गांधी एक भरोसा,तो शास्त्री एक विश्वास भारत माता के दो लाल: चेतन वशिष्ठ

(विशेष संकलन) :2 October आज ही के दिन भारत के दो ऐसे महान सपूतों का जन्मदिन हुआ है जिन्होंने अपने महान कर्मों से पूरे हिंदुस्तान को अपना कर्जदार बना लिया। हम बात कर रहे हैं बापू महात्मा गांधी और देश के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की।

जय जवान जय किसान

देश की स्वतंत्रता में बापू के अहिंसक संघर्ष का महत्वपूर्ण योगदान है तो वहीं भारत को ‘जय जवान जय किसान’ का नारा देने वाले देश के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने इस योगदान को जाया नहीं होने दिया है, उन्होंने लोगों को यह बताया कि अगर आप चाह लें, तो आप कुछ भी कर सकते हैं, बशर्ते कि आप की नियत पाक-साफ हो।

लाल बहादुर शास्त्री
लाल बहादुर शास्त्री जी का जन्म 2 अक्टूबर 1904 में उत्तर प्रदेश के मुगलसराय में हुआ था। वह गांधी जी के विचारों और जीवनशैली से बेहद प्रेरित थे। उन्होने गांधी जी के असहयोग आंदोलन के समय देश सेवा का व्रत लिया था और देश की राजनीति में कूद पड़े थे।

1 दिन व्रत रखने की अपील
बापू के आदर्शों पर चलने वाले लाल बहादुर ने उस समय अपना नाम सुनहरे शब्दों में अंकित कर लिया जब देश के कई हिस्सों में भयानक अकाल पड़ा था। उस समय शास्त्री जी ने देश के सभी लोगों को खाना मिल सके इसके लिए सभी देशवासियों से हफ्ते में 1 दिन व्रत रखने की अपील की थी। आज सशरीर शास्त्री हमारे बीच न सही लेकिन उनके आदर्श हमारे बीच में जिंदा है…इसलिए वो ना होकर भी हमारे बीच मौजूद हैं।

विदेशियों के लिए भी गांधी आदर्श
गांधी जी से केवल भारतीय ही प्रभावित नहीं थे बल्कि विदेशों में भी गांधी जी के आदर्शों को माना जाता रहा है।   साबरमती के इस संत ने अपने अहिंसावादी नीतियों से यह जता दिया कि इंसान अगर अपने आप पर भरोसा कर ले तो जीवन की हर कठिनाइयों का सामना वो कर सकता है।

गांधी एक भरोसा…तो शास्त्री एक विश्वास
महात्मा गांधी एक वयक्तित्व नहीं बल्कि एक भरोसा और विश्वास हैं, जो हर इंसान के अंदर मौजूद है…वो एक वचन है जो हर कसम में साथ होते हैं… तो वहीं शास्त्री एक शपथ हैं जो हमें अपने कर्तव्यों का एहसास दिलाते हैं कि हम कुछ भी कर सकते हैं..इसलिए यह दोनों हमसे तो कभी अलग हो ही नहीं सकते..यह दोनों यहीं हैं हमारे पास..हमारे बीच.. हमारे साथ.

संकलनकर्ता चेतन वशिष्ट भाजपा युवा मोर्चा नेता पूर्व प्रांत संयोजक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद

यह भी देखे:-

अंतिम चरण के चुनाव में आयोग के सामने होंगी कई बड़ी चुनौतियां, कोरोना से बिगड़ते हालात के बीच पड़ेंगे...
यमुना प्राधिकरण के पूर्व सीईओ पीसी गुप्ता पर सीबीआई का शिकंजा
यूपी के हर जिले में होगी फ्री आईएएस आईपीएस की कोचिंग, सीएम योगी ने की घोषणा
वर्चुअल मोड पर आयोजित दूसरे आईएचजीएफ टेक्सटाइल मेले का सफल समापन
कल 25 जनवरी को होगा राष्ट्रीय मतदाता दिवस का आयोजन
दनकौर में हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने वीर शहीद चन्द्रशेखर आजाद की मनाई पुण्यतिथि
तेजी से पिघल रही है भारत- पाकिस्‍तान के रिश्‍तों की बर्फ, जानें और क्‍या हो सकता है आगे
अनियंत्रित होकर ट्राला पलटा, राहगीरों को हुई परेशानी
NVSP या Voter Help Line के माध्यम से कर सकते हैं मतदाता अपने फोटो पहचान पत्र डाउनलोड
स्काइलाइन इंस्टिट्यूट ऑफ़ फार्मेसी में फ्रेशर्स पार्टी का आयोजन
चेन्नई के जूलॉजिकल पॉर्क में कोरोना के डेल्टा वैरिएंट ने दी दस्तक, चार शेर पाए गए संक्रमित
जीबीयू में कोरोना के साये में सामाजिक दूरी के साथ बुद्ध पूर्णिमा (वैशाख दिवस) मनाया
ट्राई ने कहा: नियम नहीं माने तो एक अप्रैल से ओटीपी नहीं भेज सकेंगे बैंक
कराटे बेल्ट एग्जाम में बच्चों ने दिखाई प्रतिभा
बिहार चुनाव:23 अक्टूबर को गया से प्रधानमंत्री मोदी करेंगे एक्चुअल रैली का आगाज
दिल्ली : होटल में प्रेमी युगल ने जहर खाकर दी जान, लड़की के परिजन कहीं और कर रहे थे शादी