गुप्त नवरात्रि 12 फरवरी से प्रारंभ हो रहे है, जाने घट स्थापना का शुभ मुहूर्त

हिंदू धर्म में गुप्त नवरात्रि का विशेष महत्व होता है, धार्मिक मान्यताओं के अनुसार गुप्त नवरात्रि तंत्र-मंत्र को सिद्ध करने वाली मानी गई है। कहा जाता है कि गुप्त नवरात्रि में की जाने वाली पूजा से कई कष्टों से मुक्ति मिलती है।

गुप्त नवरात्रि में तांत्रिक महाविद्याओं को भी सिद्ध करने के लिए मां दुर्गा जी की उपासना की जाती है।

घट स्थापना शुभ मुहूर्त:- नवरात्रि प्रारंभ 12 फरवरी 2021 दिन शुक्रवार से 21 फरवरी 2021 दिन रविवार तक रहेगे।

कलश स्थापना मुहूर्त:- सुबह 08 बजकर 34 मिनट से 09 बजकर 59 मिनट तक।

अभिजीत मुहूर्त:- दोपहर 12 बजकर 13 मिनट से 12 बजकर 58 मिनट तक।
मां दुर्गा जी के इन स्वरूपों की होती है पूजा:- मां कालिके, तारा देवी, त्रिपुर सुंदरी, भुवनेश्वरी, माता चित्रमस्ता, त्रिपुर भैरवी, मां धूम्रवती, माता बगलामुखी, मातंगी, कमला देवी यह दस महाविद्याओं की पूजन होती है।

मां दुर्गा की गुप्त नवरात्रि में ऐसे करें पूजा:- कहते हैं कि गुप्त नवरात्रि के दौरान तांत्रिक और अघोरी मां दुर्गा जी की आधी रात में पूजा करते हैं। मां दुर्गा जी की प्रतिमा या मूर्ति स्थापित कर लाल रंग का सिंदूर और सुनहरे गोटे वाली चुनरी अर्पित की जाती है। इसके बाद मां के चरणों में पूजा सामग्री को अर्पित किया जाता है। मां दुर्गा को लाल पुष्प चढ़ाना शुभ माना जाता है साधक अनेक प्रकार से माँ को प्रसन्न करने के लिए तरह-तरह की साधनाये करते है।

जगदम्बा ज्योतिष केन्द्र पं.मूर्तिराम,आनन्द बर्द्धन नौटियाल ज्योतिषार्चाय (देवी नृसिंह उपासक गंगौत्री धाम) फोन न.+91 93 101 109 14, सी-38,फस्ट फलोर,ओमिक्रोन-3,ग्रेटर नौएडा,गौतम बुद्ध नगर,उत्तर प्रदेश 201310

यह भी देखे:-

संकटमोचन महायज्ञ में ज्योतिर्लिंग भीमाशंकर का आवाहन किया गया
आज का पंचांग, 14 जुलाई 2020, जानिए शुभ अशुभ मूहुर्त
भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा निकाली
ब्रम्हचारी कुटी में धूमधाम से मनाई गई देव दीपावली
सुंदरकांड पाठ कार्यक्रम का भव्य आयोजन
आज का पंचांग, 9  अक्टूबर, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त 
कल का पंचांग, 6 फरवरी 2021, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त 
श्री साईं अक्षरधाम मंदिर डेल्टा 3 : सामुहिक सुन्दरपाठ व भण्डारे का आयोजन
जब दशमी 26अक्टूबर की है, तो दशहरा 25 अक्टूबर को क्यों, जानिए राज
ग्रेटर नोएडा : विधि विधान से पूजे गए देव शिल्पी विश्वकर्मा, आज शाम भोजपुरी कलाकार बिखेरेंगे जलवा
भगवान भोलेनाथ के अर्धनारीश्वर स्वरूप को समर्पित रहा संकट मोचन महायज्ञ   
कल का पंचांग, 12  फ़रवरी 2021, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त 
41 दिवसीय संकट मोचन महायज्ञ : चौथे दिन की आहुति पूर्ण हुई, हवन में स्वाहा क्यों बोलते हैं जानिए 
41 दिवसीय संकट मोचन महायज्ञ में तीसरे दिन की आहुति पूर्ण
पॉकेट सात सेक्टर 82 मन्दिर में मनाई गई राधाष्टमी
वैष्णोंदेवी से युवा क्रांति रथ पहुँचा नोएडा-ग्रेटर नोएडा हज़ारों युवाओं ने राष्ट्र जागरण का संकल्प...