एल्गार परिषद-भीमा कोरेगांव मामला, नोएडा में प्रोफेसर के घर छापा

भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में आज महाराष्ट्र पुलिस ने नोएडा स्थित डीयू के एक प्रोफेसर के घर पर छापेमारी की कार्यवाही की है । जिस प्रोफेसर के घर पुलिस ने छापा मारा उनका नाम हनी बाबू बताया जा रहा है। हनी बाबू दिल्ली यूनिवर्सिटी में अंग्रेजी के प्रोफ़ेसर बताए जा रहे हैं। वह नोएडा के सेक्टर 78 स्थित हाइड पार्क सोसायटी में रहते हैं। जानकारी के मुताबिक छापेमारी के दौरान हनी बाबू घर में ही मौजूद थे।

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक डीयू प्रोफेसर के घर में छापेमारी के दौरान कुछ किताबें मिली है। पुलिस ने पंचनामा करवाकर किताबों को जब्त कर लिया है। इसके अलावा अन्य कुछ चीजें भी पुलिस साथ ले गई है, हालांकि इसके बारे में अभी तक कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है।

पुलिस के अनुसार, छापेमारी कार्यवही की वीडियो रिकॉर्डिंग भी की गई। छापेमारी की टीम में डीसीपी क्राइम बच्चन सिंह, एसीपी शिवराज पंवार, साइबर एक्सपर्ट और अन्य लोग भी मौजूद रहे। छापेमारी में नोएडा सेक्टर 49 थाना पुलिस और गौतमबुध नगर के एसएसपी वैभव कृष्ण ने महाराष्ट्र पुलिस को सहयोग दिया। फिलहाल किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

गौरतलब है कि वर्ष 2018 में भीमा कोरेगांव हिंसा में डीयू प्रोफेसर का नाम प्रकाश आया था। उस समय इस मामले में नक्सलियों का हाथ होने की बात सामने आई थी। जिसके बाद महाराष्ट्र पुलिस ने कई लोगों को नजरबंद किया था। हनी बाबू का नाम भी इस मामले में चर्चा में आया था। जिसके बाद आज दोपहर महाराष्ट्र पुलिस उनके नोएडा स्थित आवास पर छापेमारी करने पहुंची।

क्या है पूरा मामला

भीमा-कोरेगांव हिंसा एक जनवरी 2018 को हुई थी। भीमा-कोरेगांव युद्ध की 200वीं वर्षगांठ के दौरान नए साल के दिन पुणे में दलित समूहों और दक्षिणपंथी हिंदू संगठनों के बीच संघर्ष हो गया था, जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। 31 दिसंबर 2017 को पुणे में एलगार परिषद का आयोजन किया गया था। इस परिषद के दूसरे दिन भीमा कोरेगांव में हिंसा हुई थी। हिंसा के लिए यलगार परिषद के आयोजन पर भी आरोप लगाया गया था।

इसी दौरान मुंबई और कल्याण से कई माओवादी कार्यकर्ता पकड़े गए थे। जिनसे पूछताछ में भीमा कोरेगांव दंगे में माओवादी साजिश का पता चला था। नए साल के मौके पर महाराष्ट्र के पुणे जिले में भीमा-कोरेगांव की लड़ाई का जश्न मनाने के लिए एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया लेकिन ये कार्यक्रम हिंसक झड़प में तब्दील हो गया। इस झड़प में एक व्यक्ति की मौत हो गई और इलाके में तनाव फैल गया। ये जश्न अंग्रेजों की जीत को लेकर मनाया गया था। दलित संगठन, पेशवा बाजीराव द्वितीय की सेना पर अंग्रेजों के शौर्य दिवस को हर साल धूमधाम से मनाते हैं।

यह भी देखे:-

गौतमबुद्ध नगर : चार थाना-कोतवाली प्रभारियों में फेरबदल
ग्रेटर नोएडा : डेल्टा 2  में नि:शुल्क कोविड-19 जांच शिविर का आयोजन     
फैक्ट्री में तैनात सुरक्षा गार्ड की रोड डंडे से पीटकर हत्या
जी.एल बजाज में रक्तदान व वृक्षारोपण कार्यक्रम
समाधान दिवस में 164 शिकायतें हुई दर्ज, 10 का मौके पर निस्तारण
गड्ढा युक्त सड़कों पर धान लगाकर करप्शन फ्री इंडिया के कार्यकर्ताओं ने किया विरोध
पुलिस गश्त होगी मजबूत, हीरो मोटोकाॅर्प ने नोएडा पुलिस को दिए नए दुपहिया वाहन
राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान में एडवांस मॉलिक्यूलर तकनीक पर कार्यशाला आयोजित
सराहनीय , नोएडा पुलिस के इस दरोगा ने बचाई बच्ची की जान, पेरेंट्स ने कहा थैंक यू
कमांडो 3 मूवी के विरोध में उतरे नोएडा के पहलवान
प्रवीण भाई तोगड़िया को मंदिर में जाने से रोका गया
रोटरी क्लब ग्रीन ग्रेटर नोएडा ने IIMT कॉलिज में रक्तदान शिविर का आयोजन किया
पेशेवर सेवा कंपनी जज ग्रुप ने मनाई पहली वर्षगांठ
खड़ी गाड़ियों से करते थे डीजल चोरी, दादरी पुलिस ने दबोचा
COVID 19 : जानिए गौतमबुद्ध नगर (नोएडा व ग्रेटर नोएडा) में क्या है रिपोर्ट
रावण की जन्मस्थली बिसरख : राम की नहीं रावण की होती है पूजा