फरार हुआ सपा-बसपा उम्मीदवार, रेप का है आरोप

लखनऊ: लोकसभा चुनावों में अब सातवें चरण का मतदान बचा है. इस आखिरी चरण में यूपी के घोसी के मतदाता इस पशोपेश में हैं कि आखिर जिसे उन्हें वोट देना है वो अतुल राय कहां गायब हैं. अतुल राय घोसी से बसपा-सपा के उम्मीदवार हैं और उन्होंने यहां कुछ दिनों तक क्षेत्र में प्रचार भी किया है, पर अब काफी दिनों से लापता चल रहे हैं. दरअसल, गठबंधन प्रत्याशी राय पर रेप का आरोप है और अतुल गिरफ्तारी से बचने के लिए वह फरार हैं, जबकि पुलिस उन्हें दबोचने के लिए अलग-अलग जगहों पर छापेमारी कर रही है.
उल्लेखनीय है कि इस
सीट पर भारतीय जनता पार्टी के हरि नारायण राजभर महागठबंधन प्रत्‍याशी अतुल राय को टक्कर दे रहे हैं. रेप मामले में अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए राय ने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था, लेकिन उन्हें वहां से निराशा हाथ लगी. कोर्ट ने उन्हें गिरफ्तारी पर स्टे देने से इनकार कर दिया. फिलहाल कहा जा रहा है कि गिरफ्तारी से बचने के लिए राय भूमिगत हो गए हैं. इस सीट पर भाजपा जहां आक्रामक होकर अपना चुनाव प्रचार कर रही है, वहीं गठबंधन के लिए असहज स्थिति पैदा हो गई है. गठबंधन को समझ में नहीं आ रहा है कि वह राय की कमी किस तरह से पूरी करे. गठबंधन के मतदाताओं के सामने भी उलझन है कि वह फरार चल रहे प्रत्याशी के पक्ष में वोट करें अथवा उन्हें किसी और विकल्प की तलाश करनी चाहिए.
ये है पूरा मामला
वाराणसी की एक पूर्व छात्रा ने अतुल राय पर रेप का आरोप लगाया है. छात्रा का आरोप है कि राय अपनी पत्नी से मिलाने के लिए उसे अपने घर ले गए जहां उन्होंने उसका यौन उत्पीड़न किया. राय ने अपने लगे आरोप से इंकार किया है, लेकिन गत एक मई को उनके खिलाफ केस दर्ज हो गया. मामले की गंभीरता को देखते हुए न्यायालय ने उनकी गिरफ्तारी के लिए गैर जमानती वारंट जारी कर दिया. बताया जा रहा है कि पुलिस से बचने के लिए राय भूमिगत हो गए हैं. इधर, पुलिस उन्हें दबोचने के लिए मऊ और आस-पास के जिलों में दबिश दे रही है.

यह भी देखे:-

अन्ना सत्याग्रह जन जागरूक साइकिल यात्रा : लखनऊ पहुचंकर राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा
स्वदेश लौटने पर गोल्फ के चैम्पियन अर्जुन भाटी का जोरदार स्वागत
कांग्रेस-सपा-बसपा में गठबंधन को लेकर बातचीत अभी भी जारी - सूत्र
'हम SP-BSP गठबंधन के साथ' - जयंत चौधरी
जनकल्याण के हिसाब से बजट अभूतपूर्व है : गोपाल कृष्ण अग्रवाल
टिक टॉक का भारतीय विकल्प है चिंगारी ऐप
क्या राकेश अस्थाना ने सृजन घोटाले में नीतीश कुमार को बचाया ? :तेजस्वी
नहीं रहे भारत के मशहूर वैज्ञानिक प्रो. यशपाल
उत्तर प्रदेश आईएएस अधिकारीयों के तबादले
मुख्य न्यायाधीश को उम्‍मीद- 17 नवंबर तक तय हो जाएगा अयोध्‍या में राम मंदिर बनेगा या नहीं
UP की इस लोकसभा सीट से चुनाव लड़ सकते हैं असदुद्दीन ओवैसी
जानिए विराट और अनुष्का ने प्रधानमंत्री राहत कोष और महाराष्ट्र सरकार को दिया कितना राशि...
अनुच्छेद 370 का अंत होने के बाद लद्दाख में अपने पहले दौरे पर पहुंचे राजनाथ सिंह
महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग ने दुनिया को कहा अलविदा
पाकिस्तान की हिरासत में है वायुसेना का पायलट, भारत ने सुरक्षित लौटाने को कहा
आतंक के आकाओं को पीएम मोदी का संदेश-बहुत बड़ी गलती की है, चुकानी होगी भारी कीमत