अयोध्या मामला: क्या जन्मस्थान एक न्यायिक व्यक्ति हो सकता है? – न्यायालय

नई दिल्ली: राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद में लगातार तीसरे दिन सुनवाई हुई। राम लला के वकीलों ने अपनी दलीलें जारी रखीं। राम लला विराजमान के वरिष्ठ वकील के परासरन ने उच्चतम न्यायालय में कहा कि ‘जन्मस्थान’ की सटीक जगह नहीं है, लेकिन इसका मतलब आसपास के क्षेत्रों से भी हो सकता है। पूरा क्षेत्र जन्मस्थान है। इस बात को लेकर कोई विवाद नहीं है कि यह जन्मस्थान भगवान राम का है। हिंदू और मुस्लिम दोनों पक्ष इस विवादित क्षेत्र को जनम स्थान कहते हैं।
न्यायालय ने वरिष्ठ वकील से पूछा कि क्या जन्मस्थान एक न्यायिक व्यक्ति हो सकता है? मूर्ति एक न्यायिक व्यक्ति हो सकता है लेकिन क्या एक स्थान या जन्मस्थान न्यायिक व्यक्ति हो सकता है? इसके जवाब में के परासरन ने कहा, ‘मूर्ति का वहां मौजूद होना कानूनी व्यक्ति के निर्धारण के लिए एकमात्र परीक्षण नहीं है।’

वहीं, अब इस मामले में शुक्रवार को भी सुनवाई होगी। इस तरह अयोध्या मामले में पांच दिन सुनवाई होगी। आमतौर पर संवैधानिक बैंच तीन दिन मंगलवार, बुधवार और गुरुवार को ही किसी मामले पर सुनवाई करती है। इस मामले में सुनवाई 6 अगस्त से शुरू हुई थी और आज सुनवाई का तीसरा दिन रहा।

सुप्रीम कोर्ट ने पहले कहा था कि अयोध्या मामले में तीन दिन सुनवाई होगी, मगर आज इसे पांच दिन कर दिया गया है। सुप्रीम कोर्ट के नए फैसले के मुताबिक, अब अयोध्या मामले की सुनवाई पांचों कार्यदिवसों यानी सोमवार से शुक्रवार चलेगी। आज सुनवाई का तीसरा दिन था, जिसमें हिंदू पक्ष ने अपनी दलीलें रखीं।

यह भी देखे:-

राजस्थान : गुर्जर समेत 5 जातियों को 5% आरक्षण का बिल विधानसभा में पेश
ग्रेटर नोएडा में हिमाचल के कलाकारों ने दी नाटा की बेहतरीन प्रस्तुति
पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी का निधन, देश में शोक की लहर
रयान प्रदुम्न मर्डर केस में ट्विस्ट , तो क्या इसलिए की गयी थी प्रद्युम्न की हत्या !
'कश्मीर में जो बंदूक उठाएगा, मारा जाएगा', आतंक के रास्‍ते पर निकले लोगों को भारतीय सेना का सख्‍त संद...
कन्हैया के लिए बेगूसराय आसान नहीं, क्योंकि आरजेडी, तंवर हुसैन को बेगूसराय से उतारने की तैयारी में
पुलवामा हमले की जांच में हुए कई नए खुलासे, ऐसे किया गया था आत्मघाती हमला
चारा घोटाले में लालू को बड़ी सजा मिलने के बाद राजनैतिक बयानबाजी तेज
अखिल भारतीय मिथिला राज्य संघर्ष समिति का जंतर मंतर पर विशाल धरना एवं प्रदर्शन
जर्मन एजेंसियों के रडार पर था बर्लिन का हमलावर
12 अक्टूबर को शुरू होगा दुनिया का नंबर-1 होम़ सोर्सिंग शोः ईपीसीएच
समलैंगिकता और निजता का अधिकार , क्या कहता है कानून
भारतीय सेना ने राष्‍ट्र कवि दिनकर की कविता की पंक्तियों के माध्‍यम से संदेश व्यक्त किया
अनुच्‍छेद 370 हटने पर भारत का कश्‍मीर से रिश्‍ता टूट जाएगा: कांग्रेस नेता
वायुसेना की कार्रवाई में जैश के कमांडरों समेत कई आतंकी मारे गए- विदेश सचिव
भारत की बेटी मानुषी छिल्लर को मिस वर्ल्ड 2017 ख़िताब