शारदा विश्वविद्यालय, ओरिएंटेशन प्रोग्राम में नवप्रवेशित छात्रों को बताया गया शिक्षा का महत्व

ग्रेटर नोएडा : स्कूल ऑफ बेसिक साइंसेज एंड रिसर्च, शारदा विश्वविद्यालय, ग्रेटर नोएडा ने नए सत्र 2019-20 बैच के लिए ओरिएंटेशन प्रोग्राम और शिक्षक दिवस समारोह का आयोजन किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी के पूर्व वाईस चांसलर प्रोफेसर आर. के. खांडल मौजूद थे । विश्वविद्यालय के वरिष्ठ अधिकारीयों के साथ साथ शारदा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर जी. आर. सी. रेड्डी, स्कूल ऑफ बेसिक साइंस और रिसर्च के डीन प्रोफेसर एच. एस. गौर, परीक्षा नियंत्रक प्रोफेसर आर. सी. सिंह, डीन एकेडेमिक्स प्रोफेसर एस. खरे , डीन रिसर्च प्रोफेसर एच. एस. पी. राव उपस्थित थे |इसमें नए दाखिले वाले सभी विद्यार्थी उपस्थित होकर शारदा विश्वविधालय के नियमों से अवगत होने के साथ साथ अध्यापक दिवस भी मना रहे थे |
SHARDA UNIVERSITY, ORIENTATION PROGRAMME
स्कूल ऑफ बेसिक साइंस और रिसर्च के प्रोफेसर एच. एस. गौर ने सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए अपने भाषण में छात्रों को जीवन में शिक्षा और शिक्षकों के महत्व को समझाया| छात्रों को अपने-अपने देशों के नागरिकों में विकसित होने और बड़े पैमाने पर मानवता की शांति, खुशी और बेहतरी के लिए काम करने के लिए प्रेरित किया।

प्रोफेसर एच. एस. गौर ने प्रोफेसर आर. के. खांडल का स्वागत करते हुए कहा की यह शारदा यूनिवर्सिटी के लिए गर्व का विषय है की हमारे बीच अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी के पूर्व वाईस चांसलर प्रोफेसर आर. के. खांडल मौजूद हैं जो छात्रों से अपने अनुभव साँझा करेंगे |

कुलपति, प्रो. जी.आर.सी. रेड्डी ने समारोह की अध्यक्षता करते हुए छात्रों को किसी भी क्षेत्र में अपने करियर में सर्वोच्च हासिल करने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित किया। अच्छे शिक्षकों के गुणों को समझाया गया और भारत के दूसरे राष्ट्रपति, भारत रत्न स्वर्गीय डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन को श्रद्धांजलि दी गई। उन्होंने अपने भाषण की शुरुआत श्लोक मातृ देवो भव : पितृ देवो भव : आचार्य देवो भव : के माध्यम से छात्रों को बताया की जब तीन उत्तम शिक्षक अर्थात एक माता, दूसरा पिता और तीसरा आचार्य हो तो तभी मनुष्य ज्ञानवान होगा।

परीक्षा नियंत्रक, प्रोफेसर आर. सी. सिंह ने अपने भाषण में भूतकाल और वर्तमान में छात्रों की भूमिका के बारे में बताया उन्होंने अपना उद्हारण देते हुए बताया की ये मेरे लिए गर्व की बात है की मेरे पिताजी भी अध्यापक थे और उनसे मुझे बचपन से ही बहुत कुछ सिखने को मिला और उन्होंने एक घटना का जिक्र करते हुए कहा की जब मैंने हाई स्कूल की परीक्षा उत्तीर्ण की तो मैंने अपने पिताजी से पूछा की में कौनसा विषय लू तो मेरे पिताजी का जवाब था बेटा मेरा विषय छोड़कर कोई भी ले लो अर्थात उनका तात्पर्य ये था की अगर तुम मेरा सब्जेक्ट ले लोगे तो लोग कहेंगे की तुम्हारे पिताजी की वजह से तुमने परीक्षा उत्तीर्ण की है इसलिए तुम कोई और विषय का चयन करो ।

प्रोफेसर आर. के. खांडल ने अपने भाषण में छात्रों के साथ साथ शिक्षकों को भी शिक्षा के महत्व के बारे में समझाया| उन्होंने शिक्षकों से अनुरोध किया की वो भी समय के साथ साथ अपने ज्ञान में निरंतर वृद्धि करते रहे और नए नए अनुसंधान करते रहे । प्रो. खांडल ने शिक्षा और राष्ट्र के विकास में विज्ञान और प्रौद्योगिकी की भूमिका का वर्णन किया। उन्होंने भारत की उच्च उपयोगिता वाले युवा शक्ति के महत्व पर जोर दिया और बताया कि उनके पास पूरे विश्व में अवसर हैं। उन्होंने स्वस्थ और खुश रहने और सफलता प्राप्त करने के लिए अच्छी आदतों, अनुशासन, सकारात्मकता और जीवन शैली के कई अन्य पहलुओं पर जोर दिया। 400 से अधिक छात्रों और संकाय सदस्यों द्वारा सराहना की गई। उन्होंने सभी छात्रों को अनमोल वचनो के माध्यम से जानकारी साँझा की जैसे ; खिलो और खुलो, जैसा भाव वैसा प्रभाव । कार्यक्रम के अंत में डॉ. पी. के. सिंह ने उपस्थित सभी का धन्यवाद ज्ञापन किया |

यह भी देखे:-

गलगोटिया विश्विद्यालय लॉ के छात्रों ने महिला अधिकार के प्रति किया जागरूक
एस्टर पब्लिक स्कूल : सिद्धार्थ शर्मा हेड बॉय तो मेघा शर्मा बनी हेड गर्ल
गलगोटिया कॉलेज के शुभम सिंह का अच्छे पैकेज पर अमेज़न वेब सर्विस में चयन
आईटीएस डेंटल कॉलेज :‘नो स्मोकिंग डे‘ पर छात्रों व शिक्षकों ने ली स्मोकिंग न करने की शपथ
वृक्षारोपण कर अप्रैल फूल को बनाया अप्रैल कूल
आई0 टी0 एस0 डेंटल काॅलेज  दीक्षांत समारोहआयोजित,  ‘‘डिग्री पाकर खिले छात्रों के चेहरे’’
गौतमबुद्ध विश्विद्यालय के छात्रों द्वारा 'आज़ाद: द अनसंग हीरो' नाटक का मंचन , चंद्रशेखर आज़ाद की जीवन...
शिक्षा मंत्री ने सीबीएसई बोर्ड 10 वीं व 12 वीं के  परीक्षा के तारीख की घोषणा की  , जानिए विस्तार से 
आईआईएमटी कॉलेज में शिक्षक मिलन समारोह ‘समागम- 2019’ का आयोजन
सफल जीवन में गुरु का अनमोल योगदान हस्तक्षेप
जीएल बजाज में मैनेजमेण्ट प्रेक्टिसेस फार सस्टेनेबिलिटी पर अंतरष्ट्रीय सेमिनार
इंटरनेशनल चैंबर ऑफ प्रोफेशनल एजुकेशन एंड इंडस्ट्री (ICPEI) ने अंतर्राष्ट्रीय प्रबंधन दिवस और उत्कृष्...
हिन्दी साहित्य को नया अमली जामा पहना रहा है वेब-चौपाल "तीखर"
यूपी बोर्ड के टॉपर्स बच्चों को डीएम बी.एन. सिंह ने किया सम्मानित
वोकल फॉर लोकल :प्रधानमंत्री शनिवार को पहले 'भारत खिलौना मेला' का वर्चुअल उद्घाटन करेंगे
UP BOARD RESULT : किसान परिवार की बेटी 12 th में बनी जिले की 4 th टॉपर : डॉक्टर बनकर देश की सेवा ...