शारदा विश्वविद्यालय में आयोजित “कोरस-2019 ” का हुआ समापन

ग्रेटर नॉएडा। शारदा विश्वविद्यालय, ग्रेटर नॉएडा में आयोजित लोकप्रिय उत्सव ‘कोरस-2019 ” छात्र-छात्रों के लिए ऐसा मंच साबित हुआ जहा उन्होंने खेल की भावना के साथ कई प्रतियोगिताओं में भी भाग लिया, साथ ही विभिन्न कलाओं में अपनी प्रतिभा भी दिखाई। तीन दिवसीय यह फेस्ट, जिसका रविवार को समापन हो गया।
CHORUS 2019
आखिरी दिन भी कई रचनात्मक गतिविधियो का बेहतरीन संयोजन देखने को मिला। रोडीज़ जैसे प्रसिद्ध प्रतियोगिता का समापन इंडियन बॉलीवुड एक्टर “मनजोत सिंह ” दवारा विजेता को पुरस्कार दे कर किया गया। इसी के साथ मोज़ेक-बोल्ट, विस्तगे ऑफ़ कोरस, क्लैश ऑफ़ टिटनस, स्वित्चेरू आदि जैसे विभिन्न प्रतियोगिताओं का समापन हो गया। शारदा के छात्रों के साथ-साथ अन्य कॉलेजो जैसे-दिल्ली यूनिवर्सिटी,एमिटी,साउथ एशिया यूनिवर्सिटी आदि के छात्रों ने भी विस्तगे ऑफ़ कोरस, क्लैश ऑफ़ टिटनस, स्वित्चेरू,रैप-वॉर,प्रोडिजी-नृत्य आदि जैसे अनूठे व रचनात्मक कार्यक्रमों में अपनी क्रिएटिव व स्किल दिखाऐ तथा गीत-संगीत की तरह तरह की प्रतियोगिताओ में छात्रों की उत्साहजनक भागीदारी भी दर्ज की गई।

शनिवार को राही बैंड का प्रदर्शन ने सबका मन मोहा| छात्रों के विशेष आग्रह पर अंशुल सिंह ने अपने बैंड राही के परफॉरमेंस को आधा घंटा अतिरिक्त तक अपने मधुर संगीत एवं आवाज़ से मन मोहा| अंशुल ने छात्रों को सम्बोधित करते हुए भावुक अंदाज में कहा की मैं शारदा समूह के मथुरा स्थित हिंदुस्तान कॉलेज का विधार्थी हूँ, अतः आप सभी का मुझ पर अधिकार है | भले ही मै मुंबई में रहता हूँ लेकिन दिल उत्तर प्रदेश में ही बसता है | ट्रैंड को देखते हुए आखिरी दिन में मिस्टर/मिस कोरस कॉम्पिटिशन भी शामिल था। जिस वजह से छात्र-छात्रों का उत्साह सर चढ़ के बोलने लगा।

“कोरस-2019 ” के अंतिम दिन, विश्वविद्यालय की सर्वश्रेष्ठ सांस्कृतिक प्रतिभाओं को मुख्य अतिथि दवारा पुरस्कार भी दिए गए और उनका उत्साह बड़ाया गया तथा विभिन-विभिन प्रतियोगिताओ में 5 लाख रुपये से भी अधिक पुरस्कार राशि जीती गई , जो कोरस को भारत में विश्वविद्यालय स्तर पर सबसे लोकप्रिय सांस्कृतिक उत्सव में से एक बनाती है। उत्सव में मुख्य अतिथि एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर प्रशांत गुप्ता ने एक बहुमूल्य भाषण भी दिया जिसमें उन्होंने इस उत्सव के कार्यक्रम की व्यवस्था की आवश्यकता को बहुत महत्व दिया और छात्रों को उनके रचनात्मक प्रदर्शन के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने ग्रेटर नॉएडा प्रेस क्लब को साझीदार बनने के लिए धन्यवाद् दिया तथा भविष्य में भी शारदा विश्वविधालय के साथ सहयोग बनाये रखने का आह्वाहन किया |

हालांकि, सभी ने इस उत्सव का आनंद लिया और आयोजकों की बहुत सराहना की। समारोह ने दर्शकों के समक्ष हमारी संस्कृति के कई पहलुओं को उजागर किया। श्रीमति और श्रीमान कोरस, श्रीमति और श्रीमान ग्लैमर, राउडीज़, नुक्कड नाटक और सूरसताज कुछ शानदार प्रतियोगिताओ के प्रदर्शन ने छात्र-छात्रों को मंत्रमुग्ध भी किया। उत्सव के आखिरी दिन में नए तरह के खाने पीने की वस्तुओ का भी प्रबंध किया गया और दर्शको ने उसका भरपूर लुप्त उठाया।अंत में लोकप्रिय बॉलीवुड गायिका “मोनाली ठाकुर” के मधुर गायन कोर्स का रंगारंग लाइव प्रदर्शन हुआ जिसमें दर्शकों के बीच जबरदस्त ऊर्जा का प्रसार देख़ने को मिला। इसके साथ ही कोरस का शानदार समापन समारोह भी आयोजित किया गया और इस उत्सव ने दर्शको का एक सर्वकालिक उच्च स्तर पर ध्यान आकर्षित किया। इसी तरह इस उत्सव का धमाकेदार समापन हो गया।

यह भी देखे:-

भारतीय नववर्ष मेला “उमंग” का आगाज़
आईआईएमटी कॉलेज : बीजेएमसी के फ्रेशर पार्टी में शिवम बने मिस्टर तो आरिब मिस फ्रेशर
विदेशी की मदद करने वाले सब इंस्पेक्टर की इसलिए हो रही है वाहवाही, पढ़ें पूरी खबर
फीस वृद्धि मामले में डीएम की बैठक : कहा,  विवाद की स्थिति में बच्चों को स्कूल छोड़ने को मजबूर नहीं क...
चंद्रग्रहण: 150 साल बाद दुनिया ने देखा अनोखा चाँद
देखें Video, ग्रेटर नोएडा को मिला एमबीबीएस कॉलेज का नायब तोहफा, जानिए क्या होगा खास इस (GIMS) मेडि...
शारदा विश्वविद्यालय : स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर दीप जलाकर शहीदों को नमन
देखें VIDEO, जानिए क्यों दोस्तों ने मिलकर किया दोस्त का क़त्ल
योग हमारे शरीर के साथ-साथ हमारे मन को भी रखता है स्वस्थ : धीरेन्द्र सिंह
गौतमबुद्ध नगर : एसएसपी अजय पाल शर्मा ने थाना प्रभारियों में किया फेरबदल
लापता युवक के परिजनों ने कराया मुकदमा दर्ज
शिव लीला के साथ 10 अक्टूबर से श्री धार्मिक रामलीला ग्रेटर नोएडा का होगा शुभारम्भ, मात्र तीन घंटे मे...
20 वीं मंजिल से कूदकर व्यक्ति ने की आत्महत्या
हृदय की जांच कराएं मुफ्त , यथार्थ अस्पताल द्वारा नि:शुल्क जांच शिविर कल 25 अगस्त को
कैलाश मासूम को नोबल एसियन ऑफ़ दि ईयर अवार्ड से सम्मानित
आइआइएमटी कॉलेज में आरटीआई की संभावनाएं एवं चुनौतियां विषय पर विचार गोष्‍ठी