माँ अहिल्या सेवा संस्था द्वारा एक भव्य भंडारे का आयोजन

नोएडा। माँ अहिल्या सेवा संस्था द्वारा एक भव्य भंडारे का आयोजन सेक्टर 42 स्तिथ शनि मंदिर पर किया गया जिसमें लगभग 1500 से अधिक श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल नोएडा इकाई के जिलाध्यक्ष नरेश कुच्छल, संस्था के संस्थापक आचार्य केशव पंडित ने विधिवत भगवान शनि का पूजन किया ओर तत्पश्चात भंडारा प्रारम्भ किया गया । आचार्य केशव पंडित ने बताया कि संस्था द्वारा समय समय पर विभिन्न स्थानों पर भंडारे का आयोजन किया जाता है ओर साथ ही सर्दियों मे जरूरत मंदो को कंबल एवं ऊनि वस्त्र वितरित किये जाते हैं जिसमे संस्था को उत्तर प्रदेश उद्योग प्रतिनिधि मंडल का सहयोग भी मिलता रहता है आगामी आयोजनों मे संस्था द्वारा स्टील के बर्तनों का उपयोग किया जाएगा जिससे पर्यावरण को हानि से बचाया जा सके। इस अवसर पर श्यामा पंडित, भोपाल सिंह चौहान, आलोक चौहान, यशपाल चौहान, ज्योतिसचार्य संस्थापक माँ अहिल्या केशव पंडित जी, माणिक चंद हलदर, मनीष चौहान, नवीन दहिसरा, महामंत्री संदीप चौहान, सतनारायण गोयल, चन्द्रप्रकाश गौड़, कपिल मिश्रा, सुनील चौहान, गौरव चौहान, सीताराम चौहान सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।

यह भी देखे:-

पत्नी की चाकू से गोदकर की गयी हत्या का खुलासा
आज का पंचांग, 29  सितम्बर 2020 , जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त 
खनन पर गोपनीयता के साथ चला छापेमारी अभियान, जेसीबी व पोपलेन मशीन जब्त
बैरिक में मृत मिला कांस्टेबल
विश्व बाल-श्रम निषेध दिवस : जागरूकता शिविर का आयोजन
गुरु पूर्णिमा एवं दक्ष प्रजापति जयंती पर फल वितरण
आज का पंचांग, 18 जनवरी 2021, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त
गौतमबुद्ध नगर :तीन क्षेत्राधिकारियों (सीओ) के कार्यक्षेत्र में फेरबदल
नोएडा सेक्टर 62 के रामलीला मैदान मे हुआ भूमि पूजन, श्री राम लीला की तैयारी शुरू
आज का पंचांग, 2 फरवरी 2021, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहुर्त
आज का पंचांग, 21 जनवरी 2021, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहुर्त
डेरा प्रमुख राम रहीम मामला : अफवाह पर न दें ध्यान, जनपद में स्थिति सामान्य - गौतमबुद्ध नगर पुलिस
जानिए , पुलिस कमिश्नर प्रणाली में नोएडा पुलिस को मिले ये अधिकार
आज का पंचांग, 14 जनवरी 2021, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त
आज का पंचांग, 9 फरवरी 2021, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहुर्त
हनुमंत कथा में रैदास की कथा का वर्णन, कथावाचक कौशल जी महाराज बोले , मन चंगा तो कठौती में गंगा