कोर्ट ने पुलिस के खिलाफ याचिका की ख़ारिज , बहुचर्चित जेवर काण्ड के आरोपियों के परिजनों ने लगाया था फर्जी फंसाने का आरोप

ग्रेटर नोएडा : एसएसपी गौतमबुध नगर के खिलाफ दायर की गई याचिका को जिला कोर्ट ने खारिज कर दिया। 24 जुलाई को जेवर कांड के आरोपियों के परिजनों ने पुलिस पर आरोपियों को फर्जी फंसाने का आरोप लगाकर मामले में दुबारा जांच करने की मांग की थी। कोर्ट ने आरोपियों के परिजनों की तरफ से दायर 156/3 की दोनों याचिका को खारिज करते हुए आरोपियों को न्यायिक हिरासत में रखने का फैसला दिया हैं।

सूरजपुर स्थित जिला कोर्ट में जेवर कांड के आरोपियों के परिजनों ने एसएसपी समेत जेवर कांड का खुलासा करने वाली पुलिस टीम के खिलाफ 156/3 के तहत मामला दर्ज किया था। कोर्ट में परिजनों ने दायर याचिका में पुलिस पार्टी पर आरोप लगाया कि पुलिस ने जेवर कांड में फंसे आरोपियों को फर्जी फंसाया गया हैं। जेवर मामले के दोषी लोगो के परिजनों ने 24 जुलाई को कोर्ट में याचिका दायर की थी। जिला कोर्ट ने इस मामले पर सुनवाई करते हुए जेवर कांड का खुलासा करने वाली पुलिस टीम पर लगाए हुए आरोपियों को फर्जी फंसाने में लगाया हुआ आरोप गलत हैं। कोर्ट ने इस मामले में दोनों याचिका को खारिज कर दिया। गौरतलब हैं कि पुलिस ने जेवर गैंगरेप कांड का खुलासा कर बावरिया गैंग के चार बदमाशों को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया था। इनमें एक बदमाश को गोली लगी थी। इस मामले में सोमवार को दो आरोपियों राकेश और दीपक के परिजनों ने कोर्ट में एसएसपी, एसपी सिटी और जेल अधीक्षक समेत 17 पुलिसकर्मियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने की मांग की थी। कोर्ट ने सुनवाई के लिए 4 अगस्त की तारीख दी थी लेकिन तारिख आगे की मिलने के कारण 21 अगस्त में फैसला किया गया। जेवर मामले के मुख्य आरोपी अशोक उर्फ राजू की पत्नी कुसुम ने जेवर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक राजपाल सिंह तोमर, उप प्रभारी निरीक्षक वीरपाल सिंह सोलंकी, उप प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार समेत जेवर कोतवाली के 15 पुलिसकर्मियों को आरोपी बनाते हुए कोर्ट में 156/3 के तहत याचिका दायर की थी। आरोपी राकेश की मां संतोष के वकील बलराज भाटी ने बताया कि कोर्ट ने सुनवाई के बाद प्रार्थना पत्र को खारिज कर दिया हैं।

एसएसपी लव कुमार ने बताया कि बहुचर्चित जेवर कांड का पुलिस की टीम ने सही खुलासा किया गया था और आरोपियों के पास से पीडित पक्ष का सारा सामान बरामद भी किया था। आरोपी पक्ष के परिजन कोर्ट में गलत तथ्यों को रखकर आरोपियों की रिहाई करवाने की कोशिश कर रहे थे।

यह भी देखे:-

महिला ने तीन नवजात को एक साथ जन्म दिया
होण्डा बदल रहा है भारत की राइडिंग का तरीका, 11 मॉडल लॉन्च किया
जानिए, किसकी लापरवाही से घंटों तड़पता रहा ट्रेन से गिरा घायल युवक
ग्रेटर नोएडा : पटेल जयंती 31 अक्टूबर को रन फॉर यूनिटी का आयोजन
मरम्मत कर रहा बिजली कर्मचारी करंट से झुलसा
ग्रेटर नोएडा : 21 सितम्बर से श्री रामलीला -विजय महोत्सव (साईट- 4) की रंगारंग शुरुआत , 3 सितम्बर को ...
पुलिस के पहुंचते ही टैक्टर ट्राली छोड़ भागे खनन माफिया
ग्रेटर नोएडा : आबकारी विभाग ने शराब की बड़ी खेप पकड़ी
भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने किया एलान, 20 जिले के किसान होंगे महापंचायत में शामिल
किन समस्याओं व मांगों को लेकर एक बार फिर सीईओ ग्रेनो से मिले किसान, पढ़ें पूरी खबर
आश्वासन मिलने पर जय हो संगठन के कार्यकर्ताओं का अनशन ख़त्म
बीजेपी मंडल दनकौर ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती मनाई 
बीटा - 1 आरडब्लूए ने मनाया गणतंत्र दिवस समारोह
दादरी विधायक तेजपाल के नेतृत्व में किसानों ने लखनऊ में उठाई समस्या
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की 118 वीं बोर्ड बैठक संपन्न,  4369 करोड़  रुपये का बजट पास , आरडब्ल्यूए को  म...
ड्राइवर ने की थी अपने ट्रांसपोर्टर मालिक की हत्या, जानिए क्यों