उद्योग बंधू बैठक : मार्च माह का वेतन कर्मचारियों को दें नहीं तो होगी ये सख्त कार्यवाही

डीएम वार रूम गौतम बुद्ध नगर से।

  • जिलाधिकारी सुहास एल.वाई. ने उद्योग बंधु की बैठक की अध्यक्षता करते हुए दिये आवश्यक दिशा निर्देश।
  • कर्मचारियों और मजदूरों के हितों को ध्यान में रखें जनपद के उद्योग बंधु: डीएम।

कोविड-19 कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए जिलाधिकारी गौतम बुध नगर सुहास एल.वाई. ने कैंप ऑफिस नोएडा के सभागार में उद्योग बंधु के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा कि जनपद गौतम बुध नगर में स्थापित औद्योगिक इकाइयों को देश की कैपिटल के रूप में देखा जाता है और कोविड-19 कोरोना वायरस जैसी महामारी से लड़ने में जनपद गौतम बुद्ध नगर के उद्योग बंधुओं की अहम भूमिका है। अतः जनपद के समस्त बंधुओं के द्वारा अपने अपने कर्मचारियों एवं मजदूरों के हितों का ध्यान रखते हुए मार्च 2020 का वेतन सभी को समय से उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाए, ताकि आपातकाल की स्थिति में कर्मचारियों एवं मजदूरों को अपना जीवन यापन करने में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े। डीएम ने स्पष्ट किया है कि यदि सरकार की मंशा के अनुरूप किसी भी औद्योगिक इकाई के द्वारा मार्च माह का वेतन अपने मजदूरों एवं श्रमिकों को देना संज्ञान में नहीं आएगा तो ऐसे प्रकरण में जिला प्रशासन सख्ती के साथ कार्यवाही सुनिश्चित करेगा।

इस अवसर पर आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में जिलाधिकारी को कोविड-19 कोरोनावायरस के संबंध में उद्योगपतियों की एसोसिएशन के अध्यक्ष ने अपने अपने सुझाव प्रस्तुत किए। उद्योग बंधु प्रतिनिधियों ने डीएम को अवगत कराया कि मार्च का वेतन 90% से अधिक सभी औद्योगिक इकाइयों ने अपने कर्मचारियों को कर दिया गया है परंतु उन्होंने इकाइयां बंद होने पर अप्रैल का वेतन देने के संबंध में अपनी कठिनाइयों के संबंध में जिलाधिकारी को अवगत कराया। इस संबंध में जिलाधिकारी ने कहा कि सभी उद्योग बंधुओं के द्वारा अपने अपने सुझाव एवं समस्या प्रस्तुत करें, ताकि उनकी समस्याओं व सुझाव से भारत सरकार व प्रदेश सरकार को अवगत कराया जा सके।

जिलाधिकारी ने उद्योग बंधु का यह भी आह्वान किया कि इस आपात की स्थिति में आवश्यक वस्तुएं एवं स्वास्थ्य संबंधित वस्तुओं का उत्पादन करने में सावधानी बरतते हुए सोशल डिस्टेंसिंग, फैक्ट्री के अंदर सैनिटाइजेशन एवं कर्मचारियों व मजदूरों से कम से कम काम लिया जाए, ताकि कर्मचारियों को किसी भी तरह की समस्या का सामना ना करना पड़े। उन्होंने इस अवसर पर यह भी कहा कि लॉक डाउन को दृष्टिगत रखते हुए आगामी भविष्य में औद्योगिक इकाइयों को किस प्रकार से संचालित किया जा सकता है। इस संबंध में भी सभी उद्यमी प्रतिनिधियों के माध्यम से सुझाव भी मांगे गए ताकि संबंधित सुझाव उत्तर प्रदेश सरकार एवं भारत सरकार को भेज कर आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित की जा सके। इस महत्वपूर्ण बैठक में उपायुक्त उद्योग केंद्र अन्य संबंधित प्रशासनिक अधिकारियों एवं सम्मानित उद्योग बंधुओं के द्वारा प्रतिभाग किया गया।  —  जारीकर्ता :  जिला सूचना अधिकारी गौतम बुध नगर।

यह भी देखे:-

पूरे शहर को बना रखा है बंधक, अब अंदर घुसना चाहते हैं; -सुप्रीम कोर्ट
मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने दिया रिपोर्ट कार्ड, बोले - 350 से ज्यादा सीटें जीतकर फिर सत्ता में आएंगे
रूस में फिर लौटा लॉकडाउन, रिकॉर्ड संख्या में कोरोना के नए केस और मौतों के बाद 11 दिन की पाबंदी
ग्रेटर नोएडा :संचारी रोग पर लगाम लगाने को ग्रेनो में 18 अक्तूबर से चलेगा दस्तक अभियान
गौतमबुद्ध नगर के नवनियुक्त जिलाधिकारी ने संभाला पदभार, सीजफायर कंपनी को किया सीज
पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष हरेंद्र यादव को पितृ शोक
गौतमबुद्ध नगर पुलिस की चली तबादला एक्सप्रेस, 95 पुलिस उपनिरीक्षक किये गए इधर से उधर
राजस्थान: क्यों विवाह पंजीकरण कानून संशोधन पर मचा है विवाद
भगवान श्री जगन्नाथ की निकली भव्य शोभा यात्रा
लखीमपुर खीरी कांड: यूपी पुलिस पर गरजीं प्रियंका गांधी, कहा- छू कर देखो मुझे...
सांसद डॉ. महेश शर्मा ने की नागरिकता संशोधन विधेयक शांति अपील
विचार : क्या उत्तर प्रदेश में खिलाड़ियों का भविष्य सुरक्षित है !
तीन कृषि बिल के विरोध मे भारतीय किसान यूनियन का प्रदर्शन
अमेरिका के कुछ हिस्सों में डेल्टा वैरिएंट का प्रकोप, गंभीर हैं हालात
केजरीवाल ने कहा : आर्थिक मदद के लिए कोरोना से मरने वालों का मृत्यु प्रमाण पत्र जरूरी नहीं
Covid-19 case update: देश में घट रहे कोरोना के मामले, बीते 24 घंटों में आए 2.38 लाख केस