ग्रेटर नोएडा इंडिया एक्सपो सेंटर आयुर्योग एक्सपो 2019 का आगाज

ग्रेटर नोएडा : आयुर्योग एक्सपो 2019 का पहला संस्करण, ग्रेटर नोएडा के इंडिया एक्सपो सेंटर ऐंड मार्ट में बायोफेच इंडिया के साथ आयोजित किया जा रहा है. गुरुवार को केन्द्रीय आयुष राज्य मंत्री श्रीपद येसो नाइक ने इस एक्सपो का उद्घाटन किया और वे इस मौके पर मुख्य अतिथि थे. इस मौके पर सांसद डॉ. महेश शर्मा गेस्ट ऑफ ऑनर थे और पद्मश्री डॉ. एच आर नागेंद्र (गुरुजी) तथा केंद्रीय आयुष सचिव वैद्य श्री राजेश कोटेचा ने आयोजन की अध्यक्षता की.

इस मौके पर उपस्थिति अन्य गणमाण्य लोगों में वैद्य देवेंद्र त्रिगुणा (उपाध्यक्ष, आयुर्योग एक्सपो संचालन समिति), डॉ. श्रीमती हंसा जयदेव योगेंद्र, विश्वगुरु महामंडलेश्वर परमहंस श्री स्वामी महेश्वरानंद पुरी, पदमश्री स्वामी भारत भूषण, जैन आचार्य डॉ लोकेश, और इंडिया एक्सपो मार्ट लिमिटेड के अध्यक्ष श्री राकेश कुमार मौजूद थे.

आयुर्योग एक्सपो 2019 का उद्घाटन करते हुए श्री श्रीपद येसो नाइक ने कहा, “विश्व स्तर पर भारतीय चिकित्सा पद्धति के प्रचार का यह (AYURYOG EXPO 2019) एक बेहतरीन अवसर है. आयुर्वेद को कई विद्वानों ने सबसे पुराना चिकित्सा विज्ञान माना है. अक्सर इसे चिकित्सा की जननी कहा जाता है.”

आयुर्योग एक्सपो 2019 के पहले संस्करण में गणमान्य लोगों का स्वागत करते हुए इंडिया एक्सपो मार्ट लिमिटेड के अध्यक्ष श्री राकेश कुमार ने कहा, “मैं उन सभी वक्ताओं का भी स्वागत करता हूं जो इस ‘आयुर्योग एक्सपो 2019’ को ‘स्वास्थ्य का महाकुंभ’ बनाने यहां आए हैं. दुनियाभर से यहां आने और हमें अपना आशीर्वाद देने के लिए आपका शुक्रिया.”

भारतीय योग एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. एचआर नागेंद्र ने कहा, “चुनौती यह है कि इस पद्धति को अन्य आम पद्धतियों से कैसे जोड़ा जाए. यह एलोपैथी और मौजूदा अन्य पद्धतियों को एक साथ जोड़ने का मार्ग प्रशस्त करेगा क्योंकि आधुनिक समाज की चुनौतियों का सामना करने में कोई एक पद्धति सक्षम नहीं होगी. आपको कई पद्धतियों को स्वीकार करना ही होगा.”

पद्मश्री, पद्मभूषण और अखिल भारतीय आयुर्वेद कांग्रेस के अध्यक्ष वैद्य देवेंद्र त्रिगुणा ने भी इस मौके पर अपनी बात रखी. उन्होंने कहा, “हम योग, आयुर्वेद और प्राकृतिक चिकित्सा से एक चिकित्सा व्यवस्था हासिल करना चाहते हैं, जो पूरी दुनिया में कम से कम लागत में अच्छे से अच्छा स्वास्थ्य प्रदान करे.”

केंद्रीय आयुष सचिव वैद्य राजेश कोटेचा ने कहा, “हम कई स्तर पर विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ काम कर रहे हैं. हाल ही में हमने योग, आयुर्वेद और प्राकृतिक चिकित्सा को पर एक बेंचमार्क दस्तावेज बनाने को लेकर उनके साथ एक एमओयू पर हस्ताक्षर किए हैं.”

सांसद डॉ. महेश शर्मा ने अपने भाषण में कहा, “योग पूरी दुनिया में मौजूद है. वहीं आयुर्वेद का हजारों वर्षों का इतिहास है. भारत इसका जनक है.”

उद्धाटन के दौरान मंच पर ही आईवाईए और आईईएमएल के बीच एक एमओयू भी हस्तांतरित किया गया.

पूरे विश्व कल्याण पर आधारित आयुर्योग एक्सपो 2019 दुनिया का ऐसा पहला आयोजन है जिसमें आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा जुड़ा है और जिसमें आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा से जुड़े सभी योगी, गुरु, विशेषज्ञ और प्रख्यात शख्सियत एकसाथ इसका उद्घाटन करने मंच पर जुटे.

अयुर्योग एक्सपो 2019 के दौरान दुनिया भर के प्रदर्शक अपने विशेष उत्पादों को प्रदर्शित करेंगे ताकि लोग उसे देख सकें और उसके अनुभव ले सकें.

इस चार दिवसीय भव्य आयोजन के दौरान योगऋषि स्वामी रामदेव जी महाराज और श्री श्री रविशंकर विशेष आम सत्र और खास वैज्ञानिक सत्रों का आयोजन करेंगे.

इस आयोजन के दौरान अन्य प्रमुख कार्यक्रमों में कई वक्ता अपने अपने विशेषज्ञता के क्षेत्र में विस्तार से बताएंगे. इसमें प्रख्यात गणमान्यों में पद्म भूषण डॉक्टर एचआर नागेंद्र, पद्म भूषण डॉ. डेविड फ्रावले, पद्म भूषण वैद्य देवेंद्र त्रिगुण, मां डॉ. श्रीमती हंसजी जयदेव योगेंद्र, पद्मश्री वैद्य राजेश कोटेचा, डॉ. लोरेंजो कोहेन, डॉ. सत बीर सिंह खालसा, एंटोनियेटा रोजजी, डॉ. वसंत लाड और डॉ. दुआन गांग शामिल हैं.

अयुर्योग एक्सपो 2019 में स्कूल जाने वाले छात्रों के लिए योग शिक्षा और सैद्धांतिक शिक्षा पर विशेष सत्र आयोजित किए जाएंगे जो न केवल उनके दिमाग को स्वस्थ बनाने के तरीकों पर होगा बल्कि उससे वे और बेहतर जीवनशैली पा सकेंगे.

हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद के साथ मिलकर इस कार्यक्रम का आयोजन इंडिया एक्सपोजिशन मार्ट लिमिटेड (IEML) द्वारा किया जा रहा है, इसमें इंडिया योग एसोसिएशन (IYA), ऑल इंडिया आयुर्वेदिक कांग्रेस (AIAC), सेंटर फॉर इनोवेशन इन साइंस ऐंड सोशल एक्शन (CISSA) और भारतीय प्राकृतिक चिकित्सा और योग स्नातक मेडिकल एसोसिएशन (INYGMA) सहयोगी हैं.

आयुर्योग एक्सपो 2019 बायोफेच इंडिया के साथ आयोजित किया जा रहा है, जो कि ऑर्गेनिक उत्पादों पर आधारित देश का सबसे बड़ा आयोजन है और जिसका लक्ष्य आर्गेनिक स्टेकहोल्डर्स, रिटेलर्स, निर्यातकों, आयातकों, सरकारी बोर्ड, राज्यों, सर्टिफिकेशन बॉडीज, सलाहकारों और संस्थाओं को एक उचित बिजनेस प्लेटफॉर्म प्रदान करना और देश एवं दुनिया में नेटवर्क बनाने का मौका प्रदान करना है.

बायोफेच इंडिया के पिछले संस्करण में 6000 से अधिक बिजनेस आगंतुक और 200 से अधिक ब्रांडों ने भाग लिया था. इस शो में बड़े स्तर पर उत्पादों का प्रदर्शन किया गया है जिसमें फूड, बेवरेज, मसाले, नेचुरल केयर, वेलनेस और टेक्सटाइल शामिल हैं

बायोफेच इंडिया का आयोजन NuernbergMesse India, APEDA के सहयोग से कर रहा है.

यह भी देखे:-

जे. पी. पब्लिक स्कूल में CBSE North ZONE 1 लाॅन टेनिस प्रतियोगिता का शुभारम्भ
एमिटी यूनिवर्सिटी कैंपस में मनाया गया डे ऑफ़ बेलॉन्गिंगनेस
मोनिका सुखीजा ने जीता एम्प्रेस यूनिवर्स 2018 कंट्री राउंड , पेश है बातचीत के कुछ अंश
भूमाता ब्रिगेड प्रमुख तृप्ति देसाई का कोच्चि एयरपोर्ट पर भारी विरोध
16 जुलाई को 20 जिले के किसान करेंगे कलेक्ट्रेट पर महापंचायत
लाखों के पटाखे सहित दुकानदार गिरफ्तार
पिलर से टकराई अनियंत्रित स्कूल बस, 16 बच्चे चोटिल, चालक गंभीर
लीडर बने फॉलोवर नहीं - कुसुम चोपड़ा
जेवर काण्ड के पीड़ितों को मिले मुआवजा - नरेंद्र भाटी
लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के लिए मेरा आभार : डॉ. महेश शर्मा
अब आप भी खोल सकते हैं सीएनजी स्‍टेशन, जानिए नई गाइडलाइन
सूरजपुर में आदर्श रामलीला शुरू, शिव पार्वती संवाद देख हर्षित हुए दर्शक
जेवर एयरपोर्ट से प्रभावित ग्रामों के किसानों को मिलेंगी सभी सहूलियतें : धीरेन्द्र सिंह
रेलवे ट्रैक पर मिला किशोर-किशोरी का शव
हथियारबंद बदमाशों ने कैब लूटी
भाजपा सरकार में आम आदमी हुआ बेदम : बृजपाल राठी