प्रिंसिपल सेक्रटरी औधगिक विकास से मिले नेफोवा के पदाधिकारी, बायर्स की समस्या सामने रखी 

नोएडा : आज होम बायर्स के मुद्दे को लेकर नेफोवा के पदाधिकारी प्रिंसिपल सेक्रेटरी, इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट (यूपी) तथा नोएडा ऑथोरिटी के अध्यक्ष  आलोक सिन्हा से मिले।
अभी कुछ दिनों पूर्व नोएडा ऑथोरिटी के सीईओ  अमित मोहन जी अध्यक्षता में आम्रपाली सफायर के होम बायर्स के साथ मीटिंग हुई थी, जिसके बाद ऑथोरिटी द्वारा भेजी गई मिनट्स ऑफ मीटिंग को लेकर होम बायर्स सकते में थे, क्योंकि इसमें नोएडा ऑथोरिटी के सीईओ की तरफ से बयान था कि आम्रपाली ग्रुप ने पैसे की कमी का हवाला देते हुए अपने हाथ खड़े कर दिए हैं। यह बात जब आज नेफोवा टीम ने अध्यक्ष  आलोक सिन्हा से मिलकर उनके सामने रखी, तो उन्होंने इस बात का संज्ञान लेते हुए स्पष्ट किया कि मिनट्स ऑफ मीटिंग जोकि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, वह प्राधिकरण की तरफ से नही दिया गया है और न ही सीईओ अमित मोहन की तरफ से ऐसी कोई बात कही गई है।
नेफोवा की टीम ने जब आम्रपाली और सुपरटेक जैसे बिल्डरों द्वारा निर्माण कार्य अभी तक शुरू नही किये जाने की शिकायत आलोक सिन्हा से की, तो उनका जवाब था कि सरकार और प्राधिकरण का रूख बिल्डरों को लेकर सख्त है और जल्द ही ग्राउंड पर नतीजे दिखने शुरू होंगें।
नेफोवा ने ये भी आरोप लगाया कि आम्रपाली, सुपरटेक सहित कई बिल्डर बिना cc/oc के  पोजेसन दे रहे हैं। इसपर  सिन्हा ने आश्वासन दिया कि बिना cc/oc के कोई भी बिल्डर पोजेसन देता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।
नेफोवा ने आलोक सिन्हा के सामने अगला मुद्दा रजिस्ट्री शुल्क का रखते हुए बताया कि जिन लोगो को सात साल आठ साल पहले घर बुक करने के बाद अब जाकर घर मिल रहा है , उनसे सात आठ साल पहले जो रजिस्ट्री शुल्क था, उसी दर पर रजिस्ट्री की अनुमति दी जाए। क्योंकि पोजेसन में देरी के लिए होम बायर कही से जिम्मेदार नही है तो इसका खामियाजा वे क्यों भुगते। इस मुद्दे को  आलोक सिन्हा ने गंभीरता से लेते हुए आश्वासन दिया कि इस पर प्राधिकरण सम्बंधित विभाग के सामने हमारा पक्ष रखेगी।
रियल एस्टेट बिल को लेकर भी  सिन्हा ने बताया कि सरकार बिल को लेकर वचनबद्ध है और आगामी एक अगस्त से बिल पूरे राज्य भर में प्रभावी हो जाएगा।
नेफोवा की तरफ से अध्यक्ष अभिषेक कुमार, महासचिव श्वेता भारती और को फाउंडर इंद्रिश गुप्ता मीटिंग में शामिल हुए।

यह भी देखे:-

Covid-19: यूरोप में तीसरी लहर, ख़तरा टला नही है, महँगी पड़ सकती है लापरवाही यहां जानें कोरोना से जुड़...
सड़क जाम करने वाले किसान नेताओं को सुप्रीम कोर्ट की दो-टूक, गांव बसाना है तो बसाएं लेकिन दूसरों की ज...
‘एनटीपीसी दादरी प्रबंधन सेफ्टी के बारे में सजग और सतर्क’’ - समूह महाप्रबंधक, एनटीपीसी दादरी में 50वा...
Pulwama Encounter: पुलवामा मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर, एहतियातन इंटरनेट सेवा की बंद
एसटीएफ नोएडा के हत्थे चढ़ा दिनेश उर्फ़ दिन्ने बावरिया , सैकड़ों आपराधिक वारदातों को दे चूका है अंजाम 
सुपरिंटेंडेंट इंजिनियर के ठिकानों पर आयकर विभाग का छापा
गृह कलेश के चलते पत्नी की हत्या कर पति ने फांसी पर लटक कर दे दी जान
राम मन्दिर: एयरपोर्ट के लिए मोदी सरकार ने भी दिया 250 करोड़, निर्माण कार्यों को मिलेगी गति
UP Panchayat Election 2021: ज्योतिषियों की शरण में पहुंच रहे उम्मीदवार, चुनाव जीतने के लिए आजमा रहे ...
शारदा हॉस्पिटल में रहकर दो महिला मरीजों ने कोरोना महामारी को किया परास्त
देखिए विराट-अनुष्का के रिप्सेशन की पहली तस्वीर
प्राइवेट अस्पतालों में ओपीडी ठप कर डाक्टरों ने जताया विरोध
मनमाने तरीके से फीस वसूली का आरोप , धरने पर बैठे बी.टेक के छात्र
सबसे बड़ा संग्राम: किसका होगा नंदीग्राम, भाजपा बाजी मारेगी या दीदी की टीएमसी?
फास्टैग: क्यों जरूरी है गाड़ी पर और कैसे करता है काम, जानें।
वारियर्स पर हमला या बदसलूकी करने पर होगी जेल, 50 हजार से लेकर 5 लाख तक होगा जुर्माना : अलोक सिंह