हौंडा कार्स इंडिया ने कहा, अपनी प्रगुणता बनाये रखने के लिए उत्पादन की कार्य-प्रणाली को संगठित किया है 

नई दिल्ली, 23 नवंबर 2020: हौंडा कार्स इंडिया लिमिटेड (एचसीआईएल) ने आज अपनी कार्यकुशलता में सुधार के लक्ष्य हेतु अपनी विनिर्माण प्रक्रिया को पुनर्गठित करने की घोषणा की है! उत्पादन और आपूर्ति श्रृंखला क्षमता का लाभ उठाते हुए ऑपरेशन क्षमता को बनाए रखने के लिए, एचसीआईएल ने घरेलू बाजार में बिक्री एवं निर्यात के लिए वाहन एवं कलपुर्जा निर्माण की पूरी प्रक्रिया तत्काल प्रभाव से राजस्थान के तापुकारा संयंत्र में केंद्रित करने का फैसला किया है।

कंपनी ने ग्रेटर नॉएडा संयंत्र में उत्पादन बंद कर दिया है! हालांकि हौंडा का मुख्य कार्यालय, भारत में उनके अनुसंधान एवं विकास विभाग और ऑटोमोबाइल, टू-व्हीलर और पावर प्रोडक्ट बिज़नेस के लिए स्पेयर पार्टस (गोदाम सहित) के सभी कार्य पहले की तरह ग्रेटर नॉएडा संयंत्र से ही संचालित होते रहेंगे।

हौंडा कार्स इंडिया के प्रेजिडेंट एवं सीइऔ श्री गाकु नाकानिशी ने कहा, “पिछले तीन महीनों में बिक्री में बढ़ोतरी के बावजूदमौजूदा बाजार की स्थिति उद्योग के लिए अप्रत्याशित बनी हुई है। कोविड-19 के प्रभाव ने हमें अपनी कार्यकुशलता को बेहतर बनाने के लिए प्रेरित किया हैऔर इसी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए एचसीआईएल ने तापुकारा संयंत्र को एकीकृत मैन्युफैक्चरिंग बेस बनाकर अपने विनिर्माण कार्यों को वहां केंद्रित करने का निर्णय लिया है। एचसीआईएल को भारतीय अर्थव्यवस्था की मजबूती पर पूरा विश्वास है और बाजार में तेजी से सुधार की उम्मीद है। हौंडा की वैश्विक रणनीति में भारत बेहद महत्वपूर्ण बाजार है और एचसीआईएल भविष्य में इलेक्ट्रिफाइड वाहनों सहित अपने नवीनतम और एडवांस तकनीक वाले मॉडल पेश करने के लिए प्रतिबद्ध है।

कोविड-19 के चलते लागू हुए लॉकडाउन के बाद ऑपरेशंस को फिर से शुरू करने के साथ, एचसीआईएल ने सफलतापूर्वक अपनी दैनिक उत्पादन क्षमता को सितंबर 2020 से पहले के कोविड पूर्व के स्तर तक पहुंचा दिया है। वहीं पिछले तीन महीनों से लगातार मासिक बिक्री में वृद्धि देखी जा रही है। त्योहारों के दौरान एचसीआईएल की बिक्री में अच्छी रिकवरी हुई और कंपनी को उम्मीद है कि आने वाले महीनों के दौरान इस बिक्री में यही तेजी बनी रहेगी।

 

तापुकारा संयंत्र, जिला अलवरराजस्थान के बारे में

एचसीआईएल का तापुकारा संयंत्र 450 एकड़ में फैला हुआ है। इसकी स्थापित उत्पादन क्षमता 1,80,000 इकाई प्रति वर्ष है। यह एक एकीकृत मैन्युफैक्चरिंग यूनिट है जिसमें फोर्जिंग, प्रेस शॉप, पावरट्रेन शॉप, वेल्ड शॉप, पेंट शॉप, प्लास्टिक मोल्डिंग, इंजन असेंबली, फ्रेम असेंबली और इंजन टेस्टिंग की सभी सुविधाएं शामिल हैं। हौंडा की सर्वश्रेष्ठ मैन्युफैक्चरिंग तकनीकों और वैश्विक परिचालन के अनुभवों को तापुकारा संयंत्र की निर्माण प्रक्रिया में शामिल किया गया है। यहां पूर्ण ऑटोमेशन, नवीनतम उपकरण और उच्च गुणवत्ता के लिए श्रेष्ठ लेआउट, सर्वोत्तम श्रमदक्षता, बेहतर परिचालन क्षमता और सुरक्षा के उच्चतम स्तर प्रदान किया गया है। यह संयंत्र पर्यावरण के संरक्षण और ऊर्जा और अन्य प्राकृतिक संसाधनों के कुशल उपयोग पर भी ध्यान केंद्रित करता है।

 

 

यह भी देखे:-

आगमी 28 जुलाई को किसान एकता संघ करेगा यमुना प्राधिकरण का घेराव 
DU SOL Admission 2021: डीयू ओपेन दाखिला आज से शुरू, बीए और बीकॉम कोर्सेस में प्रवेश 15 दिसंबर तक
अच्छी खबर: सितंबर आखिर तक आ सकती है ZyCov-D की कोरोना वैक्सीन, जानिए अन्य टीकों से कैसे है यह अलग
कोरोना से बचाव को लेकर नगर पंचायत ने कराया कस्बे में सैनिटाइजेशन
दिवाली तक किसानों को 4598 भूखंड का आवंटन करेगा ग्रेनो प्राधिकरण - देवाशीष पांडा सीईओ
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की बोर्ड बैठक में लिए गए अहम निर्णय, जानिए
मादक पदार्थों की तस्करी करने वाले दो तस्कर गिरफ्तार, 42 किलो गांजा बरामद, पकड़े गए नशीले पदार्थ का मू...
बड़ी खबर : इन 90 भू-माफियाओं के खिलाफ जिला प्रशासन ने की बड़ी कार्यवाई
जब अब्बाजान ने वैक्सीन लगवा ली तो बोले हम भी लगवाएंगे- योगी, जाने पूरी ख़बर
जनसंख्या समाधान फाऊंडेशन ने जनसंख्या नियन्त्रण कानून बनवाने के लिये, प्रधानमंत्री को भेजा ज्ञापन
ग्रेटर नोएडा : ऐरो मीडिया के सौजन्य से "फैशन शो" 24 सितम्बर को, ऑडिशन जारी है
यमुनाएक्सप्रेस वे पर दर्दनाक सड़क हादसा, तीन की गई जान
सीईओ ने कासना का किया दौरा, री-डेवलपमेंट का खींचा खाका
लखीमपुर में उपद्रव व हिंसा : लखनऊ में घर के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश यादव, विपक्ष की सियासत तेज
बेलगाम ट्रक ने ली बाईक सवार की जान
ईकोटेक - 3 थाना पुलिस की तत्परता से लापता बच्चे सकुशल बरामद , परिजनों ने ली चैन की सांस