गलगोटिया कॉलेज में  कम्प्यूटिंग, संचार नियंत्रण और नेटवर्किंग विषय पर दो दिवसीय सम्मेलन  का आयोजन 

ग्रेटर नोएडा :  गलगोटियाज कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, ग्रेटर नोएडा, के कंप्यूटर विज्ञान और इंजीनियरिंग विभाग के द्वारा  कम्प्यूटिंग, संचार नियंत्रण और नेटवर्किंग विषय पर दो दिवसीय सम्मेलन का आयोजन किया गया। यह द्वितीय आईईईई (IEEE) अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन (ICAC3N-2020) का आयोजन तकनीकी रूप से आईईईई अनुभाग यूपी द्वारा प्रायोजित था।

इस सम्मेलन का उद्देश्य अग्रणी शिक्षाविदों, शोधकर्ताओं और अनुसंधान विद्वानों को एक मँच पर लाने और उनके अनुभवों और अर्जित तकनीकी प्रगति को कम्प्यूटिंग, संचार नियंत्रण और नेटवर्किंग से संबंधित उनके अनुसंधान के आधार पर साझा करना था। इस सम्मेलन ने शिक्षाविदों, शोधकर्ताओं, कंप्यूटर वैज्ञानिकों, इंजीनियरों और उद्योग के विशेषज्ञों को आकर्षित करने, चर्चा करने और उन्नत कम्प्यूटिंग साइंस, इंजीनियरिंग अनुप्रयोगों और अंतः विषय अनुप्रयोगों के क्षेत्रों में अपने उपन्यास विचारों, परिणामों और अनुभवों को साझा करने के लिए एक अद्भुत अवसर और जीवंत मंच प्रदान किया।

मुख्य संरक्षक माननीय श्री सुनील गलगोटिया, अध्यक्ष, जीईआई और माननीय श्री ध्रुव गलगोटिया, सीईओ, जीईआई ने सम्मेलन के संयोजक और अध्यक्ष प्रो0 डॉ0 विष्णु शर्मा के प्रयासों की सराहना की। और इस प्रकार के अंतर्राष्ट्रीय ख्याति के सम्मेलनो का और अधिक आयोजन करने के लिए विभाग को प्रेरित किया। गलगोटियाज विश्वविद्यालय के कुलपति, प्रो0 डॉ0 प्रीति बजाज ने सम्मेलन की व्यवस्था की प्रशंसा की और बताया कि सम्मेलन अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन के सभी मानकों को पूरा करता है। जीसीईटी के निदेशक प्रो0 डॉ0 बृजेश सिंह ने सम्मेलन के उद्घाटन समारोह में सभी मेहमानों का स्वागत किया।

मुख्य अतिथि पूर्व कुलपति प्रो डॉ0 एस.एन. सिंह, , एमएमएमयूटी, गोरखपुर, डॉ0 फाल्गुनी गुप्ता, कुलपति, जीएलए मथुरा, प्रो0 डॉ0 राजीव सक्सेना, कुलपति, जेपी विश्वविद्यालय, अनूपशहर, ने इस सम्मेलन को अद्भुत घटना बताते हुए शोधकर्ताओं और टेक्नोक्रेट के बीच आईईईई,सम्मेलन के महत्व को भी समझाया।
गेस्ट ऑफ ऑनर प्रो0 डॉ0 सतीश कुमार सिंह, आईआईआईटी, इलाहाबाद, प्रो0 डॉ0 आशीष कुमार सिंह, एमएनएनआईटी, इलाहाबाद, प्रो डॉ0 मलय किशोर दत्ता, डीन पीजी स्टडीज एंड रिसर्च, एकेटीयू, लखनऊ, प्रो डॉ0 प्रभाकर तिवारी, एमएमएमयूटी, गोरखपुर सचिव, आईईईई यूपी अपने अनुभव और विशेषज्ञता को साझा करने के लिए सम्मेलन में विशेष रूप से उपस्थित थे। प्रो0 डॉ0 विष्णु शर्मा के अनुसार सम्मेलन को व्यापक रूप से 14 तकनीकी ट्रैकों में वर्गीकृत किया गया था । जो कि प्रमुख रूप से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, डेटा साइंस, मशीन लर्निंग, डीप लर्निंग को कवर करते थे। और साइबर सुरक्षा और क्लाउड कम्प्यूटिंग सभी ट्रैक के तकनीकी रूप से बहुत समकालीन थे।प्रस्तुतकर्ताओं द्वारा 25 सत्रों में पेपर प्रस्तुति का आयोजन किया गया था। सम्मेलन ICAC3N-2020 को दुनिया भर से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली। और रूस, पेरू, संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस), ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी, दक्षिण अफ्रीका, मॉरीशस, सऊदी अरब, कनाडा, आयरलैंड जैसे कई देशों से 600 से अधिक शोध पत्र प्राप्त हुए हैं। बांग्लादेश, श्रीलंका, तंजानिया, चीन, मिस्र, कोरिया, स्पेन, नेपाल और भारत सहित दुनिया भर के प्रतिष्ठित वक्ताओं द्वारा सम्मेलन में 14 , कीनोट अभिभाषण प्रस्तुत किए गए। सभी प्रतिभागियों ने सम्मेलन के प्रत्येक क्षण का आनंद लिया और बहुत सी महत्वपूर्ण जानकारीयां साझा की। कॉलेज प्रवक्ता एवं मीडिया प्रभारी श्रीशांत शर्मा ने बताया कि यह एक सफल सम्मलेन रहा। और काॅलेज प्रबंधन इस तरह के प्रतिष्ठित एवं ज्ञानवर्धक सम्मलेन के लिए प्रतिबद्ध है। सम्मेलन को सफल बनाने में विभागीय शिक्षकों का एक महत्वपूर्ण योगदान रहा।

यह भी देखे:-

बिमटेक में वार्षिक खुदरा सम्मेलन 2020 का आयोजन 
शारदा विश्वविध्यालय : मीडिया पाठ्यक्रम में व्यवहारिक पहलुओं पर फोकस ज़रूरी
स्कूलों व शैक्षणिक संस्थानों में धूमधाम से मनाया गया गणतंत्र दिवस , देखें झलकियाँ
एबीवीपी के प्रांत अधिवेशन में नवीन कार्यकारिणी की घोषणा
Ryanite Ameishi Raghu Awarded at HT Peace Essay Writing Competition
जी डी गोयनका पब्लिक स्कूल : ऑनलाइन मेडली: द इंटर स्कूल एक्जामिक चैंपियनशिप
एकेटीयू की मेरिट लिस्ट में जीएनआइओटी ग्रुप के छात्रों ने नाम रोशन किया
जी. डी. गोयंका में ऑनलाइन कक्षा का आयोजन
शारदा विश्वविद्यालय क्रिप्टोलॉजी पर तीन दिवसीय कार्यशाला आयोजित
शारदा विश्विद्यालय में धूमधाम से मना स्वतंत्रता दिवस सामारोह
जीएल बजाज में मैनेजमेण्ट प्रेक्टिसेस फार सस्टेनेबिलिटी पर अंतरष्ट्रीय सेमिनार
हिमालय क्षेत्र में बढ़े टूटे और लटके हुए ग्लेशियर, तबाह कर सकते हैं नदी किनारे बसे गांव और शहर
आखिर फेफड़े क्यों हो जाते हैं काले? जानिए इसके कारण, लक्षण और बचाव के उपाय
युनाइटेड कॉलेज मे 200 पौधो का हुआ वृक्षारोपण
शारदा विश्वविद्यालय में सांस्कृतिक महोत्सव "CHORUS 2017 " नौ नवम्बर से
एनआईईटी कॉलेज में “वेल्डिंग तकनीकी में विकास” विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन