भारतीय रेलवे का बड़ा फैसला,31 साल पुराने सभी डीजल इंजन होंगे बंद

नई दिल्ली:मिशन इलेक्ट्रिफिकेशन 2022 के लक्ष्य को हासिल करने के लिए रेलवे बोर्ड ने सभी रेलवे जोन को आदेश जारी किया है कि 31 साल पुराने डीजल इंजन के इस्तेमाल को बंद किया जाए. इसकी शुरुआत नॉर्दर्न रेलवे से होगी. रेलवे सूत्रों के मुताबिक 25-30 साल पुराने डीजल इंजन की एफिशिएंसी यानी कार्यक्षमता काफी कम हो जाती है और ऐसे पुराने डीजल इंजन को ऑपरेट करने में काफी खर्च आता है.
इन सब के अलावा रेलवे के इलेक्ट्रिफिकेशन पर बहुत ज्यादा जोर दिया. भारतीय रेलवे की तरफ से 2022 तक 100 फीसदी इलेक्ट्रिफिकेशन का लक्ष्य रखा गया है. पूरे रेल नेटवर्क को इलेक्ट्रिक लाइन से जोड़ देने के बाद डीजल इंजन चलना बंद हो जाएगी जिससे प्रदूषण पर बहुत हद तक नियंत्रण होगा. इसके अलावा स्पीड में भी तेजी आएगी. रेलमंत्री पीयूष गोयल लगातार कहते आ रहे हैं हम धीरे-धीरे औसत गति को बढ़ाने जा रहे हैं, जिससे यात्रा में कम समय लगे और ज्यादा से ज्यादा यात्री ट्रेन से सफर करें. रेलवे अधिकारियों का कहना है कि इलेक्ट्रिफिकेशन का काम पूरा होने पर ऑपरेटिंग कॉस्ट में कमी आएगी.

यह भी देखे:-

जुलाई में चलेगा "कोई मतदाता न छूटे" अभियान
करंट के चपेट में आकर युवक की मौत
जहांगीरपुर: श्री रामायण मेला समिति की नई कार्यकारणी गठित, सुरेंद्र शर्मा सरल बने अध्यक्ष
ड्राइवर की एक नींद की झपकी से हुआ एक ऐसा हादसा
आईटीएस कॉलेज में माता की चौकी , "जय माता दी" के जयकारे से गूंजा कैम्पस
गांजा तस्कर वाहन के साथ गिरफ्तार
जनता को मिला लाभ : ग्रेटर नोएडा -फरीदाबाद की दूरी अब और होगी कम
अन्ना आंदोलन का हिस्सा बने का करप्शन फ्री इंडिया संगठन
PM मोदी को मिला सियोल शांति पुरस्‍कार, आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होने का आह्वान
श्री साईं अक्षरधाम मंदिर में नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन
दिल्ली- हावड़ा रूट पर ट्रेन हादसा होने से टला
व्रत और रोजा रखने वाली छात्राओं को फल किए वितरित
जेवर: भाजयुमो का स्वच्छता अभियान, कूड़ेदान का किया वितरण
रोटरी क्लब ने बाँटी कॉपी व स्टेशनरी
बीएस येद्द‍ियुरप्‍पा ने बेंगलुरु में राजभवन में पद और गोपनीयता की शपथ ली
जांबाज विंग कमांडर अभिनंदन को वीर चक्र सम्‍मान