एटीएम बूथ से लाखों की लूट करने वाले बदमाश गिरफ्तार

नोएडा : बीते दिनों सेक्टर-82 में एटीएम बूथ से लूटे गए 40 लाख रुपये सड़क पर बिखेर कर भीड़ के बीच से आठ लाख रुपये लेकर दो बदमाश फरार हो गए थे। पुलिस को जांच के आधार पर आशंका है कि सड़क पर बिखरी रकम में करीब 12 लाख रुपये राहगीर लेकर चलते बने हैं। रविवार रात आपरेशन घेराबंदी में कुलेसरा बार्डर के पास से फेज दो पुलिस ने इस लूटकांड का मुख्य आरोपी गजेन्द्र व अनिल को गिरफ्तार किया। ऑपरेशन घेराबंदी में गिरफ्तारी के दौरान आरोपी गजेन्द्र भागने लगा और पुस्ते से सीधे नीचे कूद गया। इसमें वो घायल हो गया। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि 19 फरवरी को केन्द्रीय विहार स्थित एसबीआइ के एटीएम में कैश अपलोड करने के दौरान हुई 40 लाख की लूट में दो नहीं बल्कि तीन बदमाश शामिल थे जिन्होंने मिलकर वारात को अंजाम दिया था। दो बदमाशों को लोगों ने देखा था, जबकि एक वहीं पास में मौजूद था जो नज़र में नहीं आया। भागने के दौरान इनकी बाइक में कार से टक्कर लगने के बाद नन्हें नाम का बदमाश मौके से पकड़ा गया था, जबकि अनिल और गजेन्द्र मौके से फरार हो गए थे, अब इन दोनों की गिरफ्तारी हुई है। गजेन्द्र मूलरूप से अट्टा असावर गुलावठी बुलंदशहर, जबकि अनिल मूलरूप से मुमरेजपुर अहमदगढ़ बुलंदशहर का रहने वाला है। फिलहाल अनिल दिल्ली के न्यू अशोक नगर में रहता है। रविवार रात हुई गिरफ्तारी के दौरान इनके पास से एटीएम से लूटे गए कैश से संबंधित चार लाख 40 हजार रुपये नकद, दो तमंचे, चार कारतूस व एक बाइक बरामद हुई है।

एसएसपी ने बताया कि इन बदमाशों ने ही चार साल पहले वर्ष 2014 में कोतवाली सेक्टर 20 क्षेत्र से 14 लाख 50 हजार रुपये कैश लूट की घटना को अंजाम दिया था और फिर पकड़े गए थे। वहीं अगस्त 2018 में न्यू अशोक नगर दिल्ली में एक व्यक्ति से 4 लाख 10 हजार रुपये लूटे थे। वहीं 19 फरवरी को वारदात के बाद गिरफ्तार हुए आरोपित नन्हें के पास से बरामद हुई बाइक वर्ष 2017 में गाजियाबाद से लूटी गई थी। मुख्य आरोपित गजेन्द्र के खिलाफ पहले से सेक्टर 20 कोतवाली के एक मामले में कोर्ट से गैरजमानती वारंट जारी था। 19 फरवरी को वारदात के बाद उसने इस मामले में 22 फरवरी को कोर्ट में सरेंडर कर दिया था, जिससे पुलिस का ध्यान भटके। दो दिन बाद पुलिस को जानकारी हुई और जब तक रिमांड पर लेने की तैयारी होती तब तक फिर 26 फरवरी को उसने जमानत ले ली। जमानत के बाद वह फिर अपने साथियों के साथ मिलकर दूसरी वारदात की प्लानिग करने लगा था। पुलिस को जब उसके जमानत पर छूटने के बारे में जानकारी हुई तब एसएसपी ने उस पर 25 हजार का इनाम घोषित कर दिया।

एसएसपी ने कहा कि रविवार रात पकड़े गए दोनों बदमाशों ने पूछताछ में स्वीकार किया है कि सड़क पर पड़ी रकम में से वह करीब आठ लाख रुपये ही लेकर भाग पाए थे। उसमें से भी कुछ रकम वह खर्च कर चुके हैं। गजेन्द्र के खिलाफ आठ जबकि अनिल पर सात मामले दर्ज हैं।

सेक्टर 82 केन्द्रीय विहार दो सोसायटी के गेट नंबर दो पर स्थित एसबीआइ के एटीएम में 19 फरवरी को दोपहर करीब डेढ़ बजे लॉजी कैश कंपनी के कर्मी व सुरक्षा गार्ड कैश भरने के लिए आए थे। कैश भरने के दौरान ही दो बदमाश फायरिग करते हुए एटीएम बूथ तक पहुंचे और शटर खोल 40 लाख रुपये लूटकर बाइक से भागने लगे। भागने के दौरान ही इनकी बाइक एक कार से टकरा गई। टक्कर में बदमाश व रुपयों से भरा बैग सड़क पर गिर गया। सड़क पर काफी रुपये बिखर गए थे। इस बीच एक बदमाश मौके से पकड़ा गया, जबकि एक मौके से फरार हो गया था। पकड़े गए बदमाश नन्हे के कब्जे से 19 लाख 65 हजार रुपये नकदी, दो पिस्टल, दो तमंचे, कारतूस व वारदात में प्रयोग की गई स्पलेंडर बाइक सहित अन्य सामान बरामद हुआ था।

यह भी देखे:-

प्लाट विवाद में फायरिंग में मारे गए युवक की हुई पहचान
कॉलेज की साईट हैक करने का मुकदमा दर्ज, जांच में जुटी पुलिस
कुल्हाड़ी से काटकर इंजीनीयर पत्नी को उतारा मौत के घाट
किशोरी के साथ जबरन ली सेल्फी, मुकदमा दर्ज
वांटेड ईनामी बदमाश चढ़ा एसटीएफ नोएडा के हत्थे
ग्रेटर नोएडा में बंद घरों में चोरी करने वाला गिरोह सक्रिय, बंद घरों में की चोरी
अवैध शराब के साथ युवक गिरफ्तार
नॉलेज पार्क थाना पुलिस की तत्परता से पकड़ा गया ऑटो चोर
हत्या के प्रयास का आरोपी गिरफ्तार
जहांगीरपुर पेट्रोल पंप पर संजय हत्याकांड को लेकर की बड़ी पंचायत
9 मोटरसाइकिल सहित दो बदमाश पकड़े
रिश्ते के खून का प्रयास करने वाले भाई गिरफ्तार
ग्रेटर नोएडा : 22 वीं मंजिल से गिरकर ब्यूटी पार्लर संचालिका की मौत
दो माह के बच्चे का अपहरण कर निर्मम हत्या
टॉयलेट करने से मना किया तो मार दी गोली , महिला घायल, हालत नाजुक
शराब पीने से टोका तो पत्नी को मार डाला , आरोपी पति गिरफ्तार