फेल होने के डर से छात्रा ने दे दी जान, रिजल्ट आने पर सब रह गए हैरान

नोएडा: यहाँ एक ऐसी घटना घटी जिसे सुन कर हर कोई हैरान रह गया. विभिन्न राज्यों व सीबीएसई बोर्ड रिजल्ट का समय चल रहा है. भारत में नंबरों की रेस से बच्चों पर कितना दबाव रहता है यह हम सभी जानते हैं. इन सब के बीच सीबीएसई 10वीं बोर्ड का रिजल्ट आ गया है. लेकिन 10वीं की एक छात्रा ने इस लिए फांसी लगा ली क्योंकि उसे डर था कि वह फेल हो जाएगी.

रिजल्ट जारी होने के बाद जब घरवालों ने नंबर चेक किया तो छात्रा को 70 फीसदी नंबर मिले थे.छात्रा के पिता के मुताबिक उनकी बेटी पढ़ाई में बहुत अच्छी थी. घर वालों का भी नंबर को लेकर कोई दबाव नहीं था. उन्होंने बताया कि अंग्रेजी का पेपर देकर जब वह आई तो बेहद परेशान थी. उसे आशंका थी कि लंबे उत्तरों के कारण उसके कुछ जवाब छूट गए हैं. जिस कारण वह फेल हो जाएगी.

छात्रा का नाम शर्मिष्ठा राउत है. वह पेंटिंग करती थी. उसने कई अवार्ड भी जीत रखे थे. थाना सेक्टर 24 के प्रभारी निरीक्षक प्रदीप कुमार त्रिपाठी के मुताबिक मोरना गांव की रहने वाली कक्षा 10वीं की छात्रा शर्मिष्ठा राऊत ने 3 दिन पहले परीक्षा में कम नंबर आने के भय से फांसी लगाकर जान दे दी.

यह भी देखे:-

नवरत्न का स्कूली बच्चों को ठिठुरती ठंड से बचाने का अभियान: "शीत कवच"
ग्रेटर नोएडा : गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय एवं ठेकेदार के द्वारा सफाई कर्मचारियों का शोषण बिल्कुल भी बर...
एक्शन में दिखे एसएसपी डॉ. अजयपाल शर्मा , परखी बैंकों की सुरक्षा
सोशल मीडिया पर इस वजह से तारीफ बटोर रही है नोएडा पुलिस
उत्तरप्रदेश स्थापना दिवस पर रंगारंग कार्यक्रम
नेताओं ने अपना किया वादा भूला तो किसानों ने दिल्ली कूच किया, पढ़े पूरी खबर
आचार्य अजय जैन व केंद्रीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा ने एक दूसरे को दी नए साल की बधाई
कॉंग्रेसियों ने ने एक दीप शहीदों के नाम जलाकर श्रद्धांजलि आर्पित की
नवबर्ष के उपलक्ष्य में ब्रम्हचारी कुटी में हुआ सुंदरकांड का पाठ
टैम्पो की टक्कर से बाइक सवार की मौत
एबीवीपी के प्रांतीय अधिवेशन में ग्रेटर नोएडा से जुड़े कार्यकर्ताओं को मिला अहम जिम्मेवारी
नवरत्न का वार्षिकोत्सव समर्पण-2018 धूमधाम से सम्पन्न, सम्मानित हुए समाजसेवी
एक्टिव सिटीज़न टीम के सदस्यों ने आज फूल डे को मनाया कूल डे
नोएडा अथॉरिटी के चीफ आर्किटेक्ट सस्पेंड
COVID 19 : गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन ने बनाया आधुनिक मल्टीपल यूज़ कंट्रोल रूम
गाड़ी के सर्विस सेंटर के बाहर धरने पर बैठा एक परिवार