गांधी एक भरोसा,तो शास्त्री एक विश्वास भारत माता के दो लाल: चेतन वशिष्ठ

(विशेष संकलन) :2 October आज ही के दिन भारत के दो ऐसे महान सपूतों का जन्मदिन हुआ है जिन्होंने अपने महान कर्मों से पूरे हिंदुस्तान को अपना कर्जदार बना लिया। हम बात कर रहे हैं बापू महात्मा गांधी और देश के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की।

जय जवान जय किसान

देश की स्वतंत्रता में बापू के अहिंसक संघर्ष का महत्वपूर्ण योगदान है तो वहीं भारत को ‘जय जवान जय किसान’ का नारा देने वाले देश के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने इस योगदान को जाया नहीं होने दिया है, उन्होंने लोगों को यह बताया कि अगर आप चाह लें, तो आप कुछ भी कर सकते हैं, बशर्ते कि आप की नियत पाक-साफ हो।

लाल बहादुर शास्त्री
लाल बहादुर शास्त्री जी का जन्म 2 अक्टूबर 1904 में उत्तर प्रदेश के मुगलसराय में हुआ था। वह गांधी जी के विचारों और जीवनशैली से बेहद प्रेरित थे। उन्होने गांधी जी के असहयोग आंदोलन के समय देश सेवा का व्रत लिया था और देश की राजनीति में कूद पड़े थे।

1 दिन व्रत रखने की अपील
बापू के आदर्शों पर चलने वाले लाल बहादुर ने उस समय अपना नाम सुनहरे शब्दों में अंकित कर लिया जब देश के कई हिस्सों में भयानक अकाल पड़ा था। उस समय शास्त्री जी ने देश के सभी लोगों को खाना मिल सके इसके लिए सभी देशवासियों से हफ्ते में 1 दिन व्रत रखने की अपील की थी। आज सशरीर शास्त्री हमारे बीच न सही लेकिन उनके आदर्श हमारे बीच में जिंदा है…इसलिए वो ना होकर भी हमारे बीच मौजूद हैं।

विदेशियों के लिए भी गांधी आदर्श
गांधी जी से केवल भारतीय ही प्रभावित नहीं थे बल्कि विदेशों में भी गांधी जी के आदर्शों को माना जाता रहा है।   साबरमती के इस संत ने अपने अहिंसावादी नीतियों से यह जता दिया कि इंसान अगर अपने आप पर भरोसा कर ले तो जीवन की हर कठिनाइयों का सामना वो कर सकता है।

गांधी एक भरोसा…तो शास्त्री एक विश्वास
महात्मा गांधी एक वयक्तित्व नहीं बल्कि एक भरोसा और विश्वास हैं, जो हर इंसान के अंदर मौजूद है…वो एक वचन है जो हर कसम में साथ होते हैं… तो वहीं शास्त्री एक शपथ हैं जो हमें अपने कर्तव्यों का एहसास दिलाते हैं कि हम कुछ भी कर सकते हैं..इसलिए यह दोनों हमसे तो कभी अलग हो ही नहीं सकते..यह दोनों यहीं हैं हमारे पास..हमारे बीच.. हमारे साथ.

संकलनकर्ता चेतन वशिष्ट भाजपा युवा मोर्चा नेता पूर्व प्रांत संयोजक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद

यह भी देखे:-

एनटीपीसी दादरी: प्लास्टिक के दुष्परिणाम को लेकर चलाया अभियान
ग्रेटर नोएडा में 'गंगा जमुनी कवि सम्मेलन' 7 मार्च को
जरुर पढ़ें . उत्तर प्रदेश में LOCK DOWN 4 के दौरान रेड जोन में और की जाएगी सख्ती, दिशा-निर्देश जारी
इतनी सस्ती नहीं... टैक्स चोरी मामले में IT रेड पर तापसी पन्नू ने तोड़ी चुप्पी, आरोपों का ऐसे दिया जव...
एनटीपीसी ने 202 ग्रामीण छात्राओं को साईकिल वितरण की
ग्रेटर नोएडा : नवमी पर मां दुर्गा के दर्शनों को काली बाड़ी उमड़े श्रद्धालु, माँ सिद्धदात्री की हुई पू...
जानिए लोकसभा चुनाव गौतम बुध नगर में दोपहर 3:00 बजे तक का मतदान प्रतिशत क्या रहा
बढ़ती जनसंख्या और घटते संसाधनों के विरोध में पदयात्रा का आयोजन
"आवर लाइफ एक्सपीरिएन्सेस" विषय पर जीएल बजाज संस्थान में हुई पैनल चर्चा
ग्रेटर नोएडा जाना हुआ और आसान, इस पुल से जोड़ी गई है नोएडा की सड़क
रोटरी क्लब ने श्री कृष्णा लाइफ़लाइन हॉस्पिटल के सहयोग से लगाया हेल्थ चेकअप कैंप
28  साल बाद आया  बाबरी विध्वंस केस का फैसला , आडवाणी, जोशी समेत सभी आरोपी बाइज्जत  बरी 
ग्राफिक्स डिजाइनर और छात्रा समेत छह लोगों ने दी जान
"एक अध्यापक ही अच्छे राष्ट्र का निर्माण करता है" : दीप चंद्रा
गेहूं की तोल नहीं होने से किसान परेशान, आंदोलन की चेतावनी
11 दिन का नन्हा बना करोना फाइटर