सनसनीखेज : खूनी रिश्ते पर भारी पड़ा जमीन का टुकड़ा और …. पढ़ें पूरी खबर

ग्रेटर नोएडा। कस्बा रबूपुरा के ठाकुरान मोहल्ला में बीते सप्बुताह बुजुर्ग तिलक सिंह की संदिग्ध परिस्थिति में मौत के मामले में पुलिसद्वारा सनसनीखेज खुलासा किया गया है। पुलिस के मुताबिक महज दो बीघा जमीन के टुकड़े के लिए बुजुर्ग को उसके सगे छोटे भाई ने मौत के घाट उतार दिया। इस वारदात को आरोपी ने अपने साले के साथ मिलकर अंजाम दिया था। पुलिस ने हत्यारोपी भाई सहित दो लोगों को बुलंदशहर से गिरफ्तार किया है। आरोपी भाई प्लाट अपने नाम कराना चाहता था। आरोपी को शक था कि दूसरे भाई को अपनी हिस्से की जमीन दे सकता है। वारदात को अंजाम देने से पहले बड़े भाई को शराब पिलाई थी। हत्या को आत्महत्या का रूप देने की कोशिश की थी।

बता दें कि कस्बा रबूपुरा के ठाकुरान मोहल्ला निवासी 60 वर्षीय बुजुर्ग तिलक सिंह पुत्र स्व.खिच्चू सिंह की एक सप्ताह पूर्व संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई थी, जिनका शव 10 दिसंबर की सुबह घर में मिला था। इस मामले में मृतक के भतीजे नौरंग पुत्र वीरपाल सिंह ने रबूपुरा कोतवाली पुलिस को सूचना दी थी कि उसके ताऊ ने ख़ुदकुशी कर ली है। घटना के दूसरे दिन मृतक के भाई मैनपाल सिंह ने तहरीर दी कि उसके भाई की किसी अज्ञात व्यक्ति ने हत्या कर दी है।

दरअसल मृतक तिलक सिंह निसंतान थे । मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर गहनता से जांच में जुट गुई . सर्विलांस की मदद से घटना के संबंध में पुलिस को अहम सुराग मिले। सीओ जेवर शरद चंद शर्मा ने बताया कि जांच में पाया गया कि मृतक बुजुर्ग तिलक सिंह की कोई संतान नहीं थी। चार भाइयों में वह सबसे बड़े थे। पिछले करीब 10 सालों से वह अपने छोटे भाई ब्रह्मपाल के पास रहते थे। चारों भाइयों पर 2-2 बीघा पैतृक जमीन है। तिलक सिंह के नाम कस्बा रबूपुरा में एक प्लॉट भी है। आरोप है कि छोटा भाई ब्रह्मपाल बड़े भाई तिलक सिंह से उसके हिस्से की जमीन व प्लॉट अपने नाम कराने के लिए कहता था,लेकिन तिलक सिंह ने मना कर दिया था। इसको लेकर दोनों भाइयों के बीच कहासुनी हुई थी। इस बात से नाराज होकर तिलक सिंह करीब एक माह पहले अपने दूसरे छोटे भाई मैनपाल सिंह के पास रहने लगा।

सीओ जेवर ने बताया कि इस पर ब्रह्मपाल को शक हो गया कि कहीं तिलक सिंह अपने हिस्से की जमीन व प्लॉट मैनपाल के नाम न कर दें। घटना से करीब 15-20 दिन पहले ब्रह्मपाल ने अपने साले मुनेश पुत्र सुरेश निवासी बुलंदशहर को बुलाया और तिलक सिंह को मारने की साजिश रची। योजना के अनुसार बीते 8 दिसंबर की रात में आरोपी ब्रह्मपाल व उसके साले मुनेश ने तिलक सिंह को जमकर शराब पिलाई और नशा होने पर दोनों ने मिलकर उसके मुंह व नाक को हाथों से दबाकर हत्या कर दी। हत्या को आत्महत्या का रूप देने के लिए बाद में गले में गमछा बांधकर खींच था,ताकि लोग इस बात पर यकीन करें कि तिलक सिंह ने आत्महत्या की है। घटना के समय मैनपाल उर्फ नेमपाल सिंह परिवार के साथ शादी समारोह में शामिल होने बुलंदशहर गए थे। बुजुर्ग को अकेला पाकर हत्या कर दी थी।

पुलिस के मुताबिक घ भाई की हत्या करने के बाद आरोपी ब्रह्मपाल अपने साले मुनेश के साथ एक शादी समारोह में शामिल होने खुर्जा बुलंदशहर चला गया था,ताकि किसी को इन पर शक न हो। दोनों आरोपी बुलंदशहर में छुपे हुए थे।

यह भी देखे:-

लॉकडाउन उलंघन करने वालों के खिलाफ गौतमबुद्ध नगर पुलिस की कड़ी कार्यवाही
बदमाशों ने लूटी मोबाईल के पेटीएम से की खरीदारी
कानपुर लाते वक्त गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर में मारा गया
5 खनन माफियाओं पर लगाया गया गैंगस्टर
बड़ी खबर: नोएडा , निजी न्यूज़ चैनल के पत्रकार केंद्रीय मंत्री को कर रहे थे ब्लैकमेल, महिला गिरफ्तार
ट्रेन की चपेट में आकर अज्ञात महिला की मौत  
घरेलू सहायिका से गैंग रेप, मुकदमा दर्ज , आरोपी फरार
महिलाओं द्वारा ग्रहण की गयी शिक्षा, कई-कई पीढियों तक लाभ पहुॅचाती है : डॉ. दिनेश शर्मा
किशोरी को बंधक बनाकर कर रेप का आरोप
डेटा चोरी करके ठगी करने वाला गिरोह बेनकाब, 105 आरोपी गिरफ्तार
पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ एक लाख का इनामी बदमाश गिरफ्तार
सनसनी : घर में घुस कर बुजुर्ग को मारी गोली
कम्पनी के मालिक से मांगी रंगदारी , पहुंचे हवालात
दो घरों का ताला तोड़कर चोरों ने हाथ साफ किया
निर्माणाधीनसाइट पर लूटपाट करने में विफल रहे बदमाश, गार्ड के लगे छर्रे
हथियार की नोंक पर दवा वितरक से नगदी लूट