सनातन धर्म के तिथि पर्व की भिन्नता पर विचार गोष्ठी का आयोजन

ग्रेटर नोएडा : महर्षि पाणिनि धर्मार्थ ट्रस्ट गुरुकुल द्वारा सनातन धर्म संगोष्ठी का आयोजन सेक्टर ईटा- 1 में किया गया जिसमें बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए .अध्यक्षीय विचार व्यक्त करते हुए ट्रस्ट के अध्यक्ष आचार्य रविकांत दीक्षित ने बताया कि पर्वों का निर्धारण ज्योतिषीय काल गणना के आधार पर होता है.

संगोष्ठी में जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. पी.के उपाध्याय ने सनातन धर्म स्वरूप व अवधारणा के विषय बारीकियों के बारे में बताया. प्रभात शर्मा पूर्व एडीएम ने ज्योतिष एवं लौकिक विचारों के माध्यम से कहा कि सूर्य प्रकृति में प्रधान है. इसलिए इसी के आधार पर काल की निश्चित होती है.

वृंदावन से पधारे संत निवासाचार्य महाराज ने पुराण के माध्यम से सनातन धर्म के महत्व को बताया. संगोष्ठी में डॉक्टर वंदना पांडे ने कालगणना को रेखांकित किया. गोस्वामी सुशील जी महाराज ने भी अपने विचार व्यक्त किये. धन्यवाद ज्ञापन बी.पी. नवामी ने किया. इस अवसर पर उमाशंकर शर्मा, प्रेमकांत शर्मा, शिवकुमार, ब्राह्मण समाज से पी.पी मिश्रा अध्यक्ष, सुनील कुमार उपाध्याय राम कुमार मिश्रा, पुरुषोत्तम मिश्रा, अशोक पांडे, राकेश मिश्रा, अजय मिश्रा , सतेन्द्र तिवारी अवधेश पांडे उपस्थित रहे.

यह भी देखे:-

मिशन रक्तदान 2021: ग्रेटर नोएडा के यथार्थ अस्पताल में महिला उन्नति संस्था और SAFE संस्था के संयुक्त ...
होली के गानों के बीच पुलिस लाइन में हुआ होली मिलन
यूपी योद्धा को होम लेग में मिली पहली हार
लापरवाही बरतने पर विद्युत ठेकेदार के खिलाफ ग्रेनो प्राधिकरण की बड़ी कार्यवाही
अखिल भारतीय वीर गुर्जर महासभा ने सरदार पटेल की पुण्यतिथि पर दी श्रद्धांजलि
11 वीं मंजिल गिर शख्स की मौत, जांच में जुटी पुलिस 
FARE YOU WELL’ SAYS RYAN GREATER NOIDA
हरियाली तीज मेहंदी प्रतियोगिता में शहजीन सैफी, प्राची, निशा, शबनम और जीनत रही प्रथम
नन्हे परिंदे , गरीब बच्चों के लिए Noida Police तथा एचसीएल फाउंडेशन की सराहनीय पहल
ग्रेटर नोएडा से जाये, पूरे देश में स्वच्छता का संदेश - धीरेन्द्र सिंह विधयक जेवर
ईलम सिंह नागर बने "CARWA" के प्रांतीय अध्यक्ष , फेडरेशन आरडब्लूए के पदाधिकारियों ने किया स्वागत
एनटीपीसी का स्थापना दिवस मनाया गया
ग्रेटर नोएडा में होगा राष्ट्रीय संगीत सम्मलेन
एसडीआरवी स्कूल दनकौर में ब्लड डोनेट कैंप का हुआ आयोजन
गौतमबुद्ध नगर लोकसभा चुनाव : जानिए अब कौन 13 प्रत्याशी हैं मैदान में
एक्सप्रेसवे के टोल पर मैसेज प्रथा का चलन