ग्रेटर नोएडा में अब रोबोट करेगा सीवर की सफाई 

ग्रेटर नोएडा में रोबोट से होगी सीवर की सफाई, शहरवासियों को सीवर के ओवरफ्लो होने की समस्या से निजात दिलाएगी सुपर सकर मशीन

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण शहर की व्यवस्थाएं भी विश्वस्तरीय करने की शुरुआत की दी है। शहर में सीवर की सफाई अब रोबोट से की जाएगी। इसकी शुरुआत प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण और जिला संचारी रोग नियंत्रण के नोडल ऑफिसर ने आवासीय सेक्टर डेल्टा-दो में की। इसके साथ ही ग्रेटर नोएडा रोबोट के माध्यम से सीवर की सफाई करने वाला उत्तर प्रदेश और दिल्ली एनसीआर क्षेत्र का पहला शहर बन गया है।

अथॉरिटी के सीईओ नरेंद्र भूषण ने बतया कि शहर में फिलहाल 10 लाख लोग निवासी कर रहे हैं। अगले 10 वर्षों में शहर की आबादी 25 लाख होने का अनुमान है। यहां तमाम राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय संस्थाएं काम कर रही हैं। भविष्य में इनकी संख्या में भी इजाफा होगा, जिनमें दुनियाभर के लोग काम करने के लिए यहां आएंगे। इसलिए उनका मकसद शहर के विकास को भी विश्वस्तरीय बनाना है। उन्होंने बताया कि शहर में सीवर की सफाई का काम अब अत्याधुनिक रोबोट के जरिये कराया जाएगा। यह कदम सफाई कर्मचारियों की सुरक्षा के मद्देनजर उठाया गया है। उन्होंने बताया कि ग्रेटर नोएडा रोबोट के माध्यम से सीवर की सफाई करने वाला उत्तर प्रदेश और दिल्ली एनसीआर क्षेत्र का पहला शहर बन गया है।

सीईओ नरेंद्र भूषण ने बताया कि यह रोबोट जमीन से 8 मीटर नीचे स्थित मेन होल, स्लज एवं ब्लाकेज की सफाई कर सकता है। इसमें एक स्वचालित कैमरा भी लगा हुआ है, जिसके माध्यम से पाइप में प्लग तथा ब्लाकेज की सूचना डैशबोर्ड पर उपलब्ध हो जायेगी। इस रोबोट के तैनात हो होने के बाद किसी भी सफाई कर्मचारी को मेन होल में नहीं उतरना पड़ेगा। यह एक दिन में कम से 10 मेन होल के गंदगी की सफाई में सक्षम होगा। रोबोट द्वारा सीवर सफाई के समय निकलने वाली जहरीली गैस की जानकारी भी उसके डैश बोर्ड पर प्रदर्शित हो जायेगी। इस रोबोट पर 40 लाख रुपये खर्च किए गए हैं। अभी तक इस तरह के रोबोट से हैदराबाद, केरल, आसाम और तमिलनाडु में सीवर की सफाई की जा रही है।

सीईओ ने बताया कि अथॉरिटी ने शहरवासियों को सीवर के ओवरफ्लो होने की समस्या से निजात दिलाने के लिए सुपर सकर मशीन भी खरीदी है। इस पर 1.20 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। सुपर सकर मशीन में दो डम्प टैंक होंगे। वर्तमान में जब पंम्प द्वारा सीवर लेन को खाली किया जाता है तो पानी चारो तरफ बिखर जाता है, जिससे गंदगी तथा बीमारी फैलने की सम्भावना बनी रहती है। इस तरह की समस्याओं से निजात पाने के लिय सुपर सकर मशीन का प्रयोग किया जायेगा। उन्होंने बताया कि शहर में सीवर से संबंधित सभी समस्याओं के निस्तारण के लिए प्राधिकरण ने विशेष इन्टीग्रेटेड कन्ट्रोल रूम की स्थापना की है। निवासी सीवर संबंधी शिकायतें मोबाइल नंबर 8595810523 एवं 8595814470 पर दर्ज करा सकते हैं।

यह भी देखे:-

दो पुलिसकर्मी हुए लाइन हाज़िर , जानिए क्यों
वर्चुअल आर्ट एग्जीबिशन देखें Indigalleria.com पर कल 15 अगस्त से 
सिटी हार्ट अकादमी में मनाई गईं लोहरी पर्व व स्वामी विवेकानंद जन्मोत्सव
भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए लोकायुक्त प्रशासन का ठोस कदम
शारदा यूनिवर्सिटी में एनपीसी नवोन्मेष बिजनेस-2018 का आयोजन
आज का पंचांग 9 जून 2020, जानिए शुभ और अशुभ मुहूर्त
गलगोटियाज विश्वविद्यालय में कोविड -19 पर एक ऑनलाइन वेबिनार साप्ताहिक व्याख्यान
कम्पनी कर्मी ने फांसी लगाकर की ख़ुदकुशी
जीवमात्र की निःस्वार्थ सेवा ही परमेश्वर की सच्ची सेवा है ...
ग्रेटर नोएडा : ट्रैक्टर- ऑटो में भिड़ंत इंजीनियरिंग के छात्र की मौत
धरने पर बैठने जा रहे कांग्रेस जिलाध्यक्ष मनोज चौधरी को पुलिस ने रोका, प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू...
बाइक बोट के मुख्यारोपी की जमानत खारिज
सरकार किसानों की दुश्मन : शाकिर पठान
जिला गौतमबुद्ध नगर में CONTAINMENT ZONE की नई सूची जारी
अलग-अलग सड़क हादसों में चार की गई जान
योगा वैलनेस फेस्टिवल में बोले कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही, “हर ब्लाक का पायलट प्रोजेक्ट होगा जैविक...