खतरनाक साबित होती पबजी गेम की लत

नई दिल्ली:देश में दिनोदिन पबजी गेम के बढ़ते ट्रेंड के कारण कई खतरनाक परिणाम सामने आ रहे हैं। मसलन, मुंबई के कुर्ला इलाके में एक चौंका देने वाला मामला सामने आया है, जहां एक युवक ने पबजी गेम के कारण अपनी जीवनलीला समाप्त कर दी। गुजरात के वडोदरा में मोबाइल में पबजी गेम खेलने से मना करने पर माता-पिता से नाराज होकर बीसीए का एक छात्र घर छोड़कर चला गया। दिल्ली के वसंतपुर क्षेत्र में कुछ महीनों पहले ही पबजी गेम खेलने से मना करने पर एक बेटे ने अपने मां-बाप की हत्या कर दी थी। यही नहीं, बल्कि 12-12 घंटे तक गेम खेलने की वजह से कई बार छात्रों को कॉलेज से भी निकाल दिया जा रहा है।
वर्चुअल गेम पबजी को किस कदर बच्चे अपनी व्यावहारिक दुनिया में अपना रहे हैं इसका अंदाजा तो 11 साल के अहमद निजाम नाम के बच्चे द्वारा बॉम्बे हाईकोर्ट में पबजी के खिलाफ दायर की गई याचिका से हो जाता है। अपनी मां के जरिए लगाई याचिका में निजाम ने हाईकोर्ट से इस गेम पर प्रतिबंध लगाने की अपील करते हुए कहा है कि तेजी से बच्चों में लत बनकर फैल रहा पबजी गेम हिंसा, आक्रामकता और साइबर दबंगई को बढ़ावा देता है।
गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी हाल में बच्चों, अभिभावकों और शिक्षकों से ‘परीक्षा पे चर्चा’ के दौरान पबजी का उल्लेख किया था। जब एक मां ने कहा था कि बच्चा पढ़ाई नहीं करता तो पीएम मोदी ने पूछा था कि ‘क्या पबजी वाला है?’
दुनियाभर में 400 मिलियन बच्चे व युवा इस गेम को हर दिन खेल रहे हैं जबकि भारत में इनकी संख्या करीब 5 करोड़ अनुमानित है। इस गेम की लत ड्रग्स की लत से भी ज्यादा चिंता वाली है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अपने नए अध्याय में मोबाइल गेम की लत को भी मनोरोग की श्रेणी में रखा है।
दरअसल, इस ऑनलाइन गेम ने एम्स में बाल मरीजों की संख्या बढ़ा दी है। इनमें पबजी के ही हर सप्ताह 4 से 5 नए मरीज पहुंच रहे हैं। गेम की लत में डूबे मरीजों की उम्र 8 से 22 साल तक के बीच है। नौकरीपेशा युवा भी डॉक्टरों के पास काउंसलिंग के लिए पहुंच रहे हैं। इन युवाओं को फोन पर पबजी खेलना इतना पसंद है कि ये ऑफिस का पूरा लंच टाइम इसी में खपा देते हैं। पबजी गेम की बढ़ती नकारात्मक को देखते हुए गुजरात में इस पर रोक लगा दी गई। इसकी ही तर्ज पर जम्मू-कश्मीर, महाराष्ट्र, दिल्ली जैसे राज्यों से भी इस पर रोक लगाने की मांगें उठ रही हैं। चीन जैसे देशों में इस गेम पर पहले से ही रोक है।

यह भी देखे:-

कराटे चैंयनशिप में ग्रेनो के खिलाडियों ने लहराया परचम
RYAN CONDUCT OPENING CEREMONY OF CBSE NORTH ZONE 1 SKATING TOURNAMENT
रामाज्ञा स्कूल दादरी में आयोजित इंटर स्कूल क्रिकेट टूर्नामेंट में सनराइज एकेडमी बनी विजेता
डीपीएस गर्ल्स एथलीट मीट : डीपीएस लखनऊ की शैली श्रीवास्तव बनी बेस्ट एथलीट
विशाल कबड्डी टूर्नामेंट में बोले बसपा लोकसभा प्रभारी वीरेन्द्र डाढा, कबड्डी भारतीय संस्कृति में स्व...
मैत्री क्रिकेट मैच में ग्रेटर नोएडा प्रेस क्लब ने नोएडा मीडिया क्लब को दी करारी शिकस्त
द्रोण मेला में दंगल , अखाड़े में महिलाओं ने दिखाया दमखम
सावित्री बाई स्कूल में इंटर हॉउस एथलीट मीट का आयोजन
स्वर्गीय जग्गू सिंह की स्मृति में विशाल दंगल, 200 पहलवानों ने की जोर आजमाइश
RYAN GREATER NOIDA EMERGE WINNER AT INTER RYAN FOOTBALL TOURNAMENT
जी.एन.आई.ओ.टी कालेज में हुआ खेलकूद प्रतियोगता का आयोजन
एसएन मेमोरियल क्रिकेट टूर्नामेंट, वंडर्स ने एनसीआर को 176 रनों से रौंदा, सैम की भी एकतरफा जीत
नेशनल रोलर स्केटिंग चैम्पियनशिप में ग्रेनो के 13 खिलाडी होंगे शामिल
CBSE North zone - 1 Skating Championship-01.10.2019 hosted by Ryan
एचसीएल 74वीं नेशनल स्क्वैश चैंपियनशिप : सौरभ घोसाल मेंसऔर जोशना चिनप्पा ने वूमेंस नेशनल टाईटल जीते
आल इंडिया ओपन रोलर स्केटिंग चैंपियनशिप में एस्टर स्केटिंग टीम ने लहराया परचम