आईटीबीपी स्थापना दिवस परेड का आयोजन, गृह राज्य मंत्री ने ली परेड से सलामी

ग्रेटर नोएडा भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के 58वें स्थापना दिवस परेड आईटीबीपी की 39वीं वाहिनी, ग्रेटर नोएडा में आयोजित की गई। जी किशन रेड्डी, केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री, भारत सरकार ने परेड से सलामी ली। श्री रेड्डी ने बल के सभी पदाधिकारियों को आईटीबीपी स्थापना दिवस पर बधाई दी और आईटीबीपी द्वारा देश के हिमालयी क्षेत्र में स्थित अति कठिन एवं दुर्गम अग्रिम चैकियों पर उत्साह और चौकसी से की जा रही ड्यूटियों के लिए हिमवीरों की प्रशंसा की।

परेड में बल की सभी सीमांत की टुकडियों ने भाग लिया इसके रूप में महिला, कमांडो, स्कीइंग, माउं‍टेनियरिंग, पैराट्रूपर्स, डॉग स्क्वाइड व अश्वारोही सवार दस्ते क्रमानुसार सम्मिलित रहे । परेड में बल के सभी पहलुओं को दर्शाया गया जिसमें बल में शामिल किए गए उपकरण तथा वाहनों के साथ साथ विभिन्न प्रकार के ऑल टेरेन व्हीकल्स, विभिन्न हाई पावर एस.यू.वी., पोलनेट इत्यादि सम्मिलित थे। परेड में बल के पदद्मश्री और तेनजिंग नोर्गे नेशनल एडवेंचर अवार्ड विजेता कर्मियों को भी शामिल किया गया ।

एस. एस. देसवाल, महानिदेशक, आईटीबीपी ने मुख्य अतिथि एवं अन्य गणमान्य अतिथियों का स्वागत किया और बल के विभिन्न क्रिया-कलापों और पिछले कुछ वर्षों में बल की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला।

इस मौके पर आईटीबीपी के 06 पदाधिकारियों को वीरता के लिए पुलिस पदक, 06 पदाधिकारियों को विशिष्टं सेवा के लिए राष्ट्रीपति पुलिस पदक, 24 अन्य पदाधिकारियों को सराहनीय सेवा के लिए पुलिस पदक तथा 08 पदाधिकारियों को यूनियन होम मिनिस्टर्स मेडल फॉर एक्सीलेंस इन पुलिस ट्रेनिंग से विभूषित किया गया।
माननीय गृह मंत्री ने वर्ष के सर्वश्रेष्ठ संस्थानों को ट्रॉफी प्रदान की जिनमें सर्वश्रेष्ठी प्रशिक्षण केंद्र की ट्रॉफी एस.टी.एस., शिवपुरी (म.प्र.) ने प्राप्त की तथा स्वच्छता ट्रॉफी 38वीं वाहिनी, राजनंदगांव ने प्राप्त की।

वर्ष 2019 के लिए बल की 13वीं वाहिनी, लिंगडम को सर्वश्रेष्ठी बॉर्डर बटालियन 26वीं वाहिनी, लुधियाना को सर्वश्रेष्ठप नॉन बॉर्डर बटालियन तथा 38वीं वाहिनी, राजनंदगांव को सर्वश्रेष्ठि ए.एन.ओ. बटालियन घोषित किया गया और ट्रॉफी भेंट की गईं।
इस मौके पर बल की वर्षभर की उपलब्धियों को संजोए एक वार्षिक विषेशांक पुस्तिका का भी विमोचन किया गया। परेड के बाद अनेक प्रदर्शन दिखाए गए जिसमें महिला पाइप बैंड, असेंडिंग एंड डिसेंडिंग टेकनीक एंड आर्टिफिशियल वॉल, मलखम’’ एवं जाँबाज मोटर साइकिल के प्रदर्शन शामिल थे।

आईटीबीपी का गठन 1962 में किया गया था। वर्तमान में यह बल उच्च तुंगता वाले क्षेत्रों में 3000 से 18900 फीट की ऊँचाई पर स्थित अग्रिम चैकियों पर तैनात रहकर 3488 किमी0 लंबी भारत-चीन सीमा की सुरक्षा का कार्य कर रही है। इसके अतिरिक्त यह बल नक्सल प्रभावित इलाकों के साथ-साथ आंतरिक सुरक्षा व वीआईपी सुरक्षा ड्यूटियों में भी तैनात है।

यह भी देखे:-

 लाल किले पर हिंसा के मुख्य आरोपी दीप सिद्धू को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार
कोरोना स्ट्रेन: गृह मंत्रालय ने कोविड-19 के लिए दिए नए दिशानिर्देश, जानें क्या है नए नियम
अखिलेश यादव का हमला, बोले- लोगों को कोरोना से बचाने के बजाय चुनाव प्रचार कर रहे हैं भाजपा नेता
गौतमबुद्ध नगर : एसएसपी अजय पाल शर्मा ने थाना प्रभारियों में किया फेरबदल
करप्शन फ्री इंडिया संगठन के कार्यकर्ताओं ने विरोध दर्ज कराया
बच्चों के भक्ति संगीत प्रतियोगिता से होगा विजय महोत्सव 2018 का आगाज , 11 अक्टूबर से रामलीला का मंचन
Flipkart Electronics Sale कल से शुरू, सस्ते में इन शानदार स्मार्टफोन को खरीदने का होगा मौका
पीएम मोदी ने ली कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज, AIIMS में सुबह-सुबह लगवाया टीका
PM की अपील का गहरा असर, विन-पोर्टल पर 50 लाख से अधिक लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन
COVID-19: मुश्किल वक्त में मुकेश मासूम बने अपने गांव का सहारा
कार बैक करते हुए बच्ची कुचली , दर्दनाक मौत
रोजगार पर दिखने लगा कोरोना संक्रमण का असर, शहरी इलाके में बेरोजगारी बढ़ी
रामायण के राम हुए भाजपा मे शामिल, पढें ये पूरी ख़बर
कोरोना को हमने हरा दिया...इसी धारणा से भारत में कोरोना की दूसरी लहर ने मचाया कहर
कोरोना पॉज़िटिव निकलने पर स्वास्थ्य कर्मियों का हंगामा प्रदर्शन
मकोड़ा के ग्रामीणों का विरोध प्रदर्शन जारी