जानिए, ग्रेटर नोएडा की 116 वीं बोर्ड बैठक में लिए गए निर्णय

ग्रेटर नोएडा: आज ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की 116 वीं बोर्ड बैठक आयोजित की गई। जिसके बाद प्राधिकरण द्वारा जारी की गई प्रेस विज्ञप्ति :

ग्रेटर नौएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण की 116वीं बोर्ड बैठक दिनांक-29.11.2019 के विषयक।

1. ग्रेटर नोएड औद्योगिक विकास प्राधिकरण द्वारा उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश में Industrial investment and employment promotion policy लागू कर भारतीय तथा विदेशी निवेशकों को अधिकाधिक मात्रा में निवेश हेतु अनेकानेक सुविधायें प्रदान की जा रही है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री औद्योगिक विकास मंत्री द्वारा भी स्वयं विनिवेशको को प्रदेश में विनिवेश हेतु प्त्साप्रोत्साहित किया जा रहा है। उद्योगों की स्थापना हेतु अवस्थापना की संरचना सहित विवाद रहित भूमि उपलब्ध कराया जाना प्राथमिकता है। जनपद गौतम बुद्ध नगर के विगत भ्रमण के समय भी मुख्यमंत्री द्वारा इस पर बल दिया गया था। संप्रति प्राधिकरण के पास उद्योगों की स्थापना हेतु लैण्ड बैंक नही है। अस्तु महायोजना के अनुसार निर्दिष्ट क्षेत्रों में भूमि अर्जन तथा कृषको की परस्पर सहमति से भूमि क्रय करने की दिशा में कार्यवाही प्रारम्भ की जा चुकी है। जिससे ग्रेटर नौएडा प्राधिकरण को लगभग 1500 एकड भूमि औद्योगिक आवंटन हेतु उपलब्ध हो सकेगी।
ग्रेटर नौएडा प्राधिकरण द्वारा उक्त भूमि पर 4 नये औद्योगिक सेक्टर विकसित किये जायेंगे। उक्त भूमि हेतु प्राधिकरण द्वारा सम्बन्धित ग्रामों में कैम्पों का आयोजन करके कृषकों से सीधे भूमि क्रम की जा रही है। जिससे ग्रेटर नौएडा में राष्ट्रीय/बहुराष्ट्रीय कम्पनियों को उद्यम/व्यवसाय आरम्भ करने में औद्योगिक भूमि की उपलब्धता सुनिश्चित हो सकेगी ।

2. प्राधिकरण की आवासीय भूखण्डों काॅपरेटिव सोसायटी एवं ग्रुप हाउसिंग योजना के अन्तर्गत एकल सदस्यों (केवल प्लाटेड डेवलपमेन्ट हेतु) को आवंटित भूखण्ड पर बिलम्ब से कार्यपूर्ति प्रमाण पत्र प्राप्त करने हेतु आरोपित निर्माण बिलम्ब शुल्क के लिये एक मुश्त समाधान योजना का अनुमोदन बोर्ड द्वारा निम्नानुसार किया गया है-

ओ0टी0एस0योजना (one time settelment) के अन्तर्गत कार्यालय आदेश जारी होने की तिथि से दिनांक 30.06.2020 तक भूखण्ड पर भवन निर्माण करते हुये कार्यपूर्ति आवेदन करने की तिथि तक कुल बिलम्ब शुल्क में 50 प्रतिशत की छूट, दिनांक 01.07.2020 से दिनांक 30.09.2020 तक कुल बिलम्ब शुल्क में 40 प्रतिशत की छूट तथा दिनांक 01.10.2020 से दिनांक 31.12.2020 तक कुल बिलम्ब शुल्क में 30 प्रतिशत की छूट अनुमन्य हेागी ।

3. ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की 106वीं बोर्ड बैठक में ग्रेटर नोएडा के नाॅलेज पार्क-3 व नोएडा के सेक्टर-146 एवं 147 के मध्य हिण्डन नदी पर सेतु का निर्माण की स्वीकृति प्राप्त है। सेतु के निर्माण के लिए उ0प्र0 राज्य सेतु निगम लि0 के साथ दिनांक 18.12.2017 को एम0ओ0यू0 गठित किया गया है। दिनांक 25.01.2019 को मा0 मुख्यमंत्री, उ0प्र0 शासन द्वारा सेतु का शिलान्यास किया गया था। ग्रेटर नोएडा में दिन-प्रतिदिन बढ रहे यातायात के कारण परीचैक पर जाम की स्थिति रहती है। प्रायः देखा जाता है कि टैªफिक सुबह, दोपहर एवं शाम को अधिक हो जाता है इसके दृष्टिगत नये सेतु के निर्माण ग्रेटर नोएडा में एस0के0 रोड पर स्थित एल0जी0 गोल चक्कर से सेक्टर के0पी0-3 के अन्दर हिण्डन नदी के पुस्ते तक जा रही 60 मी0 चौड़ी सडक तथा नोएडा के सेक्टर-146 व 147 के मध्य मास्टर प्लान रोड की बेहतर कनेक्टीवीटी होगी। उपरोक्त विषयक प्रस्ताव का अवलोकन बोर्ड द्वारा किया गया।

4. ग्रेटर नौएडा प्राधिकरण के वित्त विभाग द्वारा वर्ष 2018-19 के वार्षिक लेखा एवं दिनांक 31.03.2019 का तुलन पत्र (बैलेंस शीट) विषयक प्रस्ताव का अनुमोदन बोर्ड द्वारा किया गया। जिसमेंवार्षिक लेखो के प्रमुख बिन्दु निम्मानुसार हैः-

आय-व्यय लेखे के प्रथम भाग में विकसित सम्पत्ति जिसका विक्रय के उपरान्त पट्टा प्रलेख वर्ष 2018-19 में निष्पादित हो गया है, का उल्लेख किया गया है। वर्ष 2018-19 के दौरान विकसित भूमि का विक्रय मूल्य रू0 249.59 करोड़ तथा विक्रय किये गये निर्मित भवनों आदि का विक्रय मूल्य रू0 211.60 करोड़ था। इन सम्पत्तियों पर हुए लागत खर्च एवं अन्य विकास एवं अनुरक्षण के प्राविधानो पर कुल रू0 445.75 करोड के उपरान्त operating surplus 15.43 करोड़ रहा।

ग्रेटर नौएडा क्षेत्र के ग्रामों का विकास कार्य सैक्टरो की तर्ज पर कराने पर विशेष बल दिया जा रहा है, जिसके अन्तर्गत प्राधिकरण द्वारा इस मद में रू0 102.28 करोड का व्यय किया जा चुका है तथा ग्रामीण विकास हेतु प्राधिकरण द्वारा विशेष ध्यान एवं प्राथमिकता दी जा रही है।

ग्रेटर नौएडा प्राधिकरण की आर्थिक स्थिति निरन्तर सुदृढ हो रही है जिसके फलस्वरूप वित्तीय वर्ष 2018-19 में प्राधिकरण द्वारा विभिन्न बैंको का लगभग रू0 750 करोड के लोन का भुगतान किया जा चुका है। इसके अतिरिक्त वित्तीय वर्ष 2019-20 में अब तक बैंको का लगभग लगभग रू0 400 करोड का भुगतान किया जा चुका है।

प्राधिकरण द्वारा शहर के रख-रखाव एवं मैन्टीनेन्स के मद में रू0 345.53 करोड का व्यय किया गया है।

पूर्ण विकसित सम्पत्तियों में रू0 3886.73 करोड के विकसित भूखण्ड तथा रू0 2974.15 करोड की निर्मित सम्पत्ति सम्मिलित है। इन पर विकास का कार्य लगभग पूरा हो चुका है।

ऐसी भूमि जिस पर विकास कार्य चल रहे है या अभी विकास कार्य प्रारम्भ होने है, की लागत रू0 6920.95 करोड हैं, जिसमें भू-अर्जन के मद में वर्ष 2018-19 के अन्त में रू0 2114.95 करोड की देयता भी सम्मिलित है। ऐसी भूमि पर किये गये विकास कार्यो की लागत रू0 4419.41 करोड हैं।

5. प्राधिकरण के विभिन्न परिसम्पत्तियों के भू-आवंटन दरों का निर्धारण किये जाने के सम्बन्ध में। वित्तीय वर्ष 2019-20 हेतु ग्रेटर नौएडा प्राधिकरण विभिन्न परिसम्पत्तियों के भू-आवंटन दरों के निर्धारण विषयक प्रस्ताव बोर्ड के समक्ष प्रस्तुत किया गया, उक्त के क्रम में बोर्ड द्वारा ग्रेटर नौएडा क्षेत्र के सेक्टरों में बसावट, विकास (सड़क, पार्क/ग्रीन एरिया, सीवेज एवं ड्रेनेज) आवागमन की सुविधा (मैट्रो, बस, टैक्सी एवं आॅटो की सुविधा) शिक्षा सुविधा (स्कूल, काॅलेज) एवं जनसंख्याघनत्व के आधार सैद्धान्तिक रूप सेग्रेटर नौएडा प्राधिकरण क्षेत्र के सभी सेक्टरों को 4 zone – a,b,c,d में विभाजित करते हुये लागू की जानी वाली आवंटन दरोंका विश्लेषण कर आगामी बोर्ड बैठक में प्रस्तुत करने हेतु आदेशित किया गया है।

6. ग्रेटर नौएडा प्राधिकरण द्वारा अभी तक केवल पेट्रोल पम्प के आवंटन किये जाते थे, बदलते समाजिक एवं आर्थिक परिवेश एवं लोगों की मांग को दृष्टिगत रखते हुये प्राधिकरण बोर्ड द्वारा नई कैटेगरी के अन्तर्गत Fuel Station Scheme
लाये जाने की अनुमति प्रदान की गयी । Fuel Station हेतु आवंटित किये जाने वाले भूखण्डों पर कम्पनियां पेट्रोल, डीजल, सी.एन.जी. एवं इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन स्थापित कर सकेंगी। उक्त योजना प्राधिकरण द्वारा वाण्यिज्यिक योजना के अन्तर्गत ई-आक्शन ;म्.।नबजपवदद्ध के माध्यम से शीघ्र ही लायी जायेगी ।

7. ग्रेटर नौएडा प्राधिकरण की फ्री-होल्ड सम्पत्तियों के लिये नामान्तरण प्रक्रिया ;डनजंजपवद च्तवबममकपदहेद्ध बनाये जाने सम्बन्धी नीति का अनुमोदन बोर्ड द्वारा किया गया। जिसके अन्तर्गत फ्री-होल्ड के आवंटी निर्धारित प्रक्रिया के उपरान्त प्राधिकरण से नामान्तरण करा सकेंगे।

8. ग्रेटर नौएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण का अधिसूचित क्षेत्र काफी वृहद है तथा समय के साथ-साथ प्राधिकरण का कार्यक्षेत्र लगातार बढता जा रहा है। मास्टर प्लाॅन के अनुसार ग्रेटर नौएडा में वर्तमान में लगभग 100 सैक्टर विकसित किये जा चुके हैं तथा साथ ही फेस-1 के अन्तर्गत 124 ग्रामों का विकास एवं अनुरक्षण कार्य भी प्राधिकरण द्वारा किया जा रहा है, ऐसी परिस्थिति में परियोजना एवं जन स्वास्थ्य विभाग का पुर्नगठन किया जाना आवश्यक है, जिससे परियोजना एवं अर्बन सर्विसेज/नागरिक सुविधाएं ;ब्पअपब ।उमदपजपमेद्धके दिन-प्रतिदिन के कार्यों को पूर्ण सक्षमता से सम्पाादित किया जा सके। वर्तमान में परियोजना अनुभाग के अभियन्ताओं से ही यह समस्त कार्य कराये जा रहे हैं। परियोजना, अर्बन सर्विसेज/नागरिक सुविधाएं ;ब्पअपब ।उमदपजपमेद्धएवं उद्यानिक कार्यों को पूर्ण सक्षमता से सम्पादित कराये जाने हेतु अभियन्त्रण विभाग द्वारा अभियन्त्रण संवर्ग एवं उद्यान संवर्ग का पुर्नगठन करने विषयक प्रस्ताव का अनुमोदन बोर्ड द्वारा किया गया । ग्रेटर नौएडा प्राधिकरण द्वारा अर्बन सर्विसेज/नागरिक सुविधाएं ;ब्पअपब ।उमदपजपमेद्धके विभाग का गठन पहली बार किया जा रहा है, जिसके अन्तर्गत उक्त विभाग में काम करने वाले अधिकारी कर्मचारी केवल इसी विभाग में पूर्ण एवं समर्पित रूप से कार्य करेंगे । जिससे ग्रेटर नौएडा क्षेत्र के निवासियों को उत्कृष्ट श्रेणी की नगरीय सुविधायें प्राप्त हो सकेगी।

9. ग्रेटर नौएडा प्राधिकरण द्वारा अपने दैनिक कार्यो एवं कार्यप्रणाली में और अधिक कार्य कुशलता एवं दक्षता लाये जाने के आशय सेळप्ै ।चचसपबंजपवदकेा लागू करने के लिए भारत सरकार की संस्था एन.आई.सी. को अधिकृत किये जाने विषयक प्रस्ताव का बोर्ड द्वारा अनुमोदन प्रदान किया गया। जिसके अन्तर्गत भौगोलिक सूचना तंत्र;ळप्ैद्धसे ग्रेटर नोएडा ओैद्योगिक विकास प्राधिकरण के लिए निम्न लाभ होगें-
ऽ ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में जी0आई0एस0 एप्लीकेशन में प्राधिकरण के प्रस्तावित मास्टर प्लान का मानचित्र, खसरा, गाॅंव, आबादी, सडके, भूमि लेख, शहरी सेवाऐं ;जल सम्बन्धित, बिजली, जल निकास, पार्क स्वास्थ्य शिक्षा आदिद्ध जैसे जानकारियों की सम्पूर्ण प्रविष्टि, एम0आई0एस0 तथा मानचित्र के रूप में उपलब्ध होगी जो की निर्णय लेने एवं जानकारी देने में सक्षम एवं प्रभावी होगा।
ऽ यह एप्लीकेशन भूमि सूचना, अवसंरचना, कानूनी जानकारी प्रणाली तथा सम्पति से सम्बन्धित समस्त जानकारियों को एकत्रित कर एक आॅनलाईन माध्यम के रूप में हमेशा उपलब्ध रहेगा तथा यह प्राधिकरण द्वारा किये जाने वाले अधिग्रहण में अत्यन्त सहायक होगा।
ऽ यह एप्लीकेशन भूमि अधिग्रहण, भूखण्ड आवंटन इत्यादि की मानचित्र सहित जानकारी प्रदान करेगा जिससे प्राधिकरण कार्यों में पारदर्शिता आऐगी।
ऽ इस एप्लीकेशन में प्राधिकरण की समस्त सम्पतियों जैसे औद्योगिक, वाणिज्यिक, आवासीय, आई0टी0, बिल्र्डस इत्यादि भूखण्डों/भूमि की स्थिति रिक्त और आंवटित तथा भूखण्डों/भूमि के क्षेत्र की सूचीबद्व सूचना रहेगी।
इसके अतिरिक्त ग्रेटर नौएडा प्राधिकरण द्वारा ई.आर.पी. व्यवस्था भी लागू की जा रही है। उद्यम संसाधन योजना ;म्त्च्द्ध ग्रेटर नौएडा प्राधिकरण में लागू की जाने वाली म्त्च्योजना को निष्काम के नाम से विकसित किया जा रहा है। म्त्च् ैलेजमउप्राधिकरण में किये जा रहे कार्यो को सुशासित तरीके से ;ळववक ळवअमतदंदबमद्ध निष्पादित करने में सहायक सिद्ध होगा। प्राधिकरण के आवंटियों को दी जा रही सेवाओं को गुणवत्ता के साथ निर्धारित समयावधि में पूर्ण किया जा सकेगा। जब प्राधिकरण की सभी सुविधायें आनलाईन कर दी जायेंगी तो आवंटियों के कार्यो एवं समस्याओं का निस्तारण तत्काल/समयबद्ध अवधि में पूर्ण किया जा सकेगा। जिससे आवंटियों के समय एवं धन की बचत भी होगी तथा प्राधिकरण कार्यालय में आने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।
ग्रेटर नौएडा प्राधिकरण द्वारा ळप्ै ।चचसपबंजपवदतथा म्त्च् ैलेजमउको लागू किये जाने के सम्बन्ध में बहुत तेजी से प्रयास किये जा रहे हैं। उक्त व्यवस्थाओं को शीघ्र ही प्राधिकरण द्वारा लागू कर दिया जायेगा। जो कि ग्रेटर नौएडा क्षेत्र के निवासियों एवं विभिन्न परिसम्पत्तियों के आवंटियों के लिये बडी उपलब्धि होगी ।
10. ग्रेटर नौएडा के सैक्टर नाॅलेजपार्क-2 में काॅमर्शिलय के अन्तर्गत वाणिज्यक उपयोग ;ब्वउउमतबपंस न्ेमद्धहेतु प्रतियोगिता ;ब्वउचमजपजपवदद्ध के माध्यम से भूखण्ड सी-1,2,3 एवं 4 पर कन्ट्रोल डिजाइन तैयार कराये जाने विषयक प्रस्ताव बोर्ड के समक्ष प्रस्तुत किया गया । जिसके अन्तर्गत काॅमर्शियल भूखण्ड संख्या सी-1, 2, 3 एवं सी-4 सैक्टर-नाॅलेजपार्क-2 ग्रेटर नोएडा की कन्ट्रोल डिजाइन तैयार किये जाने हेतु समाचार पत्रों में दिनांक 17.10.2019 को विज्ञप्ति प्रकाशित की गयी है जिसके अनुसार प्रतिभागियों को दिनांक 05.12.2019 तक अपने आवेदन प्राधिकरण में जमा कराये जायेगें। उक्त भूखण्ड नोएडा ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे एवं इण्डिया एक्सपोजीसन मार्ट के निकट है जहाॅ पर हैण्डीक्राफ्ट, आॅटो एक्सपो इत्यादि प्रकार की प्रदर्शनियों का संचालन किया जाता है। जिसमें व्यपार हेतु प्रतिभाग एवं मार्केटिंग करने हेतु यहाॅं पर देश विदेश के उधोगपतियों व व्यवसाइयों का आते जाते रहते हैै, जिस कारण यह प्रश्नगत भूखण्ड आकर्षण का केन्द्र बिन्दु है। जिसके फलस्वरूप उक्त स्थल पर अन्तर्राष्ट्रीय एवं दर्शनीय स्थल के रूप में विकसित किया जायेगा। उक्त प्रस्ताव का अनुमोदन प्राधिकरण बोर्ड द्वारा किया गया।

11. ग्रेटर नोएडा महायोजना-2041;डंेजमत च्संद.2041द्धके क्रियान्वयन विषयक प्रस्ताव।उत्तर प्रदेश शासन द्वारा ग्रेटर नोएडा के विस्तारीकरण हेतु अधिसूचना संख्या 3146/77-4-06-214भा0-05, दिनांक 14.06.2006 को जारी की गयी थी, जिसके अन्तर्गत 185 गाॅव सम्मिलित किये गये तथा जिसका कुल क्षेत्रफल 51728 हे0 है। रीजनल प्लान-2041 बनाने के सम्बन्ध में एनसीआर बोर्ड द्वारा दिनांक 11.11.2019 को विज्ञान भवन, नई दिल्ली में श्प्दंनहनतंस ब्वदबसंअम वद छब्त्.2041.च्संददपदह वित ज्वउवततवूष्े ळतमंजमेज ब्ंचपजंस त्महपवदश्का आयोजन किया गया, जिसके अनुरूप एनसीआर को एक मैट्रो पाॅलिस सिटी के रुप में तैयार किया जाना है। तदोपरान्त एनसीआरपीबी द्वारा रीजनल प्लान-2041 को अन्तिम रुपरेखा दिया जायेगा। एनसीआरपीबी द्वारा रीजनल प्लान-2041 को अन्तिम रुप दिये जाने के उपरान्त ही ग्रेटर नोएडा महायोजना-2041 तैयार किये जाने केी कार्यवाही की जा सकती है।तदानुसार प्राधिकरण बोर्ड द्वारा प्रस्ताव का अवलोकन किया गया।

12. ग्रेटर नौएडा प्राधिकरण की आवंटित बिल्डर्स एवं वाण्यिज्यिक परियोजनाओं पर अतिदेय धनराशि को रिशिड्यूलमेन्ट पाॅलिसी की अवधि 31 मार्च, 2020 तक बढाये जाने का अनुमोदन किया गया। यह सुविधा उन्ही आवंटियों को उपलब्ध होगी जिन आवंटियों द्वारा लीज डीड निष्पादित करा ली गयी होगी, मौके पर कार्य कररहे व एस्क्रो एकानन्ट खुलवा लिया हो। रि-शिड्यूलमेंट की सुविधा मिलने से बिल्डर पार्ट पेमेंट करके अपनी अपूर्ण परियोजना को पूर्ण कर पायेंगे, वित्त मंत्री, भारत सरकार द्वारा घोषित रू0 2500 करोड के स्ट्रेस फण्ड को एक्सेस करने में सक्षम हो सकेंगे तथा इससे शासन के प्रयासों के अनुरूप अधिक से अधिक बायर्स को अपने फ्लैटों का कब्जा मिल सकेगा।

यह भी देखे:-

किसान आन्दोलन को मिला गोल्डन फेडरेशन आरडब्लूए का साथ
डीएम बी.एन. सिंह ने जनपदवासियों को दी क्रिसमस की बधाई
श्री रामलीला साईट - 4 रामलीला मंचन : प्रभु राम ने खाए शबरी के जूठे बेर
गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय बना बॉलीवुड निर्माताओं की पहली पसंद
जेवर एयरपोर्ट किसान संघर्ष समिति के धरने में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर होंगे शामिल
हिन्दू-मुस्लिम भाईचारे पर आधारित वृत्तचित्र "द ब्रदरहुड" का ट्रेलर यू ट्यूब पर रिलीज
चीनी निर्यात पर साढ़े दस रुपये प्रति किलो की सब्सिडी देने का निर्णय
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की 111 वीं बोर्ड बैठक में लिए गए अहम निर्णय
आचरण शक्ति फाउंडेशन द्वारा आयोजित शिविर में छात्राओं ने सीखे आत्मरक्षा के गुर
गुर्जरों का सम्पूर्ण इतिहास पुस्तक खंड 1 का अनावरण
एयर सर्जिकल स्ट्राइक की ख़ुशी में हिन्दू युवा वाहिनी ने निकला तिरंगा यात्रा
रोलर स्केटिंग चैंपियनशिप में ग्रेनो के स्केटर्स चमके
प्रवीण कुमार सैन अखिल भारतीय पिछड़ा वर्ग महासभा के जिलाध्यक्ष मनोनीत
गैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों के खिलाफ हो सख्त कार्यवाही : चौधरी प्रवीण भारतीय
गलगोटियास विश्वविद्यालय के पालिटैक्निक ने एल्युमनाई टास्क सीरीज़ कार्यक्रम का आयोजन किया
महिला उन्नति प्रशिक्षण संस्थान का पौधारोपण अभियान शुरू