5 पुलिसवालों की लाशों को एक के ऊपर एक रखकर जलाना चाहता था,विकास दुबे

New Delhi: आरोपी विकास दुबे (Vikas Dubey) को मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया गया है. कुख्यात अपराधी विकास दुबे से मध्य प्रदेश पुलिस पूछताछ कर रही है. सूत्रों के मुताबिक, विकास दुबे ने पुलिस को बताया कि उसे डर था कि पुलिस उसका एनकाउंटर करने आ रही है. इस वजह से उसने फायरिंग की. उसने यह भी कबूला है कि पुलिस के लोग उसके संपर्क में थे और उन्होंने ही रेड की जानकारी दी थी.

सूत्रों के मुताबिक, विकास को पुलिस के छापेमारी की खबर पहले से होने के कारण उसने अपने दोस्तों को बुला लिया था. उसने अपने साथियों को खतरा होने की बात कहकर हथियार साथ में लाने की बात कही थी. विकास ने पुलिस को बताया कि आमतौर पर उसके साथी वैसे भी हथियार लेकर ही आसपास जाते थे. लेकिन घटना के एक दिन पहले ही उसने लोगों को बोल दिया था कि हथियार लेकर ही आएं. विकास दुबे ने पुलिस के लूटे हुए हथियारों के बारे में भी जानकारी दी है और कहा कि वह उस जगह को दिखा सकता है.
सबूत मिटाने की प्लानिंग
सूत्रों की मानें तो विकास ने बताया कि घटना के बाद घर के ठीक बगल में कुंए के पास पांच पुलिसवालों की लाशों को एक के ऊपर एक रखा गया था, जिससे उनमें आग लगा कर सबूत नष्ट कर दिए जाएं. आग लगाने के लिये घर में गैलनों में तेल रखा गया था. एक पचास लीटर के गैलन में तेल से जलाने का इरादा था. लेकिन लाशें इकट्टठा करने के बाद उसे मौका नहीं मिला और वो फरार हो गया.

सीओ देवेंद्र मिश्र से थी अनबन
विकास ने पुलिस को बताया कि देवेंद्र मिश्र से मेरी नहीं बनती थी. कई बार वो मुझे देख लेने की धमकी दे चुके थे. हमारी कई बार बहस भी हुई थी. इंस्‍पेक्‍टर विनय तिवारी ने भी बताया था कि सीओ तुम्हारे खिलाफ है, लिहाजा मुझे सीओ पर गुस्सा था. विकास ने पुलिस को बताया कि सीओ को सामने के मकान में मारा गया था. उसने कहा कि सीओ को उसने नहीं मारा था. उसने बताया कि सीओ के पांव पर भी उसके साथियों ने वार किया था. क्योंकि मुझे पता चला था कि सीओ बोलते थे कि विकास का एक पैर गड़बड़ है, दूसरा भी सही कर दूंगा. सूत्रों के अनुसार, उसने बताया कि सीओ का गला नहीं काटा था, गोली पास से सिर में मारी गई थी. इसलिये आधा चेहरा फट गया था.
विकास ने कहा कि उसे सूचना मिली थी कि 3 थानों की पुलिस दबिश देने आ रही थी. उसने उन सब पर निशाना साधने के लिए छतों पर अपने गैंग के लोगों को तैनात किया था. जब पुलिस आई तो गांव के मुखबिर ने फोन करके जानकारी दी कि पुलिस की गाड़ियां गांव में आ चुकी हैं. जिसके बाद सब अलर्ट हो गए.

यह भी देखे:-

covid-19:मुख्यमंत्री से शराब के ठेके बंद करवाने का किया अपील
दो रूपये के सिक्के की मदद से बदमाश लूट लेते थे ट्रेन
बैटरी फटने से होमगार्ड के घर में लगी आग
राजधानी में बम होने की सूचना से मचा हड़कंप
पुलिस एनकाउंटर में घायल हुआ वांटेड इनामी बदमाश, दो गिरफ्तार
अब वरिष्ठ समाजसेवी अन्ना हजारे किसानों को हक़ दिलाएंगे
गौरव चंदेल के परिवार के साथ हर समय हर परिस्थितियों में खड़ा हूँ : डॉ. महेश शर्मा
कैलाश मासूम की फिल्म लिखेंगे रंजीत कपूर
ग्रेटर नोएडा में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, दो लड़की समेत 6 गिरफ्तार, गेस्ट हाउस में चल रहा था देह व्याप...
राम राज सेवा संस्थान द्वारा श्री हनुमान जन्मोत्सव भव्य आयोजन
जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह के हस्तक्षेप से द्रोण गौशाला दनकौर को मिली बड़ी धनराशी
फैक्ट्रियों में चोरी करने वाले शातिर गिरोह का भंडाफोड़
कोर्ट के आदेश पर 6 लोगों के खिलाफ मारपीट करने का मामला दर्ज
फूल विक्रेता ने दिखाई बहादुरी, चेन लूट कर भाग रहे बदमाशों को पकड़ने का किया प्रयास, बदमाशों ने मारी ग...
सौर ऊर्जा की लाइटों से बैटरी चुराने वाले गिरोह का पर्दाफाश, दो शातिर चोर गिरफ्तार
गौतम बुद्ध नगर कोरोना अपडेट, आज 21 नए लोगो की रिपार्ट आयी पॉजिटिव