कमी
काबुल एयरपोर्ट पर अफगानी सेना और अज्ञात हमलावरों के बीच ताबड़तोड़ फायरिंग, एक जवान की मौत
Lakhimpur Kheri News: छह दिन में आरोपियों पर कार्रवाई नहीं तो होगा बड़ा आंदोलन-राकेश टिकैत
दर्दनाक: कंटेनर की टक्कर से बाइक सवार की मौत
जी.डी. गोयनका पब्लिक स्कूल में ऑनलाइन मनाई गयी महात्मा गाँधी और लाल बहादुर शास्त्री जी की जयंती
COVID-19 India News : बीते 24 घंटे में 22 हजार से ज्यादा लोग हुए ठीक, नए मामलों की संख्या घटी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रक्षा मंत्रालय के दो कार्यालय परिसरों का किया उद्घाटन
Kisan Andolan: केंद्र सरकार को राकेश टिकैत ने दिया 26 नवंबर तक का अल्टीमेटम
रंजिश में युवक की गोली मारकर हत्या, एक घायल, बिसहड़ा काण्ड के आरोपी के साथ गए थे जेवर