ग्रेटर नोएडा में अब रोबोट करेगा सीवर की सफाई 

ग्रेटर नोएडा में रोबोट से होगी सीवर की सफाई, शहरवासियों को सीवर के ओवरफ्लो होने की समस्या से निजात दिलाएगी सुपर सकर मशीन

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण शहर की व्यवस्थाएं भी विश्वस्तरीय करने की शुरुआत की दी है। शहर में सीवर की सफाई अब रोबोट से की जाएगी। इसकी शुरुआत प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण और जिला संचारी रोग नियंत्रण के नोडल ऑफिसर ने आवासीय सेक्टर डेल्टा-दो में की। इसके साथ ही ग्रेटर नोएडा रोबोट के माध्यम से सीवर की सफाई करने वाला उत्तर प्रदेश और दिल्ली एनसीआर क्षेत्र का पहला शहर बन गया है।

अथॉरिटी के सीईओ नरेंद्र भूषण ने बतया कि शहर में फिलहाल 10 लाख लोग निवासी कर रहे हैं। अगले 10 वर्षों में शहर की आबादी 25 लाख होने का अनुमान है। यहां तमाम राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय संस्थाएं काम कर रही हैं। भविष्य में इनकी संख्या में भी इजाफा होगा, जिनमें दुनियाभर के लोग काम करने के लिए यहां आएंगे। इसलिए उनका मकसद शहर के विकास को भी विश्वस्तरीय बनाना है। उन्होंने बताया कि शहर में सीवर की सफाई का काम अब अत्याधुनिक रोबोट के जरिये कराया जाएगा। यह कदम सफाई कर्मचारियों की सुरक्षा के मद्देनजर उठाया गया है। उन्होंने बताया कि ग्रेटर नोएडा रोबोट के माध्यम से सीवर की सफाई करने वाला उत्तर प्रदेश और दिल्ली एनसीआर क्षेत्र का पहला शहर बन गया है।

सीईओ नरेंद्र भूषण ने बताया कि यह रोबोट जमीन से 8 मीटर नीचे स्थित मेन होल, स्लज एवं ब्लाकेज की सफाई कर सकता है। इसमें एक स्वचालित कैमरा भी लगा हुआ है, जिसके माध्यम से पाइप में प्लग तथा ब्लाकेज की सूचना डैशबोर्ड पर उपलब्ध हो जायेगी। इस रोबोट के तैनात हो होने के बाद किसी भी सफाई कर्मचारी को मेन होल में नहीं उतरना पड़ेगा। यह एक दिन में कम से 10 मेन होल के गंदगी की सफाई में सक्षम होगा। रोबोट द्वारा सीवर सफाई के समय निकलने वाली जहरीली गैस की जानकारी भी उसके डैश बोर्ड पर प्रदर्शित हो जायेगी। इस रोबोट पर 40 लाख रुपये खर्च किए गए हैं। अभी तक इस तरह के रोबोट से हैदराबाद, केरल, आसाम और तमिलनाडु में सीवर की सफाई की जा रही है।

सीईओ ने बताया कि अथॉरिटी ने शहरवासियों को सीवर के ओवरफ्लो होने की समस्या से निजात दिलाने के लिए सुपर सकर मशीन भी खरीदी है। इस पर 1.20 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। सुपर सकर मशीन में दो डम्प टैंक होंगे। वर्तमान में जब पंम्प द्वारा सीवर लेन को खाली किया जाता है तो पानी चारो तरफ बिखर जाता है, जिससे गंदगी तथा बीमारी फैलने की सम्भावना बनी रहती है। इस तरह की समस्याओं से निजात पाने के लिय सुपर सकर मशीन का प्रयोग किया जायेगा। उन्होंने बताया कि शहर में सीवर से संबंधित सभी समस्याओं के निस्तारण के लिए प्राधिकरण ने विशेष इन्टीग्रेटेड कन्ट्रोल रूम की स्थापना की है। निवासी सीवर संबंधी शिकायतें मोबाइल नंबर 8595810523 एवं 8595814470 पर दर्ज करा सकते हैं।

यह भी देखे:-

Covid 19 Vaccination Drive: भाजपा के सांसदों और मंत्रियों को अपने-अपने क्षेत्र में टीका लगवाने का नि...
"GACS का एक और मंथन कार्यक्रम " 15 फ़रवरी को
रोटरी क्लब ग्रीन ग्रेटर नोएडा के रक्तदान शिविर में 84 यूनिट रक्त एकत्र हुआ
Poster making , Nurturing plants on world Environment day celebrated in Ryan International School
गौतमबुद्ध नगर कोरोना अपडेट : जानिए किन इलाकों से आए 17 कोरोना पॉजिटिव मरीज , गाँव में भी कोरोना की द...
बीजेपी ने बूथ स्तर पर मनाया अम्बेडकर जयंती
यूपी पंचायत चुनाव: मैनपुरी में मुलायम सिंह की भतीजी संध्या यादव ने भाजपा के टिकट पर किया नामांकन
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के स्थापना दिवस पर निर्धन बच्चों में फलों का वितरण
Petrol Diesel Price: राहत के बाद झटका,फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम
ओम्कारेश्वर ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग का आवाहन करते हुए संकट मोचन महायज्ञ श्री बालाजी महाराज को समर्पित ...
कोरोना के बढ़ते मामलों पर बैठक में प्रधानमंत्री ने किया आह्वान, वैक्सीन और दवा उत्पादन में लगा दें प...
लॉकडाउन के बीच उत्तर प्रदेश में खुली बियर की दुकानें, समय निर्धारित  
इस देश में भुखमरी की चपेट में 2.7 करोड़ से अधिक लोग, संयुक्त राष्ट्र की एजेंसियों ने की यह अपील
भारत में पहली बार वर्चुअल मेले IFJAS का आगाज, हस्तशिल्प निर्यातकों के लिए EPCH ने व्यवसाय का अवसर खो...
फोर्स के लिए क्यों और कैसे पहेली बना नक्सली मास्टरमाइंड हिड़मा?
Lko- CM योगी ने लखनऊ में कोविड के बढ़ते मामलों के मद्देनजर मातहतों के साथ की बैठक, दिशा निर्देश जारी-