एनआईईटी ग्रेटर नोएडा में “केपीआईटी स्पार्कल डे-2020” के 6वें संस्करण का आयोजन

नोएडा इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, ग्रेटर नोएडा ने 28 अगस्त, 2019 को “केपीआईटी स्पार्कल डे” नाम से अपने परिसर में केपीआईटी टेक्नोलॉजीज के सहयोग से एक कार्यक्रम आयोजित किया। इस आयोजन का उद्देश्य छात्रों को इमेजिन, आइडेंटिफाई और विचारों को स्वच्छ, सुरक्षित, हरित और टिकाऊ तकनीकों में सक्षम बनाना था। तुषार जुवेकर-सीएसआर हेड; विशाल पिल्लई-इनोवेशन एसआईजी; केदार सप्रे-वरिष्ठ विपणन विशेषज्ञ; विशाखा पारुलेकर-संस्थापक और सीईओ-कालिकृष्णा एल एंड डी सॉल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड; आनंद सारदा, मार्केटिंग एक्ज़ीक्यूटिव- केपीआईटी टेक्नोलॉजीज इस आयोजन में शामिल हुए। एनआईईटी के कार्यकारी उपाध्यक्ष रमन बत्रा, डॉ विनोद कापसे-निदेशक, एनआईईटी टेक्नोलॉजी बिजनेस इनक्यूबेटर हेड, विभागाध्यक्षों के साथ, डीन तथा विद्यार्थियों ने एनआईईटी से इस कार्यक्रम में भाग लिया।

केपीआईटी स्पार्कल, केपीआईटी टेक्नोलॉजीज द्वारा प्रतिवर्ष आयोजित की जाने वाली एक अभिनव प्रतियोगिता है जिसका उद्देश्य भारत के कॉलेजों में छात्रों के बीच नवाचार और महत्वपूर्ण सोच की संस्कृति को बढ़ावा देना है। यह एक ऐसा मंच है जो भविष्य के नवाचारों को आकार देने के लिए उद्योग और शिक्षा को एक साथ लाता है। सम्पूर्ण भारत के कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के विज्ञान, इंजीनियरिंग, डिजाइन और प्रबंधन धाराओं से स्नातक, स्नातकोत्तर और पीएचडी पाठ्यक्रमों के छात्र केपीआईटी स्पार्कल पर एक मंच पाते हैं। इस वर्ष की प्रतियोगिता का विषय “मोबिलिटी एंड एनर्जी फॉर द फ्यूचर” है और एनआईईटी, केपीआईटी का गौरवशाली शिक्षा भागीदार है और इसने केपीआईटी स्पार्कल डे के 6वें संस्करण की मेजबानी की है।

केपीआईटी टेक्नोलॉजीज के सीएसआर प्रमुख, तुषार जुवेकर ने कहा, ‘केपीआईटी स्पार्कल’ मोबिलिटी एंड एनर्जी फॉर द फ्यूचर के क्षेत्रों में नए समाधानों पर ध्यान केंद्रित करता है। केपीआईटी स्पार्कल-2020 में 2 चैम्पियनशिप या प्रतियोगिताओं को शामिल किया गया है। नवाचार और विकास की चुनौती के अलावा, जहां ‘आई इन्नोवेट’ जो प्रतियोगिता के पहले प्रारूप का एक भाग है, वहीं केपीआईटी स्पार्कल-2020 भी एक दूसरी चुनौती पेश करता है, ‘आई कैन क्रैक इट’, जो छात्रों और शिक्षकों को औद्योगिक समस्याओं का हल ढूँढने लिए आमंत्रित करता है। ”

रमन बत्रा-कार्यकारी उपाध्यक्ष-एनआईईटी ने इस आयोजन की सराहना करते हुए छात्रों को प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उत्कृष्टता के लिए अपने व्यावहारिक दृष्टिकोण को आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा “एनआईईटी का उद्देश्य प्रौद्योगिकी, कार्यक्रमों और सेवाओं के माध्यम से छात्रों के सीखने के अनुभव को बदलकर अभिनव, समग्र, 21वीं सदी के एंड्रोगोगी आधारित ज्ञान देना है। केपीआईटी टेक्नोलॉजीज के साथ टाई-अप हमारे छात्रों को आगामी जॉब मार्केट के लिए तैयार करने की दिशा में एक मजबूत कदम है। ”

केपीआईटी, एनआईईटी और अन्य कॉलेजों से पंजीकृत छात्रों के लिए केपीआईटी स्पार्कल-2020 के अंतर्गत प्रस्तुत किए गए नवाचार आधारित विचारों एवं अवधारणाओं का मार्गदर्शन करेगा और मेंटरशिप प्रदान करेगा। यह छात्रों को नए विचार प्रस्तुत करने और बदले में उनके केपीआईटी के साथ प्लेसमेंट अवसरों को बेहतर बनाने में सक्षम करेगा। केपीआईटी स्पार्कल, एनआईईटी के उद्यमशीलता की ओर झुकाव रखने वाले होनहार छात्रों के लिए उद्यमिता कार्यशालाओं के आयोजन की व्यवस्था करेगा, जिससे उन्हें अपने नवाचारों को प्रेरित करने में मदद मिलेगी।
केपीआईटी टेक्नोलॉजीज लिमिटेड के बारे में:

प्रौद्योगिकी समाधान और सेवाओं में एक अग्रणी संस्थान के रूप में, केपीआईटी वर्तमान में 200+ वैश्विक कंपनियों के साथ भागीदार है। इसके बिजनेस आईटी समाधान ग्राहकों को अपने व्यवसायों को अधिक कुशलता और सक्षमता से चलाने में मदद करते हैं, जबकि इसके उत्पाद इंजीनियरिंग समाधान ग्राहकों को ऐसे उत्पाद बनाने में सक्षम बनाते हैं जो ऊर्जा कुशल, स्वच्छ, सुरक्षित हैं और अपने अंतिम ग्राहकों के लिए अधिक सुविधा प्रदान करते हैं। केपीआईटी अपनी प्रौद्योगिकी और डोमेन कौशल का लाभ उठाते हुए ग्राहकों के साथ परिवर्तनकारी मूल्यों के सह-निर्माण के लिए साझेदारी करता है जो उनके व्यवसायों को स्थायी प्रतिस्पर्धी लाभ प्रदान करता है। इसके अत्यधिक केंद्रित दृष्टिकोण ने इसे अग्रणी अभिनव समाधानों के सृजन में मदद की है और विभिन्न क्षेत्रों में ऑटोमोटिव, वेरी लार्ज स्केल इंटीग्रेशन (वीएलएसआई), उच्च प्रदर्शन कम्प्यूटिंग, विनिर्माण, ऊर्जा, मॉडल आधारित डिजाइन (एमबीडी) जैसे 60 से अधिक पेटेंट फाइल करने में मदद की है। 12,000+ पेशेवरों की मजबूत टीम वैश्विक कंपनियों को अधिक उत्पादक, एकीकृत और अभिनव उद्यम बनाने में मदद करने के लिए प्रौद्योगिकियों और प्रक्रियाओं में सर्वोत्कृष्ट काम करती है।

नोएडा इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, ग्रेटर नोएडा :
एनआईईटी भारत के राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग एवं मैनेजमेंट संस्थानों में से एक प्रतिष्ठित संस्थान है। एनआईईटी, राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद से ‘ए’ ग्रेड तथा 3.23 सीजीपीए से प्रत्यायित है, जो कि उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक है। संस्थान के कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग तथा बी फार्मा कोर्स वर्ष 2017 से 2020 तक राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड से प्रत्यायित हैं तथा संस्थान मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार के नेशनल इंस्टीट्यूशन रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ)-2019 मैं 99वी स्थान पर है। इसके अतिरिक्त एनआईईटी ने संपूर्ण विश्व की अनेकों बहुराष्ट्रीय कंपनियों के साथ गठबंधन किया है जिनमें मर्सिडीज़-बेंज़ एडीएएम लैब, एप्पल यूनिवर्सिटी प्रोग्राम पार्टनर, सिस्को नेटवर्किंग एकेडमी, ऑटोमेशन एनीव्हेयर, यूआईपाथ एकेडमिक अलायंस, इंटेल एआई एकेडमी, पीटीसी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, अमेजॉन वेब सर्विसेज, पियरसन टेस्टिंग सेंटर, कैंब्रिज इंग्लिश लैंग्वेज एसेसमेंट सेंटर, ओरेकल वर्कफोर्स डेवलपमेंट प्रोग्राम, डेल-ईएमसी एकेडमी, डेल्टा सेंटर ऑफ रोबोटिक्स, आईबीएम-वाटसन आईओटी लैब, पालो आल्टो एकेडमी, पेगा सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, सेल्सफोर्स एकेडमी, बीएमडब्ल्यू स्किल नेक्स्ट प्रोग्राम, केपीआईटी स्पार्कल, एआरसी एडवांस्ड रोबोटिक कंट्रोल लैब (इंडो-यूरो सिंक,जर्मनी), विप्रो जीई, कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग पुणे तथा सैप एकेडमी आदि प्रमुख हैं। एनआईईटी के द्वारा इनमें से प्रत्येक गठबंधन के लिए सेंटर ऑफ कोम्पीटेन्स की स्थापना की गई है जिनका उद्देश्य शिक्षा को प्रोत्साहित करना तथा इंजीनियरिंग अध्ययन को वृहद तकनीकी एवं अंत:विषयक संदर्भ में प्रसारित करना है। ये 21 इन्नोवेशन प्रयोगशालायें विद्यार्थियों के ज्ञान के तकनीकी विकास के लिए पूर्ण रूप से समर्पित हैं जिससे कि उन्हें उद्योग जगत के नवीनतम मानदंडों के अनुसार तैयार किया जा सके।

यह भी देखे:-

शिक्षक दिवस : जिला विधालय निरीक्षक ने कुलभुषण शर्मा को किया सम्मानित
लॉयड कॉलेज में एचआर कॉन्क्लेव का आयोजन
जिले में CBSE 12 th के पांच टॉपर्स को डीएम बी.एन. सिंह ने किया सम्मानित
शारदा समूह का 24वां स्थापना दिवस धूम धाम से मनाया गया
शारदा विश्विद्यालय : स्वामी मुकुदानंदा ने बताया खुशी, सफलता और पूर्ति के सात मन्त्र
सिटी हार्ट अकादमी में धूमधाम से मनाया गया गणतंत्र दिवस
ग्लोबल शिक्षण संस्थान में रोजगार मेले का आयोजन
मेधावी विद्यार्थियों का हुआ सम्मान
गुरु रंधवा की रंगारंग प्रस्तुती के साथ शारदा यूनिवर्सिटी "कोरस 2017" का समापन
लैंगिक न्याय व युवा प्रतिभागिता महत्त्वपूर्ण: जस्टिस मृदुल
गलगोटिया विश्वविद्यालय में सर्वोच्च प्लेसमेंट
एचआईएमटी संस्थान का 18वां स्थापना दिवस कल, होनहार विद्यार्थी होंगे सम्मानित
"रघुपति राघव रजा राम" से गूंजा सेंट जोसफ स्कूल
शारदा विश्वविध्यालय : मीडिया पाठ्यक्रम में व्यवहारिक पहलुओं पर फोकस ज़रूरी
फीस वृद्धि एंव मनमानी रोकने के लिए अभिभावकों को स्वंय आगे आना होगा : धीरेन्द्र सिंह
GLBIMR में ‘‘माई लाइफ एक्सपीरिएन्सेस’’ विषय पर विशेषज्ञ वार्ता श्रृंखला का आयोजन