7-10 नवंबर को ग्रेटर नोएडा के इंडिया एक्सपो सेंटर ऐंड मार्ट में आयुर्योग का महाकुंभ

Ayuryog Expo 2019  –  World’s largest assembly on Yoga, Ayurveda and Naturopathy from November 7-10 at India Expo Mart being concurrently with BIOFACH India, the country’s largest and most focused event for organic products

Greater Noida – November 6, 2019 – आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा- आयुर्योग के जरिए स्वस्थ जीवन की कल्पना करने वाली दुनिया के पहले ऐसे आयोजन के शुभारंभ के साथ समग्र स्वास्थ्य और स्वस्थ जीवन शैली के भारतीय तरीके को लेकर 7 नवंबर 2019 एक ऐतिहासिक दिन होगा.
इस दिन ग्रेटर नोएडा के इंडिया एक्सपो सेंटर ऐंड मार्ट में आगंतुकों के लिए सुबह 11 बजे गेट खोल दिए जाएंगे.

स्वामी विवेकानंद योग अनुसंधान संस्थान और भारतीय योग संस्थान के अध्यक्ष पद्मश्री डॉ. एचआर नागेंद्र के नेतृत्व में देश में पहली बार आर्युर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा से जुड़े सभी योगियों, गुरुओं और विशेषज्ञों को जोड़ने की यह मेगा पहल की गई है.

भारतीय चिकित्सा और लाइफस्टाइल परंपराओं के विज्ञान को बताने वाले इस चार दिवसीय भव्य आयोजन में दुनिया के सामने सबसे खास पेशकश की जाएगी.
वास्तव में यह ऐसे दिग्गजों का एक विशाल समूह है, जिनकी आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा क्षेत्रों सभी में हिस्सेदारी है.

आईईएमएल के अध्यक्ष श्री राकेश कुमार के अनुसार, योगऋषि स्वामी रामदेव जी महाराज और श्री श्री रविशंकर द्वारा आयोजित सत्रों से लेकर इस क्षेत्र के चिकित्सकों और छात्रों द्वारा कई अन्य विशिष्ट वैज्ञानिक सत्रों तक, अयुर्योग 2019 में सब आयोजित होगा.

श्री कुमार ने बताया कि पूरे चार दिन, सत्र में कई वक्ता अपने अपने विशेषज्ञता के क्षेत्र में विस्तार से बताएंगे. इसमें प्रख्यात गणमान्यों में पद्म भूषण डॉक्टर एचआर नागेंद्र, पद्म भूषण डॉ. डेविड फ्रावले, पद्म भूषण वैद्य देवेंद्र त्रिगुण, मां डॉ. श्रीमती हंसजी जयदेव योगेंद्र, पद्मश्री वैद्य राजेश कोटेचा, डॉ. लोरेंजो कोहेन, डॉ. सत बीर सिंह खालसा, एंटोनियेटा रोजजी, डॉ. वसंत लाड और डॉ. दुआन गांग शामिल हैं.

उन्होंने कहा कि इस आयोजन में मुख्यतः दो विशेष सभाएँ होंगी, एक योगऋषि स्वामी रामदेव जी महाराज और दूसरी श्री श्री रविशंकर द्वारा की जाएंगी, ये योग विज्ञान की सीमाओं की पड़ताल करेंगी.
इस दौरान इस दुनिया के कई अन्य जाने माने चेहरे भी होंगे. स्वामी चिदानंद सरस्वती, एचएच जगत गुरु अमृता सूर्यानंद महाराजा, विश्वगुरु महामंडलेश्वर परमहंस श्री स्वामी महेश्वरानंद पुरी ने इस भव्य आयोजन में आने और लोगों से बातचीत करने की पुष्टि कर दी है.

श्री कुमार के मुताबिक, अयुर्योग एक्सपो 2019 में स्कूल जाने वाले छात्रों के लिए योग शिक्षा और सैद्धांतिक शिक्षा पर विशेष सत्र आयोजित किए जाएंगे जो न केवल उनके दिमाग को स्वस्थ बनाने के तरीकों पर होगा बल्कि उससे वे और बेहतर जीवनशैली पा सकेंगे.
अयुर्योग एक्सपो 2019 के एक्सपो भाग में दुनिया भर के प्रदर्शक अपने विशेष उत्पादों को प्रदर्शित करेंगे ताकि लोग उसे देख सकें और उसके अनुभव ले सकें.

यह एक्सपो सुबह 11 बजे से शाम 6 बजे तक सभी के लिए खुला रहेगा.

हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद के साथ मिलकर इस कार्यक्रम का आयोजन इंडिया एक्सपोजिशन मार्ट लिमिटेड (IEML) द्वारा किया जा रहा है, इसमें इंडिया योग एसोसिएशन (IYA), ऑल इंडिया आयुर्वेदिक कांग्रेस (AIAC), सेंटर फॉर इनोवेशन इन साइंस ऐंड सोशल एक्शन (CISSA) और भारतीय प्राकृतिक चिकित्सा और योग स्नातक मेडिकल एसोसिएशन (INYGMA) सहयोगी हैं.

Stalwarts from the Ayurveda and Yoga universe came together at the press conference called on November 6, at the Press Club of India in New Delhi, to announce the launch of AYURYOG EXPO 2019 which starts on November 7 and continues till November 10, 2019 at the India Expo Mart and Centre at Greater Noida.

Shri Rakesh Sharma, Chairman, IEML and Director General, EPCH in his opening statements spoke of his immense pride in bringing to the nation an event of the level of AYURYOG EXPO 2019. “The four-day event will cover the entire field of Ayurveda, Yoga and Naturopathy, a first in India. We have a galaxy of names who will ensure that AYURYOG EXPO 2019 will meet the needs of all who wish to attain wellbeing and health,” he said before handing over the mike to the others sharing the dias with him.

Dr HR Nagendra, President, Indian Yoga Association and Chairman AYURYOG EXPO, Steering Committee said on the occasion, “AYURYOG EXPO 2019, a mega initiative has been taken in the country for the first time to bring all yogis, gurus, experts and eminent personalities, related to Ayurveda, Yoga and Naturopathy.

“While one side of the event sees gurus and yogis like Yogrishi Swami Ramdev Maharaj,  Swami Amrta Suryananda Maha Raja, Vishwaguru Mahamandaleshwar Paramhans Sri Swami Maheshwarananda Puri, on the other we have scientific sessions led by the likes of Dr Lorenzo Cohen and Dr Sat Bir Singh Khalsa. This is to highlight that Yoga and Ayurveda is not merely a mumbo jumbo science but evidence-based and science-based”.

Padmabhushan Vaidya Devendra Triguna, President of All India Ayurvedic Congress said, “I am happy to see a ‘sangam’ of Yog and Ayurveda in an event of such a massive scale. We have to send out a message that India has been able to establish Yoga as a leading health science globally. When we began spreading the message of Ayurveda and Yoga in Europe in the late 70s, it was still nascent. Today lakhs of people follow the system and there are thousands of Ayurveda practitioners. I believe this will send out a positive message of health and wellbeing globally”.

Dr Bhushan Patwardhan, Vice Chairman, University Grants Commission felt that, “globally when there is a push for integrated medicine, Ayurveda and Yoga needs to be publicized and put on a common platform. I think both these fields are very important to treat lifestyle diseases”.

According to Dr Darshan Shankar, Founder of the University of Trans-Disciplinary Health Sciences and Technology, the “conference, which is a very large world assembly, is symbolic of the shift that is taking place globally in the healthcare space from disease management to health management”.

Lastly, Shri Satyendra Mehra, Group Director, NuernbergMesse India said, “BIOFACH is part of the world family of international events organised in Germany, Japan, Thailand, China and Brazil. After completing ten editions, we are very happy to have the 11th edition at the India Exposition Mart concurrently with AYURYOG EXPO 2019. The synergy of the two events is fantastic”.

आयुर्योग एक्सपो 2019 का आयोजन बायोफैक इंडिया के साथ किया जा रहा है, जो जैविक उत्पादों पर केंद्रित देश का सबसे बड़ा कार्यक्रम है, और जिसका उद्देश्य जैविक हितधारकों, खुदरा व्यापारियों, निर्यातकों व आयातकों, सरकारी बोर्डों, राज्य मंडपों, प्रमाणीकरण निकायों, सलाहकारों तथा भारत व दुनिया भर के संगठनों को आपसी नेटवर्किंग हेतु एक उत्तम व्यापार मंच प्रदान करना है।
 
 बायोफैक इंडिया के अंतिम संस्करण में 6,000 से अधिक व्यापारियों व उपभोक्ताओं तथा 200 से अधिक ब्रांडों ने भाग लिया था। यह आयोजन भोजन, पेय पदार्थ, मसाले, प्राकृतिक चिकित्सा व स्वास्थ्य तथा वस्त्र उद्योग से जुड़े उत्पादों की एक विस्तृत श्रृंखला को आकृष्ट करता है।
 
 बायोफैक इंडिया का आयोजन नुएन्बर्गमेस इंडिया द्वारा एपीडा के सहयोग से किया जाता है।

यह भी देखे:-

फीस वृद्धि मामले में डीएम की बैठक : कहा,  विवाद की स्थिति में बच्चों को स्कूल छोड़ने को मजबूर नहीं क...
हिन्दू युवा वाहिनी ने मनाई अम्बेडकर जयंती
मेरठ में हुई प्रॉपर्टी डीलर की हत्या केतार ग्रेटर नोएडा जेल से जुड़े
ग्रेटर नोएडा के मुबारकपुर में तीन मंजिला इमारत गिरी
यूपी बोर्ड के टापर्स छात्रों को करप्शन फ्री इंडिया संगठन ने किया सम्मानित
एशियन गेम खिलाड़ी की कार चोरी
ग्रेटर नोएडा में सजेगी चोटी के कवियों की महफ़िल , 21 सितम्बर को रामलीला मैदान सेक्टर पाई में होगा आयो...
बढ़ती जनसंख्या को लेकर उलटी पदयात्रा की
योग हमारे शरीर के साथ-साथ हमारे मन को भी रखता है स्वस्थ : धीरेन्द्र सिंह
मुठभेड़ के बाद बदमाश गिरफ्तार
गौतमबुद्ध नगर : ग्रेडिंग सिस्टम में फेल होने वाले 11 पुलिस चौकी प्रभारी लाइन हाज़िर
महंत अवैध नाथ की पुण्य तिथि धूमधाम से मनाई गई
ग्रेटर नोएडा में रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम को अनिवार्य रूप से लागू करे प्राधिकरण : गोल्डन फेड...
उत्तर प्रदेश : महिला पर फायरिंग कर भाग रहे ईनामी बदमाश को पुलिस ने मार गिराया
यूपी पुलिस ने किया जैश के 2 आतंकी गिरफ्तार, देवबंद के हॉस्टल से पकड़ा
भांजे पर लगाया लूट मारपीट करने का आरोप , पुलिस से की शिकायत