LIVE IND vs ENG: इंग्लैंड ने मेहमानों को 212 रनों से हराया, 15 साल पहले मुंबई में 212 रन से हारा था भारत

पहले टेस्ट में इंग्लैंड ने भारत को 227 रन से पीट दिया। टीम इंडिया के सामने 420 रन का विशाल लक्ष्य था, जिसके सामने भारत सिर्फ 192 रन ही बना पाया। अंतिम दिन मेजबान टीम को 381 रन बनाने थे, लेकिन जेम्स एंडरसन, जैक लीच की खतरनाक गेंदबाजी के आगे पूरा भारतीय बल्लेबाजी क्रम धराशायी हो गया। यह भारत में इंग्लैंड की सबसे बड़ी टेस्ट जीत भी है, इससे पहले 2006 यानी 15 साल पूर्व मुंबई में इंग्लैंड को 212 रन से जीत मिली थी।

2017 के बाद घर में पहली बार हारा भारत
भारतीय सरजमीं पर आकर मेजबान टीम को हराना किसी भी विदेशी टीम के लिए चुनौती से कम नहीं है, लेकिन जो रूट ने अपनी कप्तानी में कर दिखाया। इस सीरीज से ठीक पहले श्रीलंका में दो टेस्ट की सीरीज खेलना और उसे जीतना अंग्रेजों के काम आया। भारत जहां उछाल भरी पिच वाली जगह ऑस्ट्रेलिया से खेलकर लौट रहा था तो इंग्लैंड को उपमहाद्वीप की घुमावदार पिच का अनुभव मिला।

यह भी देखे:-

क्या ऑटो एक्सपो 2020 में होगा कोरोना वायरस का असर ?
पीएम मोदी ने ली कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज, AIIMS में सुबह-सुबह लगवाया टीका
GALGOTIAs wills blues FC A टीम ने जीता EDUCO FUTSAL TOURNAMENT
इंटरनेशनल कबोट गेम्स चैंपियनशिप 2019 : ब्रिगेड मार्शल आर्ट्स अकादमी ने लहराया परचम, जीते कई मेडल्स
JEE Main 2021 : बेहतर तैयारी से करिये प्रवेश सुनिश्चित, मिल रहे हैं चार मौके
यूपी योद्धा को होम लेग में मिली पहली हार
यूपीएसटीएफ(UPSTF) ने आतंकी हमले की साजिश को किया नाकाम, दो पीएफआई के सदस्य गिरफ्तार
उत्तराखंड में आई तबाही से भी बड़ा झेलना पड़ सकता है महाजलप्रलय : राजेंद्र सिंह, पर्यावरणविद
एबीवीपी के प्रांतीय अधिवेशन में ग्रेटर नोएडा से जुड़े कार्यकर्ताओं को मिला अहम जिम्मेवारी
DU Exam Form 2021: यूजी, पीजी और प्रोफेशनल के स्टूडेंट्स के लिए डीयू ने जारी किया नोटिफिकेशन, 28 फरव...
एस्टर ने जमाया द्वितीय अंगूरी देवी मैमोरियल क्रिकेट टूर्नामेंट पर कब्ज़ा
जी.बी.एस.सी.एल.-1 क्रिकेट टूर्नामेंट पर एसओएम सपार्टन्स का कब्ज़ा
ग्रेटर नोएडा: राहुल गांधी और प्रियंका गांधी सहित 203 कांग्रेसी नेताओं पर मुकदमा दर्ज 
GPL 4 क्रिकेट टूर्नामेंट में खेले गए चार मैच , पढ़ें पूरी खबर
रोल बॉल प्रतियोगिता में गौतमबुद्ध नगर की टीम ने जीता कास्य पदक
प्राधिकरण के अधिकारियों को नेफोमा टीम ने कराया डार्क स्पॉट का सर्वे ।