दुनियाभर में देखा गया साल का अंतिम सूर्य ग्रहण “‘रिंग ऑफ फायर” , पीएम मोदी ने साझा की तस्वीर

साल का तीसरा और अंतिम सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse 2019) आज (26 दिसंबर) दुनियाभर में देखा गया. कुल साढ़े 3 घंटे तक रहे इस ग्रहण की शुरुआत भारत में सुबह 8 बजकर 4 मिनट पर हुई. 10:57 बजे जाकर ग्रहण खत्म हुआ.

इस सूर्यग्रहण का भारत समेत नेपाल, चीन, ऑस्ट्रेलिया समेत कई देशों पर असर दिखाई देगा. बिहार (Bihar) की राजधानी पटना (Patna) स्थित श्रीकृष्ण विज्ञान केंद्र के खगोलविद विश्वनाथ गुप्ता की मानें तो भारत में सबसे ज्यादा असर केरल (Kerala) समेत दक्षिण भारत के कई राज्यों में यह दिखाई दिया. वहीं, दिल्ली में बादल और कोहरे के कारण सूर्य ग्रहण नहीं देखा जा सका .

पीएम मोदी ने भी देखा सूर्य ग्रहण का नज़ारा

हालाँकि यह पूर्ण सूर्य ग्रहण नहीं था. इस बार चंद्रमा की छाया सूर्य का पूरा भाग नहीं ढक पाएगी. इस ग्रहण में सूर्य का बाहरी हिस्सा प्रकाशित रहेगा. साल के इस आखिरी सूर्य ग्रहण को वैज्ञानिकों ने ‘रिंग ऑफ फायर’ का नाम दिया है. इससे पहले इस साल 6 जनवरी और 2 जुलाई को आंशिक सूर्य ग्रहण लगा था.

यह भी देखे:-

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन पूर्वी दिल्ली शाखा के अध्यक्ष का अलंकरण समारोह
महागुन सोसाइटी में तोड़फोड़ करने वाले 13 गिरफ्तार
इंटरनेशनल मास्टर एथलीट मान कौर: चंडीगढ़ में हुआ निधन, पीएम मोदी थे फिटनेस के मुरीद
WHO अगले सप्ताह कोवैक्सीन को मंजूरी देने पर करेगा अंतिम फैसला
लॉक डाऊन का पालन करते गौरसिटी 1 में घरों में मनाया गया पर्यावरण दिवस
कोरोना टीकाकरण: आयु सीमा हटाने के लिए तैयार नहीं है मोदी सरकार, जानिए क्या है वजह
मिशन: तकनीकी गड़बड़ी के कारण इसरो ने टाला जीआईसैट-1 का प्रक्षेपण
सभी पार्टियों ने क्षेत्र की जनता को किया निराश अन्नू खान ने निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा
ट्रेन व बसों  के द्वारा  गौतमबुद्ध नगर से घर भेजे गए 52 हजार प्रवासी श्रमिक और विद्यार्थी
Tokyo Olympic 2020 Live update: बजरंग ने भारत को दिलाया कांस्य पदक
एसटीएफ नोएडा के हत्थे चढ़ा दिनेश उर्फ़ दिन्ने बावरिया , सैकड़ों आपराधिक वारदातों को दे चूका है अंजाम 
Coronavirus Cases Rise: महाराष्ट्र में 17 हजार से ज्यादा केस, स्कूल बंद, कर्फ्यू लागू..
जुलाई से शैक्षणिक संस्थानों को खोलने की तैयारी, कक्षाएं लगाने पर फैसला बाद में
ब्लड बैंक में रक्त की कमी, जरुरतमंदों के लिए रोटरी क्लब ग्रेटर नोएडा बना बड़ा सहारा
श्री राममित्र मंडल रामलीला : आकाश मार्ग से पहुँचे हनुमान संजीवनी लेने
Weather Forecast: फिर से बदलेगा दिल्ली-NCR का मौसम, हिमाचल, उत्तराखंड सहित इन राज्यों में बारिश का अ...