सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर करते थे ठगी, एसटीएफ नोएडा यूनिट ने किया गिरफ्तार

ग्रेटर नोएडा / बिजनौर: पुलिस, आर्मी, रेलवे, सहकारी बैंक आदि विभागों में धोखाधड़ी करके अभ्यर्थियों से भर्ती कराने के नाम पर अनुचित रूप से पैसा ऐंठने वाले गिरोह के दो सदस्यों को एसटीएफ नोएडा यूनिट ने बिजनौर से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार ठग में से एक गिरोह का सरगना है.

इनकी पहचान शैलेन्द्र मलिक उर्फ सूरज मलिक निवासी मेरठ और वीरेन्द्र कुमार बिजनौर के रूप में हुई है. एसटीएफ ने इनसे 4 मोबाईल फोन, एक्सयूवी एन्डेवर कार, फाॅरचूर कार, सेना में भर्ती के लिए पांचअनफिट अभ्यर्थियों के मिलिट्री हाॅस्पिटल द्वारा जारी किया गया ओरिजिनल मेडिकल सर्टिफिकेट ग्राम विकास अधिकारी एवं पुलिस भर्ती आदि से सम्बन्धित एडमिट कार्डस, एक लक्ष 65 हज़ार नकद और अन्य महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद किया है.

एसटीएफ द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि विगत कई दिनों से विभिन्न विभागों में कुछ व्यक्तियों द्वारा अभ्यर्थियों से अनुचित लाभ कमाने के लिए भर्ती कराने के नाम पर पैसा वसूलने वाले गिरोह के सक्रिय होने की सूचनाऐं प्राप्त हो रही थी। इस सम्बन्ध में अभिषेक सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एस0टी0एफ0, उ0प्र0 लखनऊ, द्वारा अपर पुलिस अधीक्षक एस0टी0एफ0 फील्ड यूनिट नोएडा को इस सम्बन्ध में जांच और कार्यवाही के लिए निर्देशित किया गया था, इसी क्रम में दिनेश सिंह अपर पुलिस अधीक्षक के निर्देशन एवं राज कुमार मिश्रा, पुलिस उपाधीक्षक, श्री विनोद सिंह सिरोही, पुलिस उपाधीक्षक एस0टी0एफ0 फील्ड इकाई, नोएडा के नेतृत्व में टीम गठित कर अभिसूचना संकलन की कार्यवाही प्रारम्भ की गयी तथा अभिसूचना तन्त्र को सक्रिय किया गया।

अभिसूचना संकलन के दौरान एस0टी0एफ0 की नोएडा टीम को सूचना प्राप्त हुई कि पुलिस/सेना/गु्रप-डी आदि विभिन्न विभागों में भर्ती कराने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का सरगना अपने साथी से आज जनपद बिजनौर के थाना सिवाला कला क्षेत्र में रतनगढ बस अडडे के पास मिलेगा। इस सूचना को विकसित करने के उपरान्त एस0टी0एफ0 की टीम द्वारा गन्तव्य स्थान पर समय से पहॅुचकर घेराबन्दी करके उपरोक्त गिरोह के सरगना शैलेन्द्र मलिक उर्फ सूरज मलिक को उसके साथी वीरेन्द्र के साथ रतगढ़ बस अड्डा के पास थाना क्षेत्र सिवाला कला जनपद बिजनौर से समय लगभग 07.30 बजे गिरफ्तार किया गया, जिनसे उपरोक्त बरामदगी हुई।

गिरफ्तार अभियुक्त शैलेन्द्र मलिक उर्फ सूरज मलिक ने पूछताछ पर बताया कि वह अपने साथी वीरेन्द्र के साथ मिलकर विभिन्न विभाग की भर्तियों में भाग लेने वाले युवक/युवतियों अथवा उनके परिजनों को बहला-फुसलाकर भर्ती कराने के नाम पर धोखे से पैसा हड़प लेता है और यह पैसा अलग-अलग विभाग एवं अभ्यर्थी की आर्थिक स्थिति के हिसाब से 03 लाख से लेकर 05 लाख रूपये तक का होता था। यह भी बताया कि उसका साथी वीरेन्द्र भर्ती होने वाले अभ्यर्थियों अथवा उनके परिजनों को उसके पास लेकर आता था। पूछताछ के उपरान्त यह भी ज्ञात हुआ कि यह लोग एक विभाग से सम्बन्धित 25 से 50 युवक/युवतियों से पैसा लेे लेते थे और उनमें से जो अभ्यर्थी स्वयं ही भर्ती हो जाते थे उनका पैसा वह रख लेते थे तथा बाकी अभ्यथियों का पैसा हड़प लेते थेे।

गिरफ्तार अभियुक्तों से प्राप्त जानकारी के उपरान्त अन्य जानकारियाॅ की जा रही है।
अभियुक्तगण के विरूद्ध निम्न अभियोग पंजीकृत होना ज्ञात हुआ हैः-
क्र0
सं0 मु0अ0सं0 धारा नाम थाना जनपद
1 232/18 420/406/506/34 भादवि सिवाला कला बिजनौर
2 233/18 420/406/506/34 भादवि सिवाला कला बिजनौर
3 1167/18 420/506/406 भादवि कोतवाली नगर बिजनौर
4 234/18 420/406/411 भादवि सिवाला कला बिजनौर

गिरफ्तार अभियुक्तों के विरूद्ध थाना सिवाला कला जनपद बिजनौर पर मु0अ0सं0ः234/18 धारा 420/406/411 भादवि पंजीकृत कराया गया है। अग्रिम विधिक कार्यवाही स्थानीय पुलिस द्वारा की जा रही है।

यह भी देखे:-

बंधक बनाकर छात्र से लूटी कार
पुलिस एनकाउंटर में दो बदमाशों को लगी गोली , गिरफ्तार, एक सिपाही भी घायल
मोटर मैकेनिक ने पेड़ से लटक कर दी जान
युवती को शराब पिलाकर रेप करने का आरोप
पत्रकार पर हुए जानलेवा हमले में ग्रहणों प्रेस क्लब ने डीएम को ज्ञापन सौंपा
ग्रेनो वेस्ट के लूटेरे गिरफ्तार, दरोगा का बेटा व पुलिस का मुखबिर हैं सरगना
डॉक्टर की गिरफ़्तारी न होने पर भड़के ग्रामीण , लगाया जाम
ग्रेटर नोएडा : कासना पुलिस एनकाउंटर में घायल हुआ शातिर बदमाश, तीन गिरफ्तार
एसटीएफ के हत्थे चढ़ा 25 हज़ार का ईनामी बदमाश
उधार में सिगरेट नहीं दिया तो फोड़ दिया सर
अकाउंट में सेंध लगाने वाले पूर्व बैंककर्मी गिरफ्तार
हॉली-डे पैकेज के नाम पर ठगी का धंधा, चार गिरफ्तार
कासना पुलिस ने शराब तस्कर दबोचा
ओला ड्राइवर के हत्यारे लूटरे एनकाउन्टर में घायल
गुलेल गैंग का पर्दाफ़ाश, दो बदमाश गिरफ्तार, एनसीआर में की 200 से ज्यादा वारदातें
बेटे को  गोली  मारने के बाद रिटायर्ड दारोगा ने खुद को गोली से उड़ाया