दावा : जानिए कैसे , संस्कृत बोलने से डायबिटीज और कोलेस्ट्रोल होता है कम

नई दिल्ली : संस्कृत बोलने से डायबिटीज और कोलेस्ट्रोल का लेवल कम होता है. यह दावा भाजपा सांसद गणेश सिंह ने गुरुवार को संसद में कहा . उन्होंने बताया अमेरिका के एक शिक्षण संस्थान के शोध के अनुसार रोजाना संस्कृत भाषा बोलने से तंत्रिका तंत्र मजबूत होता है और मधुमेह तथा कोलेस्ट्रॉल कम होता है।

संस्कृत विश्वविद्यालयों के बिल पर एक बहस में भाग लेने के दौरान उन्होंने यह भी दावा किया कि अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के एक शोध के अनुसार अगर कंप्यूटर प्रोग्रामिंग संस्कृत में की जाए, तो यह अधिक सुगम हो जाएगी।

गणेश सिंह ने कहा कि दुनिया की 97 फीसदी से ज्यादा भाषाएं संस्कृत पर आधारित हैं। इनमें कुछ इस्लामिक भाषाएं भी शामिल हैं। बिल पर संस्कृत में बात करते हुए केंद्रीय मंत्री प्रताप चंद्र सारंगी ने कहा कि भाषा बहुत लचीली है और एक वाक्य को कई तरीकों से बोला जा सकता है।

उन्होंने यह भी कहा कि विभिन्न अंग्रेजी शब्द जैसे कि भाई और गाय संस्कृत से लिए गए हैं। सारंगी ने कहा कि इस प्राचीन भाषा के प्रचार से किसी अन्य भाषा पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

यह भी देखे:-

आदर्श रामलीला सूरजपुर : रामजन्म पर अयोध्या में ख़ुशी की लहर
डांडिया नाईट मे जम कर थिरके युवा
यथार्थ अस्पताल में गर्भवती महिलाओं के लिए विशेष प्रोग्राम "किलकारी" का उद्घाटन
AUTO EXPO 2018 : HYUNDAI का स्वच्छ भारत अभियान, बॉलीवुड किंग शाहरुख़ खान के साथ लॉन्च किया 'SwachhC...
कासना व ग्रेटर नोएडा थाना का नाम बदला, जानिए अब क्या होगा पढ़ें पूरी खबर
एसटीएफ के हत्थे चढ़े रणदीप गैंग के दो सदस्य, भाजपा कार्यकर्ता की हत्या के आरोप में थे वांटेड
रोटरी क्लब ने फ्री नेत्र जांच व मोतियाबिंद ऑपरेशन शिविर लगाया
भय मुक्त ग्रेनो बनाने के लिए सूरजपुर पुलिस का सराहनीय कदम
THE HIGHWAY FASHION WEEK SEASON 4 में डिज़ाइनर दिखायेंगे प्रतिभा की झलक
भारतीयम स्कूल ग्रेटर नोएडा में विश्व पृथ्वी दिवस समारोह का आयोजन
शारदा विश्वविद्यालय : स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर दीप जलाकर शहीदों को नमन
स्थापना दिवस पर यमुना प्राधिकरण को तोहफा, जेवर एयरपोर्ट को मिली सैद्धान्तिक मंजूरी
ग्रेटर नोएडा : दो परिवारों की ख़ुशी मातम में बदली, पढ़ें पूरी खबर
जल्द तलाशना होगा आर्थिक मोर्चे पर सफलता पाने का मंत्र
आम लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं देने में फार्मासिस्ट लोगों का महत्वपूर्ण योगदान : डॉ शिखा
जल भराव के बीच जज्बे और जोश के साथ पुलिसकर्मियों ने तिरंगा को सलामी दिया