न्यू हॉलैंड एग्रीकल्चर ने आसपास क्षेत्र में जल संरक्षण की शुरुआत की

ग्रेटर नोएडा : आठ वर्षों से डॉव जोन्स सस्टेनेबिलिटी इंडेक्स में अग्रणी, सीएनएच इंडस्ट्रियल (एनवाईएसईः सीएनएचआई/एमआईः सीएनएचआई), ने भारत के राज्य उत्तर प्रदेश में एक नए जल संरक्षण कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए एक समारोह आयोजित किया। इस कार्यक्रम में नरेंद्र मित्तल, डायरेक्टर, आपरेशंस, सीएनएच इंडस्ट्रियल इंडिया, ने उत्तर प्रदेश सरकार के प्रतिनिधियों का स्वागत किया। इस मौके पर उनके साथ विमल कुमार, डायरेक्टर, सेल्स एंड मार्केटिंग, भारत में कंपनी के न्यू हॉलैंड एग्रीकल्चर और केस आईएच ब्रांडस भी मौजूद थे।

जलसंचय ( तालाब को अपनाना) कार्यक्रम ग्रेटर नोएडा में न्यू हॉलैंड एग्रीकल्चर प्लांट के आसपास के क्षेत्रों में एक-एक हेक्टेयर के माप वाले चार तालाबों को अपनाया जाएगा। ये तालाब देवला, खेड़ा चोगनपुर,, सोरखा और सूरजपुर में स्थित हैं। इस सीएसआर परियोजना में सीएनएच इंडस्ट्रियल इंडिया के मानव संसाधनों और मशीनरी का उपयोग किया जाएगा। कंपनी कर्मचारियों को कर्मचारी सहभागिता गतिविधियों के अंर्तगत वालंटियर्स के रूप में शामिल होने के लिए प्रेरित करती है। कंपनी ब्रांडों के उपकरण, जिसमें न्यू हॉलैंड के ट्रैक्टर शामिल हैं और केस कंस्ट्रक्शन उपकरण से बेकहो लोडर शामिल हैं, संबंधित क्षेत्र को साफ और परियोजना के लिए तैयार करेंगे।

इस परियोजना के तहत संबंधित क्षेत्र में खरपतवारों और कीचड़ को हटाने, तालाबों को गहरा करने, बांधने और पौधे रोपण के माध्यम से सौंदर्यीकरण और भूजल के स्तर को फिर से बढ़ाना शामिल है। इसका उद्देश्य स्थानीय समुदायों के साथ मिलकर जल संरक्षण करना है। इस दौरान निवासियों को यह भी सिखाया जाएगा कि वे कैसे पानी बचाने और जल निकायों को बनाए रखने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। इस विषय पर जागरूकता पैदा करने के लिए ग्रामीण स्तर पर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

इस मौके पर नरेंद्र मित्तल ने कहा कि “सीएनएच इंडस्ट्रियल की यह लंबे समय से चली आ रही प्रतिबद्धता है कि जिन समुदायों में हम काम करते हैं, उनके लिए कुछ सकारात्मक करें और हम सरकार की ओर से सभी को साफ पानी मुहैया कराने के 2024 के लक्ष्य तक पहुंचने में मदद करना चाहते हैं। हमारी प्रमुख ग्रेटर नोएडा सुविधा हमारे नेतृत्व के लिए प्रमाण है, जो कि पूरे देश के लिए कृषि उपकरण का निर्माण और निर्यात करती है। जिस तरह हमने कृषि में उत्कृष्टता हासिल की है, हम इस संयंत्र के आसपास के समुदायों और लोगों को सबसे आवश्यक चीजोंः स्वच्छ और विश्वसनीय जल संसाधन, प्रदान करेंगे।”

श्री राजीव राय, एसडीएम, सदर, ग्रेटर नोएडा ने कहा कि “थॉमस फुलर के शब्दों मेंः हम तब पानी के मूल्य को नहीं जानते जब तक कुएं सूख नहीं जाते।’ इसलिए, यह अत्यंत महत्वपूर्ण है कि हम भविष्य को संरक्षित करने के लिए जल संरक्षण करें।”

यह भी देखे:-

VIDEO CONFERENCING के जरिये जनप्रतिनिधियों व अधिकारीयों से जुड़े मझोले उद्यमी, समस्या पर हुई चर्चा
ग्रेटर नोएडा : घटतौली का आरोप लगा, कस्टमर का पेट्रोल पम्प पर हंगामा
डीएम बी.एन सिंह की जनपदवासियों से अपील, मच्छरजनित बिमारियों से बचें
ग्रेटर नोएडा: सपा सरकार के दौरान पुलिस के गुडवर्क की होगी जांच : धीरेन्द्र सिंह विधायक जेवर
ग्रेटर नोएडा : धर्मकाटों पर छापेमारी कर की गई कार्यवाही
कोतवाल का ऑडियो हुआ वायरल तो कप्तान ने किया लाइन हाजिर
नार्वे देश की महिला न्याय के लिए लगा रही थाने के चक्कर
श्री रामलीला कमेटी साईट - 4 ने किया भूमि पूजन, इस बार रामलीला मंचन में क्या रहेगा विशेष , पढ़ें पूरी ...
यमुना एक्सप्रेसवे पर हादसे में ट्रक चालक की मौत
संजय भाटी बने भारतीय किसान यूनियन भानु के ग्रेनो उपाध्यक्ष
गौतमबुद्ध विश्वविध्यालय के छात्रों ने दौला-रजपुरा गांव को स्वच्छ बनाने का उठाया बीड़ा
चलती कार में आग , जलने से इंजीनियर की मौत
प्रेसिडेंट-सेक्रेटरी के बीच कहासुनी, बीच बचाव करने आए शख्स की हो गई पिटाई, मुकदमा दर्ज
प्रस्तावित जेवर एयरपोर्ट के सम्बन्ध में राजस्व परिषद् के अध्यक्ष ने दिया ये निर्देश
किसानों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के विरोध में हुई पंचायत
धारा 370 हटाने के बाद अलर्ट जारी, शिक्षण संस्थानों को दिए गए दिशा-निर्देश, सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस...