महिलाऔं व बच्चों के सुरक्षा घेरे को मजबूत करना गौतमबुद्ध नगर पुलिस की पहली प्राथमिकता : पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह

नोएडा में महिलाओं और बच्चों को मिली नई धार*
*सीएम योगी की परिकल्पना को नोएडा पुलिस ने पहनाया अमली जामा*
*महिलाऔं व बच्चों के सुरक्षा घेरे को मजबूत करना गौतमबुद्ध नगर पुलिस की पहली प्राथमिकता*
*गौतमबुद्ध नगर पुलिस में डीसीपी और एसीपी महिला सुरक्षा की तैनाती*
*आलोक सिंह*
*पुलिस कमिश्नर, गौतमबुद्ध नगर*
*5 जून 2020,नोयडा*
*( गौतम बुद्ध नगर)* ।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की एक महत्वपूर्ण परिकल्पना को धरातल पर उतारने का कार्य पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह द्वारा किया गया है। उनके द्वारा महिलाओं और बच्चों के खिलाफ अपराधों का संज्ञान लेकर एक विशेष कार्ययोजना तैयार की गई है।इस योजना के तहत अब जनपद गौतमबुद्धनगर में महिला और बाल सुरक्षा की जिम्मेदारी के लिए महिला डीसीपी और एसीपी की तैनाती की जा रही है। पुलिस को इस योजना की बीते काफी समय से प्रतीक्षा थी।
इस योजना की नींव मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा लखनऊ और गौतमबुद्धनगर में पुलिस कमिश्नर प्रणाली की घोषणा करने के दौरान रखी गई थी, जिसको अब अमली जामा पहना दिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने पुलिस कमिश्नर प्रणाली की घोषणा के समय कहा था कि वह इन अधिकारियों से अपेक्षा करते हैं कि वे महिलाओं और बच्चों के खिलाफ अपराधों को रोकने के लिए प्रभावशाली पहल करेंगे। महिलाओं व बच्चों के खिलाफ अपराधों की जांच में शीघ्रता के साथ गुणवत्ता को भी वरियता देंगे।
पुलिस कमिश्नर गौतमबुद्ध नगर आलोक सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के इन निर्देशों की अनुपालन में दिनांक 04.06.2020 से इस योजना को लागू कर दिया गया है।
 *योजना की मुख्य विशेषताएं :*
*1.* प्रत्येक पुलिस स्टेशन में एक महिला सुरक्षा डेस्क और एक महिला इकाई का संचालन किया जाएगा। महिला डेस्क द्वारा ही पुलिस स्टेशन में आने वाली सभी महिलाओं और बच्चों की समस्याओं का सर्वप्रथम संज्ञान लिया जाएगा,जिससे महिलाअेां व बच्चों को अपनी समस्याओं का साझा करने में कोई परेशानी और हिचक ना हो और समस्याओं का विषय के आधार पर  निस्तारण की उचित प्रक्रिया शुरू की जा सके।
*2.* इस योजना के तहत महिला इकाई में दो उप-निरीक्षक, पुरुष और महिला (पुरुष और महिला कांस्टेबल के साथ उनकी मदद के लिए) शामिल होंगे जो विशेष रूप से महिलाओं के खिलाफ अपराधों के सभी मामलों की जांच करेंगे। जांचकर्ताओं के इस समर्पित कैडर को सामयिक, समय पर और सबूत आधारित जांच के लिए विशेष तौर पर प्रशिक्षित किया जाएगा।
*3.* किसी भी जांच अधिकारी को प्रति वर्ष 40 से अधिक मामलों की जांच करने के लिए नहीं दिया जाएगा। गुणवत्ता के साथ ही समय पर जांच सुनिश्चित करने के लिए ही इस दृष्टिकोण को अपनाया गया है।
*4.* एसीपी रैंक के अधिकारी को दहेज हत्या, एससी/एसटी समुदाय के सदस्यों के खिलाफ यौन अपराध की जांच करने की जिम्मेदारी होगी। जबकि एसीपी महिला सुरक्षा को अनैतिक गतिविधियों की रोकथाम अधिनियम के तहत अपराध, किसी भी अन्य जघन्य अपराधों द्वारा महिलाओं के खिलाफ सभी गंभीर अपराधों की जांच की जिम्मेदारी होगी।
*5.* डीसीपी और एसीपी महिला सुरक्षा को महिलाओं के खिलाफ अपराधों के पूरे स्पेक्ट्रम जैसे सभी यौन अपराधों और शादी से संबंधित सभी अपराधों की  बारीकी से निगरानी करने की जिम्मेदारी होगी।
*6.* महिलाओं और बच्चों से संबंधित पूर्व-मौजूदा इकाइयों और सेवाओं जैसे कि महिला सहायता, एंटी-ह्यूमन ट्रैफ़िकिंग यूनिट, विशेष पुलिस किशोर इकाई, 1090 आदि के निगरानी की जिम्मेदारी भी DCP महिला सुरक्षा की होगी। महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा के लिए विभिन्न पहलों के बीच तालमेल बिठाने और पर्यवेक्षण का कार्य भी किया जाएगा।
*7.* नए मॉडल के तहत वैवाहिक विवाद के मामलों में पेशेवर परामर्श सेवाएं प्रदान करने के लिए नॉलेज पार्क पुलिस स्टेशन में एक पारिवारिक विवाद निवारण सेंटर की स्थापना की जा रही है। इसके साथ ही महिलाओं और बाल सुरक्षा के लिए मोबाइल गश्ती वाहनों का बेड़ा भी उपलब्ध कराया जा रहा है।
*8.* इस योजना का उद्देश्य पुलिस और बाल कल्याण समिति, किशोर न्याय बोर्ड, चिकित्सा प्राधिकरण, चाइल्डलाइन और महिलाओं और बच्चों के कल्याण के लिए काम करने वाले विभिन्न गैर सरकारी संगठनों के बीच बेहतर तालमेल बनाना भी होगा।

यह भी देखे:-

किसानों को आबादी भूखंड आवंटित करने की प्रक्रिया अब और हुई पारदर्शी
लखनऊ : स्कूली सामान खरीदने के लिए अभिभावकों के खातों में आज आएंगे 1100 रुपए
गौतमबुद्धनगर में गजेंद्र मावी बने जिलाध्यक्ष, मनोज गुप्ता फिर नोएडा महानगर अध्यक्ष बने
चक्रवाती तूफान यास का असर, इन राज्यों में हो रही झमाझम बारिश, यूपी, बिहार औऱ झारखंड में अलर्ट जारी
PM Modi Varanasi Visit 2021: PM मोदी आज काशी में, रुद्राक्ष समेत 1475 करोड़ की देंगे सौगात
सांसदों-विधायकों के खिलाफ मामला हाईकोर्ट की मंजूरी के बगैर वापस नहीं होगा - सुप्रीम कोर्ट
सीबीएसई 10 वीं के नतीजे घोषित , एक साथ 13 बच्चे हुए टॉप
ग्रेटर नोएडा : बिसहड़ा में सीएम योगी की जनसभा , प्रियंका पर वार
मिर्ची गैंग के तीन बदमाश एनकाउंटर में घायल, एसटीएफ नोएडा का एक सिपाही भी घायल
दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा जल कार्यक्रम : सोलहवां “एवरीथिंग अबाउट वॉटर एक्सपो प्रदर्शनी का उद्घाटन
गौतमबुद्ध नगर के तीन सीटों का 2 PM पर आंकड़ा -
महिला उन्नति संस्थान ने मनाई छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती
बुलंदशहर : पूर्व मंत्री व एमएलसी नरेन्द्र भाटी ने शहीद बीएसफ जवान के परिवार से की मुलाक़ात
दावा: संक्रमण के खिलाफ कोवाक्सिन 78 फीसदी तक असरदार, डेल्टा वैरिएंट पर भी 65.2 फीसदी मारक
Corona Live: 'नए सामान्य' की तरह जीवन में शामिल करें मास्क-स्वास्थ्य मंत्रालय
RWA के प्रतिनिधि मंडल ने ग्रेटर नोएडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी से की मुलाकात, कराया परेशानियों से ...