न्यू हॉलैंड एग्रीकल्चर ने आसपास क्षेत्र में जल संरक्षण की शुरुआत की

ग्रेटर नोएडा : आठ वर्षों से डॉव जोन्स सस्टेनेबिलिटी इंडेक्स में अग्रणी, सीएनएच इंडस्ट्रियल (एनवाईएसईः सीएनएचआई/एमआईः सीएनएचआई), ने भारत के राज्य उत्तर प्रदेश में एक नए जल संरक्षण कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए एक समारोह आयोजित किया। इस कार्यक्रम में नरेंद्र मित्तल, डायरेक्टर, आपरेशंस, सीएनएच इंडस्ट्रियल इंडिया, ने उत्तर प्रदेश सरकार के प्रतिनिधियों का स्वागत किया। इस मौके पर उनके साथ विमल कुमार, डायरेक्टर, सेल्स एंड मार्केटिंग, भारत में कंपनी के न्यू हॉलैंड एग्रीकल्चर और केस आईएच ब्रांडस भी मौजूद थे।

जलसंचय ( तालाब को अपनाना) कार्यक्रम ग्रेटर नोएडा में न्यू हॉलैंड एग्रीकल्चर प्लांट के आसपास के क्षेत्रों में एक-एक हेक्टेयर के माप वाले चार तालाबों को अपनाया जाएगा। ये तालाब देवला, खेड़ा चोगनपुर,, सोरखा और सूरजपुर में स्थित हैं। इस सीएसआर परियोजना में सीएनएच इंडस्ट्रियल इंडिया के मानव संसाधनों और मशीनरी का उपयोग किया जाएगा। कंपनी कर्मचारियों को कर्मचारी सहभागिता गतिविधियों के अंर्तगत वालंटियर्स के रूप में शामिल होने के लिए प्रेरित करती है। कंपनी ब्रांडों के उपकरण, जिसमें न्यू हॉलैंड के ट्रैक्टर शामिल हैं और केस कंस्ट्रक्शन उपकरण से बेकहो लोडर शामिल हैं, संबंधित क्षेत्र को साफ और परियोजना के लिए तैयार करेंगे।

इस परियोजना के तहत संबंधित क्षेत्र में खरपतवारों और कीचड़ को हटाने, तालाबों को गहरा करने, बांधने और पौधे रोपण के माध्यम से सौंदर्यीकरण और भूजल के स्तर को फिर से बढ़ाना शामिल है। इसका उद्देश्य स्थानीय समुदायों के साथ मिलकर जल संरक्षण करना है। इस दौरान निवासियों को यह भी सिखाया जाएगा कि वे कैसे पानी बचाने और जल निकायों को बनाए रखने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। इस विषय पर जागरूकता पैदा करने के लिए ग्रामीण स्तर पर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

इस मौके पर नरेंद्र मित्तल ने कहा कि “सीएनएच इंडस्ट्रियल की यह लंबे समय से चली आ रही प्रतिबद्धता है कि जिन समुदायों में हम काम करते हैं, उनके लिए कुछ सकारात्मक करें और हम सरकार की ओर से सभी को साफ पानी मुहैया कराने के 2024 के लक्ष्य तक पहुंचने में मदद करना चाहते हैं। हमारी प्रमुख ग्रेटर नोएडा सुविधा हमारे नेतृत्व के लिए प्रमाण है, जो कि पूरे देश के लिए कृषि उपकरण का निर्माण और निर्यात करती है। जिस तरह हमने कृषि में उत्कृष्टता हासिल की है, हम इस संयंत्र के आसपास के समुदायों और लोगों को सबसे आवश्यक चीजोंः स्वच्छ और विश्वसनीय जल संसाधन, प्रदान करेंगे।”

श्री राजीव राय, एसडीएम, सदर, ग्रेटर नोएडा ने कहा कि “थॉमस फुलर के शब्दों मेंः हम तब पानी के मूल्य को नहीं जानते जब तक कुएं सूख नहीं जाते।’ इसलिए, यह अत्यंत महत्वपूर्ण है कि हम भविष्य को संरक्षित करने के लिए जल संरक्षण करें।”

यह भी देखे:-

अनियंत्रित स्कूटर नाले में गिरा, व्यक्ति की डूबकर हुई मौत
दर्दनाक : बिजली करेंट ने बरपाया कहर , पिता-पुत्र की मौत
रोटरी क्लब ग्रीन ग्रेटर नोएडा ने निर्धन बच्चों में स्वेटर, स्कूल ड्रेस व जूते वितरित किये
उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी की श्रेणी में , 22 मार्च तक सभी स्कूल-कॉलेज बंद का आदेश
योग गुरु कर्मवीर जी महाराज के शिविर में उमड़ी साधकों की भीड़
जनपद गौतमबुद्ध नगर जिला बदर गुंडों के बारे में डीएम ने मांगी जनता से फीडबैक
ड्यूटी के दौरान हेड कांस्टेबल की मौत
दादरी कोतवाली मे शांति समिति (पीस कमेटी) व सभ्रांत व्यक्तियों की हुई बैठक, विभिन मुद्दों पर विस्तृत ...
झमाझम बारिश से मार्केट में जलभराव , लोग परेशान , सोशल मीडिया पर प्राधिकरण को कोसा
पत्रकार शफी मोहम्मद सैफी को मातृशोक
स्वच्छता का प्रचार-प्रसार हमारा नैतिक दायित्व है - धीरेन्द्र सिंह, विधायक जेवर
पूर्व मंत्री रवि गौतम का निधन
विवेकानंद के रास्ते पर चलकर ही भारत विश्वगुरू बन सकता है: कैप्‍टन पी के सिंह
नोएडा: जिला बदर किए गए इन 50 गुण्डों पर डीएम ने मांगी जनता से फीडबैक
ट्रिपल तलाक मिलने पर महिला ने कहा, पति के खिलाफ दर्ज करो एफआईआर
ग्रेटर नोएडा : IGL को स्टेट आफ द आर्ट ट्रेनिंग सेन्टर के लिए भूखंड का आवंटन हुआ