ग्रेटर नोएडा : IGL को स्टेट आफ द आर्ट ट्रेनिंग सेन्टर के लिए भूखंड का आवंटन हुआ

ग्रेटर नौएडा प्राधिकरण द्वारा आवंटित M/s Indraprastha Gas Ltd. संस्थागत भूखण्ड संख्या-229ए, सेक्टर-नालेज पार्क-5 में क्षेत्रफल 9264 वर्गमीटर (लगभग 2.29 एकड़) का भौतिक कब्जा कार्यक्रम(Physical Possession Ceremony) करते हुये कार्य शुभारम्भ किये जाने के सम्बन्ध में-

आज दिनांक 20.02.2020 को ग्रेटर नौएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण के सभाकक्ष में M/s Indraprastha Gas Ltd. पक्ष में आवंटित संस्थागत भूखण्ड संख्या 229ए, जिसका क्षेत्रफल 9264 वर्गमीटर (लगभग 2.29 एकड़) का आवंटन सेक्टर-नालेज पार्क-5 पर भौतिक कब्जा कार्यक्रम (Physical Possession Ceremony) का आयोजन किया गया। उक्त सेरेमनी में मुख्य कार्यपालक अधिकारी, अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी, महाप्रबन्धक, परियोजना, उप महाप्रबन्धक, संस्थागत, वरिष्ठ प्रबन्धक, नियोजन को M/s Indraprastha Gas Ltd. के Managing Director Mr. E.S. Ranganathan द्वारा परियोजना के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी गयी।

प्राधिकरण द्वारा M/s Indraprastha Gas Ltd.के पक्ष में संस्थागत भूखण्ड, जिसका क्षेत्रफल 9264 वर्गमीटर (लगभग 2.29 एकड़) का आवंटन सेक्टर-नालेज पार्क-5 में अक्टूबर, 2019 में किया गया था। कम्पनी द्वारा उक्त भूखण्ड पर आज दिनांक 20.02.2020 को भौतिक कब्जा कार्यक्रम(Physical Possession Ceremony) करते हुये कार्य का शुभारम्भ किया गया है।

इंन्द्रप्रस्थ गैस लिमिटेड (IGL) दिल्ली के एनसीटी और भारत के अन्य शहरों में मोटर वाहन, घरेलू, वाणिज्यिक और औद्योगिक क्षेत्रों को प्राकृतिक गैस की आपूर्ति के रूप में स्वच्छ उर्जा समाधान का एक अग्रणी प्रदाता है। इंन्द्रप्रस्थ गैस लिमिटेड को ग्रेटर नौएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण द्वारा स्टेट आफ द आर्ट ट्रेनिंग सेन्टर(State of the Art Training Centre) की स्थापना के लिये एक भूखण्ड आवंटित किया है। यह आवंटन इंन्द्रप्रस्थ गैस लिमिटेड की उत्कृष्टता के लिये एक महत्वपूर्ण कदम है। इंन्द्रप्रस्थ गैस लिमिटेड बुनियादी ढांचे के विस्तार की प्रक्रिया में यह अग्रणी कदम है। कम्पनी की सभी गतिविधियों एवं कार्यो में गुणवत्ता प्रशिक्षण प्रदान करने के लिये इस सेन्टर को उत्कृष्टता केन्द्र (Centre of Excellence) के रूप में विकसित करेगा और कम्पनी की मौजूदा और भविष्य की जनशक्ति और सम्बन्धित विभिन्न हित धारकों को भी विकसित करेगा। उक्त परियोजना 2 वर्ष में स्थापित कर ली जायेगी। जिसमें इंन्द्रप्रस्थ गैस लिमिटेड (IGL) द्वारा लगभग रू0 100.00 करोड का निवेश किया जायेगा।

ग्रेटर नौएडा स्थित उक्त प्रशिक्षण केन्द्र में इंन्द्रप्रस्थ गैस लिमिटेड ;प्ळस्द्ध के सम्बन्धित ज्मबीदपबंस ैजंििको गैस के क्षेत्र में हो रहे नवीन प्रयोगो एवं तकनीक के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी देते हुये निपुण किया जायेगा। इसके साथ ही इंन्द्रप्रस्थ गैस लिमिटेड (IGL) द्वारा गैस क्षेत्र में कार्यरत अन्य Technical Staff को भी प्रशिक्षण की सुविधायें मुहैया करायी जायेगी। यह समग्र राष्ट्रीय कौशल विकास में योगदान देगा।

इंन्द्रप्रस्थ गैस लिमिटेड (IGL)के Managing Director Mr. E.S. Ranganathan द्वारा ग्रेटर नौएडा प्राधिकरण से 10 नये LNG/CNG Stations हेतु भूमि उपलब्ध कराने हेतु अनुरोध भी किया गया है।

उक्त भौतिक कब्जा कार्यक्रम (Physical Possession Ceremony) में प्राधिकरण के तरफ से मुख्य कार्यपालक अधिकारी, अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी (डी), महाप्रबन्धक, परियोजना, उप महाप्रबन्धक, संस्थागत, वरिष्ठ प्रबन्धक, नियोजन एवं
M/s Indraprastha Gas Ltd.dss Managing Director Mr. E.S. Ranganathan एवं अन्य अधिकारी आदि भी उपस्थित रहें।

यह भी देखे:-

एम विश्वेश्वरैया के जन्मदिन पर आईआईएमटी कॉलेज ने किया पौधारोपण
पोक्सो एक्ट के आरोपी को कोर्ट ने सुनाई कठोर सजा
LPG Price Hike: महंगाई के झटके के साथ हुई नए महीने की शुरुआत, बढ़े गैस सिलिंडर के दाम
तालाबों का सौंदर्यकरण कराया गया
जाट समाज का होली मिलन समारोह सम्पन्न हुआ
आईएचजीएफ दिल्ली फेयर: कई नए प्रतिभागियों और 200 से अधिक महिला उद्यमियों ने रोमांचक उत्पाद श्रृंखला क...
बिजली घर में लगी भीषण आग
क्षेत्रीय सासंद द्वारा कौशल विकास केन्द्र का कैम्प आयोजित करने की माँग
Mission 2022: बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, किसानों की दुर्दशा और बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर यूपी कां...
दो साल बाद यूपी बोर्ड की परीक्षाएं शुरू, छात्रों में दिखा उत्साह
साहिल खान पर केस दर्ज, मॉडल मनोज पाटिल को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप
किसान आंदोलन: आज होगा चक्का जाम, जाम से बचना है तो जान लें पूरा शेड्यूल
ट्विटर पर एक्टिव हुए नोएडा पुलिस के कोतवाल , घर बैठे पीड़ित कर सकते हैं शिकायत
गौतमबुद्ध नगर : नवागंतुक पुलिस उपाधीक्षकों को मिली तैनाती
राहत: बीते 24 घंटे में कोरोना 20 हजार से कम हुए मामले, 206 दिन में सबसे कम एक्टिव केस
उच्च शिक्षा में भारतवर्ष के शीर्ष 50 विशिष्ट शिक्षकों में डाॅ. विकास सिंह चयनित हुए