5 पुलिसवालों की लाशों को एक के ऊपर एक रखकर जलाना चाहता था,विकास दुबे

New Delhi: आरोपी विकास दुबे (Vikas Dubey) को मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया गया है. कुख्यात अपराधी विकास दुबे से मध्य प्रदेश पुलिस पूछताछ कर रही है. सूत्रों के मुताबिक, विकास दुबे ने पुलिस को बताया कि उसे डर था कि पुलिस उसका एनकाउंटर करने आ रही है. इस वजह से उसने फायरिंग की. उसने यह भी कबूला है कि पुलिस के लोग उसके संपर्क में थे और उन्होंने ही रेड की जानकारी दी थी.

सूत्रों के मुताबिक, विकास को पुलिस के छापेमारी की खबर पहले से होने के कारण उसने अपने दोस्तों को बुला लिया था. उसने अपने साथियों को खतरा होने की बात कहकर हथियार साथ में लाने की बात कही थी. विकास ने पुलिस को बताया कि आमतौर पर उसके साथी वैसे भी हथियार लेकर ही आसपास जाते थे. लेकिन घटना के एक दिन पहले ही उसने लोगों को बोल दिया था कि हथियार लेकर ही आएं. विकास दुबे ने पुलिस के लूटे हुए हथियारों के बारे में भी जानकारी दी है और कहा कि वह उस जगह को दिखा सकता है.
सबूत मिटाने की प्लानिंग
सूत्रों की मानें तो विकास ने बताया कि घटना के बाद घर के ठीक बगल में कुंए के पास पांच पुलिसवालों की लाशों को एक के ऊपर एक रखा गया था, जिससे उनमें आग लगा कर सबूत नष्ट कर दिए जाएं. आग लगाने के लिये घर में गैलनों में तेल रखा गया था. एक पचास लीटर के गैलन में तेल से जलाने का इरादा था. लेकिन लाशें इकट्टठा करने के बाद उसे मौका नहीं मिला और वो फरार हो गया.

सीओ देवेंद्र मिश्र से थी अनबन
विकास ने पुलिस को बताया कि देवेंद्र मिश्र से मेरी नहीं बनती थी. कई बार वो मुझे देख लेने की धमकी दे चुके थे. हमारी कई बार बहस भी हुई थी. इंस्‍पेक्‍टर विनय तिवारी ने भी बताया था कि सीओ तुम्हारे खिलाफ है, लिहाजा मुझे सीओ पर गुस्सा था. विकास ने पुलिस को बताया कि सीओ को सामने के मकान में मारा गया था. उसने कहा कि सीओ को उसने नहीं मारा था. उसने बताया कि सीओ के पांव पर भी उसके साथियों ने वार किया था. क्योंकि मुझे पता चला था कि सीओ बोलते थे कि विकास का एक पैर गड़बड़ है, दूसरा भी सही कर दूंगा. सूत्रों के अनुसार, उसने बताया कि सीओ का गला नहीं काटा था, गोली पास से सिर में मारी गई थी. इसलिये आधा चेहरा फट गया था.
विकास ने कहा कि उसे सूचना मिली थी कि 3 थानों की पुलिस दबिश देने आ रही थी. उसने उन सब पर निशाना साधने के लिए छतों पर अपने गैंग के लोगों को तैनात किया था. जब पुलिस आई तो गांव के मुखबिर ने फोन करके जानकारी दी कि पुलिस की गाड़ियां गांव में आ चुकी हैं. जिसके बाद सब अलर्ट हो गए.

यह भी देखे:-

पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न  प्रणव मुखर्जी का निधन 
जी. डी. गोयंका पब्लिक स्कूल में श्रम दिवस मनाया गया
डराने वाली खबर: कोरोना से मृत्यु दर में देश में पहले नंबर पर पहुंचा पंजाब, महाराष्ट्र को छोड़ा पीछे
किसान आंदोलन के बीच केंद्र का फैसला- खरीफ फसलों पर MSP 50% तक बढ़ाई गई, तिल पर सबसे अधिक 452 रूपए प्...
गुलेल गैंग का पर्दाफ़ाश, दो बदमाश गिरफ्तार, एनसीआर में की 200 से ज्यादा वारदातें
रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर: उपयोग के अनुसार तय की गई बुकिंग की दरें, जानिए पांच घंटे का अधिकतम किराया
ग्रेटर नोएडा : बिसहड़ा में सीएम योगी की जनसभा , प्रियंका पर वार
लखीमपुर खीरी: मुख्यमंत्री योगी ने घटना पर दुख जताया, बोले- जांच हो रही है, दोषियों के खिलाफ सख्त कार...
14 संस्थाओं पर ग्रेनो प्राधिकरण ने लगाया 5.83 लाख का जुर्माना, कूड़े का निस्तारण सही ढंग से न करने प...
'आजादी का अमृत महोत्सव' उद्घाटन करने साबरमती पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
शारदा विश्विद्यालय में जल संरक्षण पर "जल है तो कल है " कार्यक्रम का आयोजन
अखिल भारतीय मिथिला राज्य संघर्ष समिति का जंतर मंतर पर विशाल धरना एवं प्रदर्शन
मायावती ने भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि प्रदेश में सपा की तरह ही जंगलराज
चीन की चाल हुई बेनक़ाब ? LAC पर तैनात किए होवित्जर, मिसाइल
अपनी बालकनी या छत पर स्मार्ट किचन गार्डन लगाएं
त्रिस्तरीय पंचयात चुनाव के तैयारियों की डीएम ने की बैठक, शस्त्र जमा कराने में सुस्ती पर थानों को दो ...