सच्चाई और ईमानदारी की मिसाल पेश करने वाले जुबेर मालिक को AIMIM ने किया सम्मानित 

ग्रेटर नोएडा : आज दादरी में जुबेर मलिक को  AIMIM पार्टी के पदाधिकारियों ने जिलाध्यक्ष आज़ाद मालिक के नेतृत्व में सम्मानित किया गया। बता दें  यह कहानी है दादरी कस्बे में जुबेर मालिक  की जिनकी ईमानदारी   सुनकर आप भी हैरान हो जाएंगे . जु दरअसल दादरी के जुबेर मलिक  को करीब 8 महीने पहले सड़क पर एक लेडीज पर्स मिला था. पर्स में दस्तावेजों के अलावा रुपए और गहने भी थे. पता चला कि पर्स आदेश नाम की महिला का था.

दस्तावेजों से काफी कोशिशों के बाद पर्स की मालकिन के बारे में पता चला. जुबैर ने आदेश से संपर्क किया. बुधवार को महिला अपने पति के साथ दादरी पहुंची. पर्स में रखे दस्तावेज, रुपए और गहने जुबैर ने आदेश को सौंप दिए. इसके बाद दोनों इतने भाव विभोर हुए कि एक-दूसरे के मुंह बोले भाई-बहन बन गए । लॉकडाउन के शुरूआती दौर में लाखों लोग पैदल अपने घर की तरफ चल दिए थे. उस दौरान आदेश का लेडीज पर्स ग्रेटर नोएडा के दादरी कस्बे में गिर गया. पर्स जुबेर को मिला. पर्स में आधारकार्ड, पैनकार्ड, बैंक अकाउंट की पासबुक, साढ़े 6 हजार रुपये नगद, कानों की सोने की झुमकी, मंगलसूत्र, अंगूठी, चांदी की पायल थीं. पर्स में कोई टेलीफोन या मोबाइल नम्बर नहीं मिला था. इस वजह से जुबैर किसी से संपर्क नहीं कर पा रहा था. आधार कार्ड और पैनकार्ड पर एटा मैनपुरी का पता लिखा हुआ था. बैंक पासबुक पर सलारपुर भंगेल का पता था. जुबैर भंगेल सलारपुर पहुंचा. वहां के पते पर उसे आदेश की कोई जानकारी नहीं मिली है. लेकिन जुबेर ने हार नहीं मानी.आखिर में बड़ी मुश्किल से डॉक्युमेंट्स से उसे एक मोबाइल नंबर मिला। इस नंबर पर कॉल की तो जुबेर का संपर्क आदेश के पति से हुआ. जुबेर ने उन्हें बताया कि उनकी पत्नी का जो पर्स खोया है, वो दादरी में है. आएं और ले जाएं, अगर न आ सकें तो बताएं, हम आपके पते पर दे
जाएंगे. आदेश अपने भाई और पति के साथ दादरी आईं. आसपड़ोस के एक-दो जिम्मेदार व्यक्तियों को बुलाकर जुबैर ने आदेश को उनका पर्स सौंप दिया. आदेश ने अपने पर्स में सामान चेक किया. जब उन्होंने अपने पैसे गिने तो आंखों में आंसू आ गए. उन्हें यकीन नही हो रहा था कि आज भी इतने ईमानदार लोग हैं. उनके पर्स में सबकुछ वैसा ही था, जैसा आदेश ने रखा था. उन्होंने इस मौके पर उपस्थित सभी लोगों को अपना मुंहबोला भाई बना लिया. वापस जाते वक्त आदेश ने उन्हें कुछ देना चाहा लेकिन जुबेर ने  लेने से मना कर दिया।
उनके ईमानदारी का किस्सा सुनकर AIMIM के जिलाध्यक्ष आज़ाद मालिक ख़ासा प्रभावित हैं।  इस मौके पर पार्टी के पदाधिकारी शलमू मलिक, साबिर सैफी, हाजी मोहम्मद, अली फजल चौधरी, समीर सैफी, हक़ीक़त चौधरी, जीशान भाटी, हकीकत चौधरी, जुल्फिकार चौधरी, अब्दुल वाहिद,  आसिफ साबिर अब्बासी, आमिर मलिक, अरशद चौधरी, संदीप पंडित व  पार्टी के दर्जनों कार्यकर्ता  मौजूद रहे। 

यह भी देखे:-

यमुना एक्सप्रेस वे पर भीषण हादसा, ताजमहल देखने जा रहे स्कूली बच्चों से भरी बस पलटी , एक की मौत कई घ...
गाजियाबाद : जयपुरिया मॉल की दूसरी मंजिल पर लगी भीषण आग, कड़ी मशक्कत के बाद पाया काबू
दिल्ली: नेशनल मीडिया सेंटर के बाहर संदिग्ध वस्तु मिलने से हड़कंप, डॉग स्क्वॉयड के साथ मौके पर पहुंची...
अलग-अलग सड़क हादसों में चार की गई जान
कोरोना अपडेट: जानिए गौतमबुद्ध नगर का क्या है हाल
दो खेलों को गोद लेगी सरकार, मेरठ में मेजर ध्यानचंद के नाम पर बनेगा खेल विश्वविद्यालय - सीएम योगी
सिटी हार्ट अकादमी में मनाया गया बसंत पंचमी पर्व।
घरेलू सहायकों, गार्ड , मेड़ प्रेस वाला के लिए भी कोरोना टीकाकरण शिविर आयोजित करे प्रशासन : नेफोमा
PM Modi US Visit: राष्ट्रपति बाइडन, कमला हैरिस समेत कई नेताओं से मुलाकात करेंगे PM मोदी
संक्रमण के दौर में फिट रहने के लिए योग जरूरी
समाज के लिए खतरा: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, सैकड़ों युवाओं की मौत का कारण हैं नशे के धंधेबाज
बांग्लादेश में पीएम मोदी : बोले- मुक्ति युद्ध के शहीदों को नमन, मैंने भी दी थी गिरफ्तारी
लॉकडाउन खुलते ही यमुना एक्सप्रेस वे पर हुआ हादसा एक की मौत चार घायल
नॉलेज पार्क पुलिस ने किए 10 शातिर लुटेरे गिरफ्तार
इलेक्रामा-2020 की शानदार शुरुआत - 1300 से अधिक प्रदर्शकों ने किया दुनिया को ऊर्जा देने वाले इनोवेशंस...
समाजवादी पार्टी के इस मुस्लिम नेता ने अखिलेश पर साधा निशाना, पार्टी से इस्तीफा