बिहार चुनाव 2020: BJP में हलचल शुरू, कामेश्वर चौपल हो सकते हैं अगले डिप्टी CM

पटना: बिहार में एक बार फिर एनडीए की सरकार बनने जा रही है. लेकिन इससे पहले सरकार गठन की कवायद को लेकर दिल्ली से राजधानी पटना तक बैठकों को दौर जारी है. शुक्रवार को एनडीए की बैठक होनी है और इसमें सरकार के गठन और शपथ ग्रहण समारोह को चर्चा हो सकती है. इसके साथ ही बैठक में आधिकारिक तौर पर नीतीश कुमार के नाम का ऐलान सीएम के तौर पर हो सकता है.

वहीं, रिपोर्ट्स के अनुसार, बीजेपी बिहार में कामेश्वर चौपाल को अगला डिप्टी सीएम बना सकती है. इस बात के संकेत बिहार बीजेपी में मिलने शुरू हो गए हैं. इन कयासों के बीच कामेश्वर चौपाल का बयान डिप्टी सीएम पद को लेकर सामने आया है. कामेश्वर चौपाल ने कहा, ‘पार्टी का कार्यकर्ता हूं, पार्टी जो भी जिम्मेदारी देगी मुझे स्वीकार है.’

कौन हैं कामेश्वर चौपाल
कामेश्वर चौपाल बिहार के सुपौल जिले के रहने वाले हैं जो मिथिला इलाके में पड़ता है. हिंदू धर्म में मिथिला इलाके को सीता का घर भी कहा जाता है. ओपेन मैगजीन में प्रकाशित एक रिपोर्ट में कामेश्वर चौपाल ने बताया था- ”हम लोग जब बड़े हो रहे थे तो राम को अपना रिश्तेदार मानते थे. उनके मुताबिक मिथिला इलाके में शादी के दौरान वर-वधु को राम-सीता के प्रतीकात्मतक रूप में देखने की प्रथा है.”

कामेश्वर का गांव कोशी नदी के किनारे पड़ता है. कामेश्वर ने अपनी पढ़ाई लिखाई मधुबनी जिले में की. यहीं पर कामेश्वर संघ के संपर्क में आए. उनके एक अध्यापक संघ के कार्यकर्ता हुआ करते थे. यहीं से कामेश्वर ने हाईस्कूल तक की शिक्षा हासिल की. संघ से जुड़े उस अध्यापक की ही मदद से कामेश्वर को कॉलेज में दाखिला मिला.

राजनीतिक शुरुआत
पार्टी के आदेश पर कामेश्वर ने 1991 में राम विलास पासवान के खिलाफ चुनाव लड़ा था. लेकिन वो चुनाव हार गए. साल 2002 में वो बिहार विधान परिषद के सदस्य बने. 2014 में भी वो पार्टी के टिकट पर संसदीय चुनाव में रंजीता रंजन के खिलाफ चुनावी मैदान में खड़े हुए थे. लेकिन उन्हें वैसी कामयाबी नहीं हासिल हुई.

यह भी देखे:-

पीएम मोदी ने कहा, कोरोना से लड़ेंगे और जीतेंगे , नोएडा समेत कोलकोता व मुंबई में  HI TECH Corona Test...
आदर्श आचार सहिंता लागू होते ही हटने लगे राजनीतिक होर्डिंग्स व पोस्टर
सीएम योगी आदित्यनाथ के फोटो से छेड़छाड़: फेसबुक पर आपत्तिजनक कमेंट करने पर युवक अरेस्ट
UNCCD COP14:"सिंगल यूज प्लास्टिक को अलविदा कहने का वक्त आ गया है":पीएम मोदी
सुषमा स्वराज ने बुलाई सर्वदलीय बैठक
खुशखबरी : मार्च से लगेगा बुजुर्गों को भी कोरोना का टीका।
बजट 2018 : WIFI के लिए सरकार ने की घोषणा
रांची :" सड़क पर नहीं पढ़ेंगे नमाज" : मौलाना उबैदुल्लाह
ऐंटी बीजेपी वोटों को बांटकर बीजेपी की मदद कर रही है कांग्रेस - केजरीवाल
कोरोना से मशहूर शायर राहत इंदौरी का निधन 
वायुसेना की कार्रवाई में जैश के कमांडरों समेत कई आतंकी मारे गए- विदेश सचिव
'मुझे बेटे पर गर्व है, उम्मीद है वह सही सलामत वापस लौटेंगे' - विंग कमांडर अभिनंदन के पिता
लोकसभा चुनाव 2019: सीपीआई के खोते जनाधार को कन्हैया का सहारा
कोरोना को लेकर PM मोदी के प्रयासों को WHO ने सराहा, कहा- भारत में तेजी से हुई रोकथाम
जर्मनी के वैज्ञानिकों का दावा, कोरोना कहा से आया, पढ़े पूरी खबर
पाकिस्तानी हैकर्स ने किया साइबर अटैक, 100 से ज्यादा वेबसाइट हैक