एनबीए बास्केट बॉल प्रतियोगिता : गलगोटिया की टीम बनी उपविजेता

जेपी ग्रींस ग्रेटर नोएडा के तत्वाधान में आयोजित बास्किट बाल की बास्एकेट एन0 बी0 ए0 कॉलिज लीग प्रतियोगिता में गलगोटिया कॉलिज की बास्किट टीम ने दूसरा स्थान प्राप्त किया।
BASKET BALL GALGOTIA
इस प्रतियोगिता का आयोजन एनबीए एकेडमी इण्डिया ने किया। गलगोटिया की टीम प्रतियोगिता में दूसरी बार भाग ले रही थी। टीम गलगोटिया ने शारदा विश्वविद्यालय को हराकर फाइनल में प्रवेश किया। जहाँ उसका मुकाबला एनबीए एकेडमी से हुआ जिसे 77-50 बास्किट के अन्तर से एनबीए एकेडमी ने जीतकर प्रतियोगिता अपने नाम की। गलगोटिया टीम के अनुज राणा और एरिक को बैस्ट प्लेयर ऑफ दा टूर्नामेंट चुना गया। विजेता टीमों और खिलाडियों को एनबीए इण्डिया के निदेशक स्कॉट फलेमिंग ने ट्रॉफी और पुरूषकार देकर सम्मानित किया। फलेमिंग ने खिलाडियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि देश में बास्किट में प्रतिभा बहुत है। जिसको केवल प्रोत्साहित करने की आवश्यकता है। इस खेल के द्वारा मानसिक के साथ साथ शारारिक दक्षता में भी वृद्धि होती हैं। गलगोटिया कॉलिज के सीइओ ध्रुव गलगोटिया ने अपनी टीम की सफलता पर टीम और कॉच प्रशान्त भारद्वाज को बधाई देते हुए सम्मानित किया।

यह भी देखे:-

राजस्व वसूली को लेकर डीएम बी.एन. सिंह की बैठक , बड़े बकाएदारों के विरुद्ध चलाया जाएगा विशेष अभियान
एवीजे हाइट्स निवासियों को इलहाबाद उच्च न्यायलय ने दी बड़ी सौगात
ग्रेनो वेस्ट निवासियों व नेफोवा ने पाकिस्तान का पुतला जलाया
आईजी मेरठ ने नारी सुरक्षा जागरूकता सप्ताह का किया उद्घाटन
किसान आन्दोलन को मिला गोल्डन फेडरेशन आरडब्लूए का साथ
जन विकास मंच ने मनाया योगा दिवस
हाईटेक सिटी कचैडा मामला : किसानों की गिरफ्तारी के विरोध में महापंचायत, आज 21 किसान गिरफ्तार
बिजली करेंट के झटके से मौत पर हंगामा
जिला आपूर्ति विभाग की बड़ी कार्यवाही, इन तीन राशन की दुकानों का आवंटन निरस्त
जेवर : काम के एवज में कोई सुविधा शुल्क मांगे तो हमसे सम्पर्क करें : प्रिंस भरद्वाज
द्रोण मेला देखने उमड़ी भीड़, आज से शुरू होंगी कुश्तियां
लोन दिलाने का काम करने करोड़ों की ठगी, 33 युवक -युवती गिरफ्तार , मालिक फरार
यूपी रोडवेज की बस खंभे से टकराई, दर्जन भर यात्री घायल
पर्यावरणविद की शिकायत पर औचक निरीक्षण , जल प्रदूषण करती दो पकड़ी गई दो फैक्ट्री
11 वीं मंजिल गिर शख्स की मौत, जांच में जुटी पुलिस 
जानिए क्यों ? बजट 2019 से होम बायर्स हुए निराश