श्रीराम लखन धार्मिक लीला रामलीला मंचन : श्री राम ने शिव धनुष तोड़ा, सीता ने डाली वरमाला

नोएडा : श्रीराम लखन धार्मिक लीला कमेटी के तत्वावधान में आयोजित रामलीला महोत्सव के चौथे दिन दीप प्रज्ज्वलन के साथ लीला मंचन का श्रीगणेश हुआ। राजा जनक शतानंद जी को बुलाकर विश्वामित्र जी को आमंत्रित करने के लिए भेजते हैं। विश्वामित्र जी राम, लक्ष्मण के साथ धनुष यज्ञ शाला पहुंचते हैं जहां पर सीता का स्वयंबर होना है। सबसे सुंदर मंच पर मुनि समेत राम लक्ष्मण को राजा जनक बैठाते हैं। बंदीजन राजा जनक की प्रतिज्ञा की सभा मध्य घोषणा करते हैं की जो भी शिव धनुष का भंजन करेगा उसी के साथ सीता का विवाह होगा। रावण, बाणासुर जैसे शक्तिशाली योद्धा धनुष को अपनी जगह से हिला तक नही सके। राजा जनक यह देखकर व्याकुल होकर कहते हैं कि लगता है पृथ्वी अब वीर विहीन हो गयी है। यह बात सुनकर लक्ष्मण जी क्रोधित होकर कहते हैं कि अगर भैया आदेश दे दें तो धनुष क्या चीज हैं पूरे ब्रम्हांड को गेंद के समान उठा लूं। गुरु विश्वामित्र राम को आदेश देते हैं कि हे तात शिवबधनुष का भंजन कर जनक जी के संताप को दूर करो।

भगवान राम धनुष की जैसे ही प्रत्युन्चा चढ़ाते हैं धनुष टूट जाता है।” तेहि छन राम मध्य धनु तोरा, भरे भुवन धुनि घोर कठोरा” जनकपुर में चारों ओर खुशी छा जाती है। सीता जी राम जी के गले में वरमाला डाल देती हैं और सुर ,नर, मुनि, किन्नर, देवता पुष्पों की वर्षा करते हैं। धनुष भंग सुनकर परशुराम जी का आगमन होता है वह क्रोध में जनक से पूछते हैं कि हे मूर्ख यह धनुष किसने तोड़ा है। लक्ष्मण और परशुराम का संवाद होता है। परशुराम जी जान जाते है कि राम और कोई नहीं साक्षात विष्णु के अवतार है। क्षमा मांगकर परशुराम जी महेंद्र पर्वत पर प्रस्थान कर जाते हैं । इसी के साथ चौथे दिन की लीला का विराम होता है।
आयोजन समिति के महासचिव राघवेंद्र दुबे ने बताया कि रामलीला मैदान सेक्टर 46 के पास स्थित मंदिर से 4 बजे राम बारात शोभायात्रा निकाली जाएगी जो सेक्टर 45 एवं 46 के विभिन्न मार्गों से घूमती हुई पुनः रामलीला मैदान पहुंचेगी। सामाजिक सद्भाव का संदेश देने के लिए रामबारात का मुस्लिम समाज द्वारा स्वागत किया जाएगा। बैंड बाजों के साथ बग्घियों पर सवार होकर झांकिया निकाली जाएगी। जनक जी द्वारा बारात का स्वागत, चारों भाइयों का विवाह, कैकई मंथरा संबाद, दशरथ कैकई संबाद, राम वन गमन आदि प्रसंगों का मंचन किया जाएगा।

इस अवसर पर आयोजन समिति के चेयरमैन बीपी अग्रवाल, अध्यक्ष विपिन अग्रवाल,लीला संचालक पंडित कृष्णा स्वामी, वाइस चेयरमैन पूनम सिंह, राजेन्द्र जैन, मुख्य संरक्षक आलोक गुप्ता,कोषाध्यक्ष सुरेश गुप्ता, मुख्य यजमान संजय गोयल, स्वागत अध्यक्ष रामबीर यादव, संरक्षक अशोक गोयल, नरेश कुच्छल, मुख्य सलाहकार सुभाष चंद शर्मा, मनोज चौहान, रविकांत मिश्रा ,टीसी गौड़, सीए मनोज अग्रवाल, सतेंद्र शर्मा, बाबूलाल बंसल, मनोज गोयल, अर्जुन प्रजापति, अविनाश सिंह, योगेश शर्मा, मनोज ब्रजवासी, श्रीकांत बंसल, बबलू चौहान, नरेंद्र चोपड़ा,सुनील गुप्ता, अनुज गुप्ता, मुकेश गुप्ता, एसपी जैन, योगेंद्र शर्मा ,पीएस मिश्रा, बजरंग तिवारी, दीपक चौहान, राजेंद्र चौहान,अर्जुन प्रजापति, गोरेलाल, संजय पांडे, अमितेश सिंह, हरि शंकर,गिरिराज अग्रवाल, शैलेश द्विवेदी, प्रमोद तिवारी, शिवव्रत तिवारी सहित तमाम पदाधिकारी मौजूद रहे।

यह भी देखे:-

नॉएडा सनातन सभ्यता के अनुरूप आयोजित रामलीला कार्यक्रम में पहुँची कांग्रेस नेता पंखुड़ी पाठक
श्री धार्मिक रामलीला मंचन सेक्टर - पाई में सीता विदाई राम वनवास व चित्रकूट की कथाओं का मंचन
श्री धार्मिक रामलीला पाई 1: रावण ने छल से किया सीता का हरण, देख जटायु ने किया रावण पर प्रहार
श्री राम मित्र मंडल : छल से सीता का हरण कर ले गया रावण
श्रीराम मित्र मंडल रामलीला : शिव धनुष तोड़ सिया के हुए राम
श्री रामलीला कमेटी साईट - 4 : प्रभु राम के अग्निवाण से रावण कुम्भकरण और मेघनाद के पुतले का हुआ दहन,...
श्री रामलीला कमेटी साईट - 4 रामलीला मंचन शुरू , हनुमान जी ने जला डाली सोने की लंका
श्रीराम मित्रमंडल राम लीला: रावण के साथ भ्रष्टाचार, आतंकवाद एवं महिला उत्पीड़न के पुतलों का दहन
श्री रामलीला कमेटी  साइट 4  द्वारा रावण के साथ साथ कोरोना रूपी दानव के पुतले का भी किया गया दहन
आदर्श रामलीला मंचन सूरजपुर : परशुराम लक्ष्मण संवाद देख दर्शक हुए रोमांचित
बारिश ने रोकी रामलीला की राह, निराश लौटे दर्शक
श्रीराम मित्र मण्डल रामलीला मंचन : रावण का अहंकार दूर करने अंगद ने लंका दरबार में जमाया पैर
श्रीराम मित्र मण्डल रामलीला :  राम जन्म से अयोध्या मे खुशी की लहर
आदर्श रामलीला सूरजपुर : लगी लंका में आग, क्रोधित हुआ लंकेश्वर
जहांगीरपुर : श्री राम के राजतिलक के साथ रामलीला का समापन
भक्ति संगीत नृत्य प्रतियोगिता के साथ विजय महोत्सव 2019 का आगाज