भारत को आत्मनिर्भर बनाने वाला है 2021 का बजट – प्रो. मनीष शर्मा

नोएडा। 06 फरवरी 2021, प्रेरणा शोध संस्थान न्यास द्वारा आयोजित बजट-2021: एक अवलोकन विषय पर हुए वेबिनार में प्रो. ए. पी. तिवारी जी और प्रो. मनीष शर्मा जी उपस्थित रहे।
मुख्य वक्ता एवं अर्थशास्त्री प्रो. मनीष शर्मा ने बजट 2021 पर प्रकाश डालते हुए कहा कि कोरोना काल की आपदा से जूझने के बाद इस तरह का साहसिक बजट लाने के लिए सरकार की सराहना करनी चाहिए। बजट हर साल आता है और हम हर साल कुछ नया चाहते हैं। प्रो. शर्मा ने पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से बजट का विश्लेषण करते हुए बताया कि अगर इस बजट में दिए गए प्रावधानों का पालन किया गया तो निश्चित ही भारत आने वाले दिनों में विश्व का एक अग्रणी देश होगा क्योंकि इस बजट में भारत की मूल सोच ‘‘सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे संतु निरामया सर्वे भद्राणि पश्यन्तु, मा कश्चित दुःखभाग भवेत’’ की परिकल्पना परिलक्षित है। प्रो. मनीष शर्मा ने कहा कि सरकार ने इस बजट में एक लाख दस हजार करोड़ रूपये से ज्यादा रेलवे को प्रदान किए हैं। सरकार ने छोटे और मझोले व्यापारियों को बहुत बड़ी राहत देते हुए 2 करोड से बढ़ाकर अब 20 करोड़ तक की टर्नओवर की कम्पनी को छोटी कंपनियों के दायरे में शामिल किया है। इससे यह स्पष्ट है कि यह बजट आत्मनिर्भर भारत की आरे बढ़ने का बहुत अच्छा प्रयास है। प्रो. शर्मा ने कहा कि बीमारी से पहले दौड़ने वाला कैसे बीमारी से उठने के बाद दौड़ेगा, धीरे धीरे अपनी गति पकड़ेगा और यही सोच हमे इस वर्ष के बजट के लिए रखना चाहिए। वैश्विक महामारी को झेलने के बाद जहा लगभग 23 अंक माइनस की तरफ हमारी अर्थ व्यवस्था चली गई थी उसे उपर लेने के लिए प्रस्तुत बजट में इंफ्रास्ट्रक्चर के बढ़ावे पर ध्यान दिया गया है जिसके दूरगामी परिणाम आएंगे।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे प्रो. ए. पी. तिवारी ने इस अवसर पर कहा कि यह बजट विकासगामी बजट है। इस बजट में कृषि को 1 लाख करोड़ से ज्यादा आवंटित किया गया है क्योंकि सरकार चाहती है कि कृषि का विविधीकरण किया जाए। कृषि और गैरकृषि क्रियाओं को गांव से जोडने की सरकार की योजना है। कृषि वाणिकी, पशुपालन, मत्सय पालन, बागवानी, जड़ी बूटियों की खेती इत्यादि से गांव के विकास का रोड़ मैप सरकार ने इस बजट में बनाया है। यह बजट भारत के समृद्ध परंपरागत ज्ञान, नवाचार और भारत की जनता की क्षमता को ध्यान में रख कर बनाया गया है। इस बजट से रोजगार बढेगा और गरीबी दूर होगी।
प्रेरणा शोध संस्थान न्यास द्वारा आयोजित साप्ताहिक वेबिनार का संचालन करते हुए डा. श्रुति त्रिपाठी ने कहा कि बजट एक ऐसा विषय है जो हर व्यक्ति के जीवन को छूता है। उन्होंने आग्रह किया कि बजट को सही परिदृश्य में समझें और नागरिक होने का कर्तव्य निभाए।

यह भी देखे:-

नकल विहीन बोर्ड परीक्षा होगी संपन्न : डीएम बी.एन. सिंह
डाक्टरों पर हमला रोकने को लेकर कल 18 जून को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन देशव्यापी विरोध का ऐलान
Coronavirus Update: देश में कोरोना वायरस के दर्ज हुए 31,222 नए मामले, 290 लोगों की मौत
बेहतर पुलिसिंग के लिए सामाजिक संस्थाओं का सहयोग जरूरी : धीरेन्द्र सिंह
Petrol Diesel Price: राहत के बाद झटका,फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम
Corona Vaccine: बाजार में टीके की दो डोज की कीमत 1000 रुपये से अधिक होने के आसार, उप्र में मुफ्त लगे...
पंजाब नेशनल बैंक द्वारा किसानों को दी गई योजनाओं की जानकारी
West Bengal Assembly Elections: 21 मार्च को गृहमंत्री अमित शाह जारी करेंगे BJP का घोषणापत्र
'बेटी सुरक्षित ,समाज सुरक्षित’, 160 छात्राओं ने आत्मरक्षा अभियान में भाग लिया 
आदर्श रामलीला सूरजपुर : लगी लंका में आग, क्रोधित हुआ लंकेश्वर
PM का काशी दौरा : आगमन से पहले तैयारी परखने अाज आएंगे सीएम योगी, कार्यक्रम स्थलों का करेंगे निरीक्ष...
७ वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस  पर गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय में बुद्ध वार्ता श्रृंखला का आयोजन 
RYANITES SPREAD MESSAGE FOR SIGNIFICANCE OF VOTING
भाजपा बिसरख मण्डल ने बड़े स्तर पर चलाया स्वच्छता मिशन
PM मोदी ने मुजीबुर रहमान को दिया गांधी शांति सम्मान, कहा- बांग्लादेश की आजादी के लिए मैंने भी दी थी ...
करप्शन फ्री इंडिया संगठन के कार्यकर्ता कल विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार का करेंगे घेराव