सीआरपीएफ के 18 जवान शहीद, आईईडी से लैस कार में सवार था जैश का आतंकी

श्रीनगर: कश्मीर के पुलवामा में जम्मू से श्रीनगर जा रहे सीआरपीएफ की 70 गाड़ियों के काफिले पर आतंकियों ने फिदायीन हमला किया। हमले में 18 जवान शहीद हो गए, 20 घायल हैं। इस काफिले में 2500 जवान शामिल थे। जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली है। जैश का आतंकी आदिल अहमद उर्फ वकास कमांडो विस्फोटकों से भरी गाड़ी लेकर जवानों की बस से टकरा गया। पुलवामा के काकापोरा के रहने वाले आदिल ने 2018 में जैश ज्वाइन किया था। आईजी सीआरपीएफ जुल्फिकार हसन ने बताया कि कश्मीर पुलिस मामले की जांच कर रही है। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मौके पर धमाके के बाद की जांच पूरी कर ली गई है। अधिकारियों का कहना है कि हमले में मरने वालों की तादाद बढ़ सकती है।
जैश ने की पुष्टि, वकास कमांडो ने किया हमला
जैश-ए-मोहम्मद के प्रवक्ता मुहम्मद हसन ने एक लोकल मीडिया से कहा कि हमारा संगठन सीआरपीएफ के काफिल पर हुए हमले की जिम्मेदारी लेता है। इस फिदायीन हमले को आदिल अहमद उर्फ वकास कमांडो ने अंजाम दिया। यह पुलवामा के गुंडी बाग से ऑपरेट करता था।

यह भी देखे:-

'आप हमला करेंगे तो हम भी कड़ा जवाब देंगे' - पाक पीएम इमरान खान
मोकामा शेल्टर होम: "लड़कियां भागी नहीं है बल्कि उन्हें भगाया गया है" -आरजेडी नेता
Auto Expo 2020 में मंदी की परछाई, चाइना से भरपाई की उम्मीद
Women's Day: जानिए क्यों मनाया जाता है महिला दिवस?
कश्मीरी दुकानदारों के साथ मारपीट पर बोले पीएम मोदी -"कुछ सिरफिरे माहौल बिगाड़ना चाहते हैं"
राज्‍यसभा में आज सिर्फ जम्‍मू-कश्‍मीर पर चर्चा होगी
पाकिस्तान के बहावलपुर शहर मे बैठा है पुलवामा हमले का गुनहगार मौलाना मसूद अजहर
नीदरलैंड देश में नहीं है एक भी कैदी, सभी जेल होंगी बंद
Auto Expo 2020: ऑटो एक्सपो 2020 की कुछ झलकियां
विंग कमांडर की वापसी: "अनर्गल प्रलाप बंद करें,हमारा हीरो वापस आने दो" - कुमार विश्वास
कोरोना वायरस के मद्देनज़र केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, बंद की गयी ये सेवाएं , इन देशों पर जाने से लगी प...
पत्रकार हत्याकांड में राम रहीम को मिली कठोर सजा, पढ़ें पूरी खबर
इच्छामृत्यु पर सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला
क्या राकेश अस्थाना ने सृजन घोटाले में नीतीश कुमार को बचाया ? :तेजस्वी
देश व समाज की तरक्की में सभी का शिक्षित होना जरूरी: हेमलता प्रजापति
"अभिनंदन को रिसीव करने जाना मेरे लिए सम्मान की बात" - कैप्टन अमरिंदर