रोटरी क्लब ग्रेटर नोएडा ने किया पौधारोपण

ग्रेटर नोएडा : आगामी 22 जुलाई को ग्रेनो रोटरी क्लब ग्रीन ग्रेटर नोएडा ने सफीपुर स्थित मोक्ष धाम में पौधारोपण किया।
क्लब अध्यक्ष डॉ. के के शर्मा ने बताया क्लब द्वारा 100 से अधिक फलदार व छायादार पौधे मोक्षधाम में लगाए गए हैं जिसमें अमरूद, जामुन, आम, कटहल, शीशम, बरगद, नीम, पीपल व अन्य छायादार पौधे उपलब्ध कराये गये।

AG सर्वेश वर्मा ने आम का पौधा लगाकर पौधारोपण कार्यक्रम की शुरुआत की उन्होंने बताया यह उपयुक्त समय है पौधारोपण करने का और पर्यावरण को संरक्षित करने में प्रत्येक व्यक्ति को एक पौधा अवश्य लगाना चाहिए।

क्लब के पूर्व अध्यक्ष मनोज गर्ग व सौरभ बंसल ने कहा पेड़ पौधें हमें निशुल्क शुद्ध ऑक्सीजन देते है। हालांकि ग्रेटर नोएडा में चारों तरफ हरियाली व पेड़ पौधे मौजूद हैं लेकिन फिर भी हर नागरिक का फर्ज है कि कम से कम एक पौधा अवश्य लगाएं और पर्यावरण को संरक्षित करने में अपना सहयोग दें। इस अवसर पर के के शर्मा ,मनोज गर्ग, सौरभ बंसल, विनोद कसाना, कपिल गुप्ता, प्रवीन गर्ग, मुकुल गोयल, अमित राठी, विनय गुप्ता, विजय शर्मा व अन्य लोग उपस्थित रहे।

यह भी देखे:-

पूर्वांचल बिहार के लोगों ने होली खेल दिया भाईचारे का सन्देश
सूरजपुर में आदर्श रामलीला कमेटी ने किया भूमि पूजन
समाज में जहर घोलने वालो को करारा तमाचा, हिन्दू-मुस्लिम समुदाय ने मिलकर बचाई गाय की जान , पढ़े पूरी ...
किसानों के प्रतिनिधिमंडल ने सौंपा ज्ञापन, ग्रेनो प्राधिकरण पर वादाखिलाफी का आरोप
मंत्री के नाम पर यमुना प्राधिकरण के अधकारी पर दवाब बनाना कथित नेता को पड़ा महंगा
बिल्डर से परेशान HOME BUYER ने आत्महत्या की इजाजत मांगी
योगा वैलनेस फेस्टिवल में बोले कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही, “हर ब्लाक का पायलट प्रोजेक्ट होगा जैविक...
जेवर विधायक ने किया बाढ़ संभावित ग्रामों का दौरा
राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान में मेडिकल पाठ्यक्रम में बदलाव पर कार्यशाला
मुठभेड़ के बाद बदमाश गिरफ्तार
मंदिर के आसपास जलभराव से भक्तों को परेशानी
प्रभारी मंत्री जय प्रताप सिंह ने किया किसान कल्याण कार्यशाला का किया उद्घाटन
बीटा - 1 आरडब्लूए के सौजन्य से हरियाली तीज का आयोजन
संजय भाटी बने भारतीय किसान यूनियन भानु के ग्रेनो उपाध्यक्ष
गौतमबुद्ध नगर : राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन कल 17 सितम्बर को होगा
सेक्टर डेल्टा टू की समस्याओं का समाधान नहीं हुआ था जल्द होगा प्राधिकरण के खिलाफ आंदोलन - आलोक नागर