संविधान है एक जैविक दस्तावेज -पद्मभूषण सुभाष कश्यप

ग्रेटर नोएडा : यहाँ के जगगन्नाथ इंस्टीट्यूट में सात दिवसीय फैकल्टी डेवलपमेंट कार्यक्रम के पांचवें दिन विधि क्षेत्र व शोध विकास पर परिचर्चा के दौरान आज संविधान विशेषज्ञ पद्मभूषण डाक्टर सुभाष कश्यप ने विभन्न विषयो पर अपने विचारों को रखा। कार्यक्रम के आरम्भ मे विभागध्यक्ष डॉक्टर पल्लवी गुप्ता ने तुलसी पौधा देकर डाक्टर कश्यप का स्वागत किया ।

डाक्टर कश्यप ने बताया कि विधि विषय एक विस्तृत क्षेत्र है और संविधान किसी भी राष्ट्र की विधि का मूलरूप है । ऐसे जैविक विधि पढ़ाना और विद्यार्थियों को समझना एक कला है क्योंकि यह क्षेत्र अपने आप मे एक विस्तृत और प्रगतिशील क्षेत्र है । उन्होंने अपने व्याख्यान के दौरान संविधान के उन पहलुओं की ओर ध्यानाकर्षण किया जो कि किसी भी विद्यार्थियों व शिक्षकों के लिये भ्रंतिया है।

डॉक्टर कश्यप ने अपने व्याख्यान के दौरान केंद्र व राज्यो के सम्बन्धों पर भी प्रकाश डाला। यह भी बताया कि किस तरह शिक्षक को अपने ज्ञान और विचारों को विद्याथियों को प्रेषित कर सके और उन्हे अनुभवी ज्ञान, नवीन उदाहरणों से सुगमता और सरलता से समझा सके। इस दौरान डाक्टर कश्यप ने एक प्रश्न का उत्तर देते हुए कहा कि अनुछेद 370 को जहां तक हटाने का सवाल है, तो इसको लेकर संविधान में दो बातें कहीं गई है. पहली बात ये है कि अनुच्छेद 370 को जम्मू कश्मीर विधानसभा की सहमति से संसद हटा सकती है, जबकि दूसरा प्रावधान है कि संविधान के अनुच्छेद 368 के तहत संसद दो तिहाई बहुमत से इसको समाप्त कर सकती है।

डाक्टर सुभाष कश्यप का कहना है कि अनुच्छेद 368 संसद को संविधान के किसी भी अनुच्छेद में संशोधन करने या उसको हटाने का अधिकार देती है. ये ही अनुच्छेद 370 के बारे में कई गुत्थियां सुलझाता है ।

उन्होंने अपने विचार नागरिकता कानून पर विभिन्न केंद्रीय व राज्य विश्वविद्यालयों से आये हुए फेकल्टीयो के साथ साझा किया।
कार्येक्रम के अंत में प्रोफेसर डॉक्टर पल्लवी गुप्ता व प्रोफेसर अजय त्यागी ने डाक्टर सुभाष कश्यप को स्म्रति चिन्ह व शॉल भेट किया।

कार्यक्रम की संयोजक प्रोफेसर विजेता वर्मा ने बताया सात दिवसीय कार्यक्रम शैक्षिक विकास व अनुसन्धान क्षमताओं को नयी उपलब्धि देगा। उन्होंने बताया की यह एक राष्ट्रीयस्तर की फ़ैकल्टी डेवलपमेंट कार्यक्रम है जिसमे देश के विभिन्न विश्वविद्यालयों को 50 से अधिक फ़ैकल्टी भाग ले रही है।

डॉक्टर दीप्ती सिन्हा ने धन्यवाद ज्ञापन दिया। कार्येक्रम मे डॉक्टर अमित राठी,डॉक्टर रहमान,सुधीर द्विवेदी,प्रशांत पांडेय,आसना सिन्हा,सौम्या शर्मा समेत कई लोग उपस्थित रहे।

यह भी देखे:-

कल का पंचांग, 22 मार्च 2023, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त
पानी-पानी हुई दिल्ली, एनसीआर में झमाझम बारिश , उमस और गर्मी से राहत
पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस का प्रदर्शन
आईटीएस डेन्टल काॅलिज में प्रेक्टिस मैनेजमेन्ट पर कार्यशाला का आयोजन
अष्टम आयुर्वेद दिवस को सकुशल संपन्न कराने के उद्देश्य से बैठक हुई संपन्न
फ्लू जैसी हो जाएगी कोरोना की बीमारी, हर साल लोगों को लेनी पड़ सकती है वैक्सीन
एनसीआरटी पर किट्स की ई टेंडरिंग के घोटाले का आरोप
वेतन की मांग को लेकर वीवो के कर्मचारियों का हंगामा
ग्लोबल इंस्टिट्यूट में जापानी भाषा प्रशिक्षण केंद्र ARMS का उद्घाटन
बड़ी खबर : पुलिस कमिश्नर ने माकन मालिकों को कहा, डॉक्टर व मेडिकल स्टाफ से घर खाली करने का दवाब बनाय...
पथिक विचार केंद्र ने बैठक कर ग्रेटर नोएडा-दादरी क्षेत्र का राजनीतिक एजेंडा तय किया
विश्वविद्यालय और कॉलेजों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को मादक पदार्थ सप्लाई करने वाले 9 गिरफ्तार
रविशंकर का बड़ा आरोप, कहा- विदेशी वैक्सीन को मंजूरी दिलाने के लिए राहुल गांधी कर रहे फुल टाइम लॉबिंग
दिल्ली : लॉकडाउन के पहले दिन नई दिल्ली, राजीव चौक समेत 10 मेट्रो स्टेशनों की एंट्री पर रोक
भाजयुमो जिला अध्यक्ष राज नागर का अखिलेश यादव के साथ तस्वीर वायरल, सपा में जाने की खबर उड़ी, राज नागर...
Weather Updates: IMD ने जारी किया अलर्ट, दिल्ली, यूपी और बिहार मे इस दिन होगी बारिश