रामईश फार्मेसी संस्थान: “21वीं सदी में फार्मेसी शिक्षण पद्धति में क्रन्तिकारी परिवर्तन” विषय पर सेमिनार का आयोजन

ग्रेटर नोएडा : आज रामईश फार्मेसी संस्थान में डा. एपीजे अब्दुल कलम प्राविधिक विश्वविधालय द्वारा प्रायोजित एक दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन किया गया . सेमिनार का शीर्षक “21वीं सदी में फार्मेसी शिक्षण पद्धति में क्रन्तिकारी परिवर्तन” रहा .
SEMINAR IN RAMESH SEMINAR IN RAMESH
सेमिनार का शुभारंभ रामईश संस्थान समूह के चेयरमैन डा. आर सी शर्मा एवं अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलित करके किया गया.सेमिनार में एमिटी यूनिवर्सिटी नॉएडा प्रोफेसर डा. नीलमणि ने छात्रों को “कृत्रिम बुद्धिमता” के बारें में समझाते हुए बताया कि कैसे आज प्रारंभिक शिक्षा में स्मार्ट क्लासेज का इस्तेमाल किया जा रहा है . स्कूल में अगर छात्रों को अगर किसी विषय को समझने में परेशानी होती है तो वो कृत्रिम बुद्धिमता का इस्तेमाल करके अपने संकोच दूर कर सकते है. कृत्रिम बुद्धिमता की वजह से आज शिक्षक एक शिक्षक से ज्यादा समन्वक बन चुका है. भारत की प्रमुख दवा कंपनी पनेसिया बायोटेक की डिप्टी मेनेजर रुपाली दहाके ने बताया कि आज छात्र और शिक्षक के बीच की दूरियां कम करने में कृत्रिम बुद्धिमता का विशेष योगदान है . आजकल ऐसे सॉफ्टवेयर मौजूद है जो सीधे छात्र की प्रत्येक शैक्षिक गतिविधि और उपलब्धियों को सीधे उनके परिजनों तक पहुंचाते है और उसी के माध्यम से शिक्षक एवं परिजनों वैज्ञानिक तथ्यों के आधार पर छात्रों की कमजोरी ढूँढने में सफल हो रहे है. सॉफ्टवेयर और कृत्रिम बुद्धिमता की वजह से आज दवा परिक्षण एवं शोध में जानवरों का इस्तेमाल ज्यादा नहीं करना पड़ता और नतीजे भी जल्दी मिल जाते है जिससे नई दवाएं बाजार में जल्दी आने लगी है . किसी भी नए रोग का इलाज आज कृत्रिम बुद्धिमता का इस्तेमाल करके कुछ ही महीनों में खोजा जा सकता है .

सेमिनार में दत्त मंदी प्रोडक्ट्स, नई दिल्ली के जनरल मेनेजर और डा. मीनू नरवाल ने भी अपने विचार रखे. सेमिनार में संस्थान की प्रबंध निदेशिका डा. प्रतिभा शर्मा, डा. जैनेन्द्र जैन, डा. पल्लवी राय, डा. संदीप बंसल, डा. रामबाबू त्रिपाठी सहित उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, पंजाब, राजस्थान आदि प्रदेशों के फार्मेसी एवं बायोटेक्नोलॉजी विभागों के शिक्षकगण एवं छात्रों सहित लगभग 300 लोगों ने शिरकत की .

यह भी देखे:-

शारदा विश्विद्यालय : नवप्रवेशित मेडिकल छात्रों काे बताया गया , चिकित्सा पेशा नहीं, सेवा का कार्य ...
गलगोटिया विश्वविद्यालय में छात्रों के लिए व्याख्यान संगोष्ठी, मैन पावर की प्लानिंग विषय पर जोर
देखें VIDEO, जी.एल. बजाज इनोवेशन मैराथन : छात्रों को इन्टरप्रिन्योरशिप के प्रति किया गया जागरुकता
आई आई एम टी कॉलेज :  वर्चुअल URJA2K21(ऑनलाइन खेल प्रतियोगिता) का आयोजन
द्वितीय जग्गनाथ मूट प्रतियोगिता का हुआ शुभारम्भ
छात्राओं ने सीखे आत्मरक्षा के गुर, एसपी सुनीति ने छात्राओं को "मेरी सुरक्षा, मेरा दायित्व, मेरे हाथ...
एपीजे स्कूल ने मनाया भूजल संरक्षण दिवस
हरलाल संस्थान ने मनाया 19 वाँ स्थापना दिवस समारोह
शांति का नोबेल: फिलीपींस की पत्रकार मारिया रेसा-रूस के दिमित्री मुरातोव पत्रकार को मिला सम्मान ,
एपीजे इंटरनेशनल स्कूल ने मनाया संविधान दिवस
’जेवर विधानसभा के लगभग 100 परिषदीय विद्यालयों की बदलेगी तस्वीर’’  एक साथ होगा कायाकल्प’’ , नए लुक मे...
गलगोटिया कॉलेज  में  "इंपैक्ट ऑफ कोविड -19 ऑन सोसायटी" विषय पर एक दिवसीय वेबिनार का आयोजन  
आई0 टी0 एस0 डेंटल काॅलेज: दीक्षांत समारोह में डेंटल के 115 छात्रों ने हासिल की डिग्री
बैक्सन होम्योपैथिक मेडिकल काॅलेज में मनाया गया विश्व जनसंख्या दिवस
ईशान आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज: नस्य चिकित्सा पर आयुर्वेद कार्यशाला
Ryan International School : NATIONAL LIVE OLYMPIAD ACHIEVERS