गौतमबुद्ध विश्विद्यालय के छात्रों द्वारा ‘आज़ाद: द अनसंग हीरो’ नाटक का मंचन , चंद्रशेखर आज़ाद की जीवनी पर आधारित है नाटक

ग्रेटर नोएडा : ‘आज़ाद: द अनसंग हीरो’ पूर्णतयः दृढ़ता और दृढ़ संकल्प का एक प्रयास है। आज हम जिस स्वतंत्रता का आनंद ले रहे हैं, वह हमारे स्वतंत्रता सेनानियों की तपस्या का ही परिणाम है, जो हमारे लिए लड़े, विशेष रूप से वह क्रांतिकारी जिन्होंने साम्राज्यवाद की नींव को हिला दिया। लेकिन दुर्भाग्यवश, कई स्वतंत्रता सेनानियों को वह मान्यता और ख्याति नही मिल पायी जिसके वो हकदार थे। आज़ाद: द उन्संग हीरो, एक ऐसे ही नायक चंद्रशेखर आज़ाद की जीवनी पर आधारित नाटक है जिसका मंचन आज गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय के छात्रों द्वारा किया गया। भगत सिंह जैसे कई क्रांतिकारियों की कहानियों ने सामान्य आवाम तक अपना रास्ता बना लिया है और लोग पूरी तरह से तथ्यों से परिचित हैं, सार्वजनिक मान्यता एक अहम पहलू है जो संभवतः युवा अपील से संबंधित है। हमें पटकथा को ख़त्म करने में एक साल का समय लगा था क्योंकि हमें एक सटीक और संपूर्ण शोध के बाद तथ्यों को यथासंभव सटीक रखना था। यह सिर्फ एक और नाटकीय प्रयास नहीं है, बल्कि नि:स्वार्थ भाव से अपनी मातृभूमि के लिए प्राण न्योछावर करने वाले एक शख्स की दास्तां को आम लोगों तक पहुंचाने का एक प्रयास है। सामूहिक प्रयत्न ने इसे संभव बना दिया है, क्योंकि पटकथा महज़ एक नींव है और नींव को सबसे मजबूत होना चाहिए ताकि वह बड़ी से बड़ी इमारतों का बोझ उठा सके, यह इमारतें वह कलाकार हैं जिन्होंने अपने पात्रों के दिलों तक पहुंचने के लिए दिन-रात घनघोर परिश्रम किया है। वे पूरी तरह से उन्हें सौंपी गई भूमिकाओं में डूब गए हैं जैसे वे इसे जी रहे हैं जो कि साम्राज्यवादी युग को असल मायने में दर्शाता है।

डायरेक्टर, प्रॉप टीम, साउंड्स एंड लाइट्स टीम सहित 45 सदस्यों की एक टीम, समस्त अभिनेता इस लक्ष्य को सफल बनाने की दिशा में प्रयास किया गया जो पूर्णतया सफल रहा, क्योंकि जिस उद्देश्य से इस नाटक का मंचन करने का छात्रों ने जो दृढ संकल्प लिया गया था वो दर्शकों के उत्साह को देख के सफल होता हय प्रतीत हुआ। हमारे नायक की अनसुनी दास्तां, मिट्टी के बेटे, चंद्रशेखर आज़ाद की जीवनी पर प्रकाश डालना और उन्हें गुमनामी के चंगुल से मुक्त करना ही इस नाटक का मुख्य उददेश था।

गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय में विधि संकाय के छात्र प्रांजल गौतम द्वारा लिखित तथा एम०बी०ऐ० के छात्र शुभांशु कुमार द्वारा निर्देशित ‘आज़ाद: द अनसंग हीरो’ 30 अगस्त, 2019 को गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय के सभागार 3 में प्रस्तुत किया जाएगा। इस नाटक का की प्रस्तुती कुलपति प्रो भगवती प्रकाश शर्मा की उपस्थिति में की गयी। कुलसचिव बच्चु सिंह, सभी संकायों के अधिष्ठाता, सभी विभागाध्यक्ष, संकाय सदस्य, कर्मचारी एवं छात्र छात्राओं इस नाटक के मंचन को देखा ही नहीं बल्कि सराहा भी।

यह भी देखे:-

गलगोटिया विश्वविद्यालय : नासा स्पेस ऐप चैलेंज हैकाथाॅन प्री-क्वालिफायर प्रतियोगिता का आयोजन
जी.डी. गोयनका पब्लिक स्कूल परिसर में परंपरागत खेलों का आयोजन
बिजनेस स्टार्टअप में हर्षल और पारस ने मारी बाजी
Coronavirus India News: कोरोना एक नई तैयारी मे 11,649 नए मामले, अब तक 82 लाख को लगी वैक्सीन
जी.डी. गोयनका पब्लिक स्कूल में ऑनलाइन मनाई गयी महात्मा गाँधी और लाल बहादुर शास्त्री जी की जयंती
सामाजिक संस्था ह्यूमन टच फाऊंडेशन और इन्हरव्हील क्लब ग्रेटर नोएडा ने हर्सोल्लास के साथ मनाया शिक्षक ...
जर्मनी के वैज्ञानिकों का दावा, कोरोना कहा से आया, पढ़े पूरी खबर
डिजिटल हेल्थ कार्ड: मात्र दो मिनट में मोबाइल से ऐसे बनाएं अपना कार्ड, इसके फायदे भी जानें
LIVE : वाराणसी पहुंचे प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी, देंगे 5189 करोड़ की 28 परियोजनाओं की सौगात
GBU की प्रोफेसर डॉ. संध्या तरार यंग रिसर्चर अवार्ड हुई सम्मानित बेस्ट
शारदा विश्वविध्यालय में अन्ताराष्ट्रीय योग दिवस, विदेशी छात्रों समेत एक हज़ार लोगों ने किया योगाभ्यास
PM Narendra Modi in Kushinagar: कुशीनगर में रहेंगे पीएम मोदी, इंटरनेशनल एयरपोर्ट का करेंगे उद्घाटन
आई.टी.एस. इंजीनियरिंग कॉलेज में मनाया गया विश्व शांति दिवस
बोधि तरु इंटरनेशनल स्कूल पहुंची मिस मलेशिया व इजिप्ट, पर्यावरण के प्रति किया जागरूक
कोविड अपडेट: यूपी की 59 फीसदी आबादी ने ली कोरोना वैक्सीन की पहली डोज
आईटीएस डेंटल कॉलेज में माता की चौकी, जय माता दी के लगे जयकारे