यूपी बोर्ड 10वीं के नतीजे घोषित, रमनदीप और निशांत बने जिला के टॉपर

ग्रेटर नोएडा। यूपी बोर्ड में इस बार गौतमबुद्धनगर में लड़कियों ने लड़कों को पीछे छोड़ दिया। कुल 95.66 प्रतिशत लड़कियों ने परीक्षा पास की है। जबकि, लड़कों की सफलता का प्रतिशत 85.14 रहा है। जिले का परीक्षाफल 91.06 प्रतिशत रहा है।

दनकौर मंडी श्यामनगर के इंडो पब्लिक स्कूल के छात्र रमनदीप और डीसीएसएम देवी ज्ञानदीप इंटर कॉलेज रबूपुरा के छात्र निशांत कुमार ने 90.33 प्रतिशत अंक हासिल कर संयुक्त रूप से जिले में टॉप किया है।

आज दोपहर डेढ़ बजे कक्षा दस का परीक्षा परिणाम जारी हुआ। गौतमबुद्ध नगर कुल 20578 छात्र-छात्राएं पंजीकृत हुए थे। जबकि, 19323 ने परीक्षा दी थी। इनमें से 17596 छात्र उत्तीर्ण हो गए है। इनमें 9098 बालक और 8498 बालिकाएं हैं। सफल छात्रों का प्रतिशत 91.06 प्रतिशत रहा है।1255 छात्र अनुपस्थित रहे हैं। अनुत्तीर्ण छात्रों की संख्या 1726 रही है। एक छात्र का परिणाम अपूर्ण है।

यह भी देखे:-

रमाबाई महिला छात्रावास में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस का आयोजन
मेरठ : पुलिस के व्यवहार से आहत दुष्कर्म पीड़िता ने खाया जहर, मौत
क्राइम ब्रांच ने तीन हथियार तस्करों को दबोचा, विदेशी पिस्टल बरामद
दिल्ली-एनसीआर: अप्रैल की शुरुआत में ही गर्मी ने दिखाए तेवर, 40 डिग्री के पार पहुंचा पारा
यूपी: जनसंख्या विधेयक 2021 का ड्राफ्ट तैयार, दो से ज्यादा बच्चे होने पर नहीं मिलेगा इन सुविधाओं का ल...
राहत: 2 से 18 साल के बच्चों के लिए कोवाक्सिन को मंजूरी, कोरोना के खिलाफ और तेज होगी जंग
जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह के हस्तक्षेप के बाद इरोज सम्पूर्णम सोसाइटी के निवासियों को मिले बड़ी राहत
Anaemia blood test and health awareness camp in Udayan Kendra
'मस्जिद में लाउडस्पीकर से होने वाली अजान से हो रही परेशानी', बीएचयू के छात्र का ट्वीट, पुलिस ने दिया...
CORONA UPDATE : गौतमबुद्ध नगर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में उछाल, अब तक 90 मरीज स्वस्थ हुए
ब्लॉक प्रमुख चुनाव में भाजपा का दबदबा : 300 सीटों पर भाजपा उम्मीदवारों का निर्विरोध निर्वाचित तय
जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह ने किया करोड़ों के विकास कार्यों का शुभारंभ  
दिल्ली : बंद कमरे में स्पा और मसाज पर पाबंदी, कारोबार के लिए कई दिशा-निर्देश
पीएम ने मंत्रियों को किया आगाह: कोरोना से जंग अभी खत्म नहीं हुई, नियमों का पालन कराने वाला माहौल बना...
कोवैक्सीन को अक्टूबर में मिल सकती है WHO की मंजूरी, भारत बायोटेक का इंतजार होगा खत्म
सेक्टर ईकोटेक-8 को विकसित करने में खर्च होंगे 8 करोड़